6 घंटे वर्किंग टाइम में कर्मचारी देते हैं बेस्ट रिजल्ट!

By: | Last Updated: Tuesday, 6 October 2015 12:50 PM
Swedish bosses find a six-hour working day produces best results

नई दिल्ली: किसी भी ऑफिस या कंपनी में काम करने वाले वर्कर अगर सामान्य से कम समय काम करते हैं तो वह कंपनी के लिए ज्यादा बेहतर और लाभकारी होता है. ऐसा हम नहीं कह रहे हैं बल्कि ये बातें एक रिसर्च के बाद सामने आई हैं.

 

टेक्नॉलॉजी स्टार्टअप्स के द्वारा किए गए एक रिसर्च में ये बातें सामने आई हैं कि वर्किंग टाइम सामान्य से कम होने पर कंपनी के वर्कर ना केवल अधिक खुश रहते हैं बल्कि इसके साथ ही उनके काम करने की क्षमता भी बढ़ती है.

 

डेली मेल में छपी खबर के मुताबिक दिन में 6 घंटे काम करने पर कर्मचारियों में अधिक खुशी तो रहती ही है इसके साथ ही उनके काम करने की क्षमता में बढ़ोत्तरी भी होती है और उनका एनर्जी लेवल भी सामान्य से अधिक होता है.

 

इस रिसर्च के अंतर्गत स्वीडन की कंपनी के मालिकों ने पाया कि सामान्य से कम समय काम समय यानी दिन में 6 घंटे काम करने वाले कर्मचारियों का काम अधिक बेहतर होता है.

स्टॉकहोम की एप डेवलपर कंपनी Filimundus के सीईओ Linus Feldt ने पास्ट कंपनी से कहा कि ‘मेरी मानना है कि दिन में 8 घंटे काम करना किसी कर्मचारी के लिए उतना सफल नहीं होता है जितना कि कोई सोच सकता है.’

 

केवल इतना ही नहीं 8 घंटे वर्किंग टाइम को लेकर उन्होंने कहा कि ‘किसी कर्मचारी के लिए एक टास्क पर 8 घंटे तक फोकस करना एक बड़ा चैलेंज होता है. अगर आपका स्टाफ खुश रहेगा तो आपकी कंपनी भी खुश रहेगी.’

 

आपको बता दें कि इस समय यूके में वर्कर औसतन 8.7 घंटे काम करते है जबकि फ्रांस में वर्कर्स का वर्किंग टाइम काफी कम होता है. फ्रांस में कर्मचारी एक दिन में औसतन 5.6 घंटे काम करते हैं.

Jobs News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Swedish bosses find a six-hour working day produces best results
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017