अब रेलवे में काम करेंगे लंगूर

By: | Last Updated: Friday, 20 March 2015 3:45 PM

आगरा: ताज नगरी आगरा में रेलवे अधिकारियों ने चार रेलवे स्टेशनों पर बंदरों से मुक्ति पाने के लिए लंगूरों की मदद ली है. अधिकारियों ने बताया कि प्लेटफॉर्म, बिजली के तारों और ट्रांसमिशन प्रणाली पर बंदरों के उपद्रव से समस्या खड़ी हो रही है.

 

रेलवे के प्रवक्ता भूपिंदर ढिल्लन ने कहा, “बंदरों से मुक्ति पाने की सारी कोशिश विफल हो गई है. इसलिए, लंगूरों को भाड़े पर लेने के लिए निविदा देने का फैसला किया गया.” पशु अधिकार कार्यकर्ता हालांकि इससे नाखुश हैं.

एनिमल वेल्फेयर पार्टी के अध्यक्ष नरेश कादयान ने बताया, “लंगूरों को कैद में नहीं रखा जा सकता. इस पर वन्यजीव कानून बिल्कुल साफ है. रेलवे अपने फैसले पर अफसोस करेगा.”

 

कादयान ने कहा कि नवंबर में मथुरा जिला प्रशासन ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के वृंदावन दौरे से पहले भी लंगूरों को भाड़े पर लिया था.

 

उन्होंने कहा, “जब हमने वन्यजीवन कानून के तहत कार्रवाई की धमकी दी, लंगूरों को तत्काल जंगल भेज दिया गया.”

Jobs News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: railway_agra_monkey
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Agra job monkey Railway station
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017