'आप' ने योगेंद्र यादव, प्रशांत भूषण को पीएसी से बाहर किया, केजरीवाल का इस्तीफा नामंजूर

By: | Last Updated: Wednesday, 4 March 2015 12:10 PM
Yogendra yadav has been removed from PAC

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने बहुमत से योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को पीएसी से हटाने का फैसला किया है.  योगेंद्र यादव को प्रवक्ता के पद से भी हटा दिया गया है. आम आदमी पार्टी में पीएसी फैसले लेने वाली सबसे बड़ी बॉडी है.

 

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद कुमार विश्वास ने कहा कि बैठक में मिशन विस्तार और अनुशासन को लेकर बातचीत हुई. पूरी पार्टी एकजुट है. राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को पीएसी से हटाने का फैसला किया है और उन्हें नई जिम्मेदारी दी जाएगी.

कौन हैं योगेंद्र यादव?: …कभी केजरीवाल के चाणक्य थे, पर आज यूं बेआबरू किए गए 

राष्ट्रीय कार्यकारिण में योगेंद्र यादव और अरविंद केजरीवाल को हटाने का फैसला वोटिंग से हुआ. कुल 19 सदस्यों ने वोटिंग में हिस्सा लिया, जिनमें 11 सदस्यों ने हटाने के पक्ष में तो 8 सदस्यों ने विपक्ष में वोट दिया. योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण के पक्ष में योगेश दहिया, प्रोफेसर अजित झा, क्रिस्टिना सैमी, प्रोफेसर आनंद कुमार, सुभाष वारे, प्रोफेसर राकेश सिन्हा और खुद योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण ने वोट दिए.

 

केजरीवाल बने रहेंगे संयोजक

 

कुमार विश्वास ने ये भी कहा कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने अरविंद केजरीवाल के इस्तीफे की पेशकश को खारिज कर दिया है.

 

दिलचस्प बात ये है कि योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को हटाने का फैसला राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने बहुमत से लिया है, लेकिन उस बैठक में अरविंद केजरीवाल शरीक नहीं थे. हालांकि, अरविंद केजरीवाल दिल्ली में ही हैं. खास बात ये है कि आम आदमी पार्टी में मचे बवाल के बीच अगले दस दिन तक केजरीवाल इलाज के लिए दिल्ली से बाहर रहेंगे.

 

योगेंद्र का बयान

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद भारी मन से योगेंद्र यादव ने कहा, “साथियों! मुझे केवल इतना ही कहना है कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी में बहमत से जो फैसला हुआ है, उसकी अधिकारिक घोषणा राष्ट्रीय प्रवक्ता करेंगे, मैं केवल इतना कहना चाहता हूं कि आम आदमी पार्टी इस देश के हज़ारों हजार कार्यकर्ताओं के खून पसीने से बनी हुई पार्टी है, न जाने कितने के आशा का पूल है, और चाहे जो हो, ये आशा नहीं टूटनी चाहिए, ये आशा बनी रहनी चाहिए, और मैं अनुशासित कार्यकर्ता की तरह, पार्टी जो भूमिका देगी उसे मैं अपनी भूमिका निभाता रहूंगा.”

 

प्रशांत का बयान

 

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद प्रशांत भूषण ने कहा, “कार्यकारिणी ने बहुमत से फैसला लिया है और मुझे और योगेंद्र यादव को पीएसी से हटा दिया गया है.”

 

क्या अब पार्टी छोड़ेंगे योगेंद्र और प्रशांत?

 

आम आदमी पार्टी की पीएसी से हटाए जाने के बाद अब सवाल ये खड़ा होता है कि क्या योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण अब पार्टी छोड़ देंगे?

 

एबीपी न्यूज़ संवाददाता सरोज सिंह का कहना है कि जिस तरह से इन्हें बाहर का रास्ता दिखाया गया और अभी नई जिम्मेदारी नहीं दी गई है. उनके लिए पार्टी में बचा कुछ नहीं है.

 

सवाल ये भी उठ रहे हैं कि क्या अरविंद केजरीवाल के खिलाफ़ पार्टी में आवाज़ उठाना पाप है?

 

योगेंद्र पर आरोप

आपको बता दें कि योगेंद्र यादव पर आरोप है कि उन्होंने अरविंद केजरीवाल को संयोजक पद से हटाने की साजिश रची थी. योगेंद्र यादव पार्टी को दिल्ली से बाहर लेने जाने समर्थक हैं.

आप की पीएसी से निकाले गए योगेंद्र यादव

ग़ौरतलब है कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी के फैसले से पहले योगेंद्र यादव ये साफ कर चुके हैं कि वह पार्टी से इस्तीफा नहीं देंगे. यादव ने संवाददाताओं से कहा था, ‘‘जिस संकट के बारे में आप बात कर रहे हैं वह हमारे लिए (आप के लिए) एक अवसर की तरह है. आज शाम तक सबकुछ साफ हो जाएगा.’’

 

कौन-कौन हैं ‘आप’ की पीएसी में

योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण की छुट्टी के बाद अब आम आदमी पार्टी की पीएसी में सात सदस्य रह गए हैं. अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया, गोपाल राय, संजय सिंह, पंकज गुप्ता, कुमार विश्सास और इलियास आजमी अभी पीएसी के मेंबर हैं.

 

संबंधित खबरें-

‘आप’ में फूट: अरविंद केजरीवाल राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में हिस्सा नहीं लेंगे! 

LIVE: केजरीवाल बने रहेंगे संयोजक?  

‘आप’ की कलह पर केजरीवाल ने तोड़ी चुप्पी, कहा- ये दिल्ली के साथ विश्वासघात है, जनता का भरोसा टूटने नहीं दूंगा 

आम आदमी पार्टी में फूट, योगेंद्र यादव को फंसाने के लिए पत्रकार का स्टिंग 

पार्टी जिस चेहरे में जादू भरती है, बंद कमरे में उसे उतारना भी पड़ता: योगेंद्र यादव 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Yogendra yadav has been removed from PAC
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017