6 साल बाद पुलिसवाले का कबूलनामा, निहत्थे पर पर चलाई थी गोली

By: | Last Updated: Wednesday, 27 January 2016 1:25 PM
Yes I shot him dead, he was unarmed : Head Constable

नई दिल्ली/इंफाल : करीब छह साल पहले सन 2009 में इंफाल में बाजार में हुए मुठभेड़ का मामला फिर सुर्खियों में आ गया है. मुठभेड़ में शामिल एक हेड कांस्टेबल हीरोजीत सिंह ने माना है कि उसने संजीत मैतेई पर जब गोली चलाई थी तब वह निहत्था था.

हेड कांस्टेबल ने यह भी कहा कि यह सब उसने बड़े अधिकारियों के कहने पर किया था. इंडियन एक्सप्रेस ने दावा किया है कि हीरोजीत ने कबूल किया है कि उसने निहत्थे पर गोली चलाई थी. इसके साथ ही उसका कहना है कि उसे इस पर कोई अफसोस नहीं कि उसने गोली मारी.

क्योंकि वह अपने अधिकारी के आदेशों का पालन कर रहा था. हीरोजीत सिंह के अनुसार उसने इंफाल के एडिशनल सुपरिटेंडेंट (एएसपी) के आदेश पर 9 एमएम की पिस्टल से 6 गोलियां दाग कर मार दिया था. गैलेंटरी अवॉर्ड विजेता हीरोजीत सिंह को अब अपनी जान जाने का खतरा है. क्योंकि इस मुठभेड़ का काफी विरोध हो रहा है.

हेड कांस्टेबल के खुलासे के बाद पीड़ित संजीत की मां ने कहा है कि या तो सरकार उसे न्याय दे या हीरोजीत सिंह को सौंप दे. ताकि वो उसे मारकर अपने बेटे का बदला ले सके.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Yes I shot him dead, he was unarmed : Head Constable
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017