क्या योगी आदित्यनाथ कहेंगे - वाह ताज !

क्या योगी आदित्यनाथ कहेंगे - वाह ताज !

योगी आदित्यनाथ और संगीत सोम ही नहीं बल्कि ताजमहल कभी भी बीजेपी के नेताओं के गुड लिस्ट में नहीं रहा, तो फिर योगी ताजमहल देखने क्यों जा रहे हैं?

By: | Updated: 17 Oct 2017 01:53 PM
लखनऊ: यूपी के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ 26 अक्टूबर को आगरा जाएंगे. मुख्यमंत्री ताजमहल के दीदार भी करेंगे. ताज प्रोजेक्ट पर चल रहे काम का जायज़ा लेंगें. विश्व बैंक की मदद से ये काम हो रहा है. इसके बाद फिर आगरा के अधिकारियों के साथ योगी समीक्षा बैठक भी करेंगे.

यूपी के पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव अवनीश अवस्थी ने एबीपी न्यूज़ को बताया, “मुख्यमंत्री जी ताज प्रोजेक्ट की मीटिंग के लिए आगरा जा रहे हैं और वे ताजमहल देखने भी जा सकते हैं “ ऐसे वक़्त में योगी के आगरा जाने की ख़बर आई है, जब ताजमहल को लेकर विवाद जारी है.

योगी की ही पार्टी के विधायक संगीत सोम इसे ग़ुलामी की निशानी मानते हैं. उनके मुताबिक इसे गद्दारों ने बनवाया है. संगीत सोम तो इतिहास को बदलने की बात कह रहे हैं. जवाब में AIMIM नेता असदुद्दीन औवेसी बोले “क्या पीएम मोदी 'गद्दारों' के बनवाए लालक़िले से तिरंगा फहराना छोड़ देंगें ?” समाजवादी पार्टी के नेता आज़म खान भी ताज के बहाने ज़ुबानी जंग में कूद पड़े. आजम खान ने कहा, ''तो फिर बीजेपी के नेता ग़ुलामी की हर निशानी को मिटा क्यों नहीं देते''

सीएम बनने के बाद योगी आदित्यनाथ ने बिहार में दरभंगा का दौरा किया था. यहां भी मंच से ताजमहल का ज़िक्र आया था. योगी ने कहा था “जब भी हमारे राष्ट्राध्यक्ष विदेश जाते थे या फिर कोई विदेशी मेहमान यहां आते थे तो उन्हें तोहफ़े में ताजमहल या फिर कोई मीनार दी जाती थी, जिसका भारतीय संस्कृति से कोई लेना देना नहीं है.अब जब हमारे प्रधान मंत्री कहीं विदेश जाते हैं या फिर बाहर से कोई उनसे मिलने आता है तो उन्हें गीता और रामायण भेंट की जाती है.''योगी आदित्यनाथ के इस भाषण पर उन दिनों बड़ा विवाद हुआ था.

योगी आदित्यनाथ और संगीत सोम ही नहीं बल्कि ताजमहल कभी भी बीजेपी के नेताओं के गुड लिस्ट में नहीं रहा, तो फिर योगी ताजमहल देखने क्यों जा रहे हैं? पार्टी के प्रवक्ता चंद्रमोहन कहते हैं, ''अयोध्या नगरी में भगवान राम वाली दfवाली और आगरा में ताजमहल को पर्यटन के लिहाज़ से बेहतर बनाना, यही तो सबका साथ और सबका विकास है.''

विश्व बैंक की मदद से आगरा में कई काम हो रहे हैं, जिससे ताजमहल के आसपास का इलाक़ा और ख़ूबसूरत लगे. 106 करोड की लागत से हाई टेक मल्टी लेवल पार्किंग बन रही है. ताज से लेकर आगरा क़िले तक पाथवे बनाने की भी योजना है. ताजमहल की वजह से ही पर्यटन विभाग को सबसे अधिक कमाई होती है. पिछले ही महीने ताजमहल को यूपी के पर्यटक स्थलों की लिस्ट से बाहर करने की ख़बर आई थी. ये खबर बाद में झूठा साबित हुई.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story आडवाणी के पूर्व सहयोगी सुधींद्र कुलकर्णी ने राहुल गांधी के पीएम बनने की भविष्यवाणी की