जब सूर्य नमस्कार नहीं है फिर योग का विरोध क्यों हो रहा है?

By: | Last Updated: Monday, 8 June 2015 2:17 PM

नई दिल्ली: 21 जून को होने वाले योग दिवस के कार्यक्रम को लेकर अब आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड विरोध में उतरा है. लखनऊ में हुई बैठक में पीएम मोदी से मिलकर विरोध जताने का फैसला हुआ है. मुस्लिम लॉ बोर्ड ने कहा है कि सिर्फ योग से एतराज नहीं है लेकिन धार्मिक गतिविधियों का वो विरोध करते हैं.

 

सरकार की ओर से जो कार्यक्रम को लेकर बुकलेट छपे हैं उसमें लिखी बातों पर भी कई इतिहासकारों ने एतराज जताया है. विवाद न हो इसलिए योग दिवस पर होने वाले कार्यक्रम में पहले से सूर्य नमस्कार नहीं रखने का फैसला हुआ है, अब सवाल ये है कि जब सूर्य नमस्कार नहीं है फिर विरोध क्यों हो रहा है?

योग दिवस के विरोध में आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड 

पहले अनुलोम-विलोम और फिर कपाल भाति. योग दिवस पर बढ़ते विरोध के बीच बारी-बारी से सभी योग करते कैमरे पर नजर आए अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी. मुस्लिम नेताओं के सूर्य नमस्कार पर एतराज के बाद 21 जून को मनाए जाने वाले योग दिवस पर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने विरोध जताया है. मुस्लिम लॉ बोर्ड को योग से तो एतराज नहीं है लेकिन धार्मिक गतिविधियों का विरोध है?

 

दरअसल 21 जून के कार्यक्रम के लिए आयुष मंत्रालय की तरफ से 34 पन्नों की एक बुकलेट जारी की गई और उस बुकलेट में योग को लेकर जो बातें लिखी गई हैं उस पर विवाद हो रहा है. बुकलटे में लिखा है कि श्रुति परपंरा के अनुसार भगवान शिव योगविद्या के प्रथम आदिगुरु, योगी या आदियोगी है. हजारों-हजार वर्ष पूर्व हिमालय में कांतिसरोवर झील के किनारे आदियोगी ने योग का गूढ़ ज्ञान पौराणिक सप्तऋषियों को दिया था. वैदिक एवं उपनिषद परंपरा, शैव, वैष्णव तथा तांत्रिक परंपरा, भारतीय दर्शन, रामायण एवं भगवद्गीता समेत महाभारत जैसे महाकाव्यों, बौद्ध एवं जैन परंपरा के साथ-साथ विश्व की लोकविरासत में भी योग मिलता है.

 

बुकलेट में छपी इन्हीं बातों को लेकर हिंदुस्तान टाइम्स से इतिहासकार के एन पण्णिकर ने कहा है कि मौजूदा समय में योग सामूहिक रूप से शरीर को स्वस्थ रखने की पद्धति के रूप में लिया जा रहा है लेकिन सरकार योग का हिंदूकरण करने की कोशिश कर रही है.

 

इतिहासकार डीएन झा का कहना है कि आज का योग ऐतिहासिक योग से अलग है लेकिन इसे धार्मिक एजेंडे के साथ पेश किया जा रहा है. योग दिवस में सरकार के अतिथि बाबा रामदेव ने भी कहा है कि सूर्य नमस्कार तो नहीं होगा लेकिन ओम का उच्चारण होना है.

 

मोदी सरकार की पहल पर 21 जून को दुनियाभर में योग दिवस मनाया जाना है. पहले सूर्यनमस्कार को लेकर विरोध हुआ था और इस विरोध के थमने के बाद योग पर हिंदूकरण के आरोप लगने लगे हैं .

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: yoga oppose
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ??? ???? ?????? Yoga
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017