ऐसे होता है प्यार : क्या मिष्टी ध्रुव को हासिल कर पाएगी, या काफी देर हो चुकी थी?

ध्रुव और रिया ने क्लास में एक साथ बैठना शुरू किया. इसके बाद वे एक साथ रहने लगे थे, वे एक हो चुके थे और उनके बीच संबंध मिष्टी और समीर की तुलना में काफी मजबूत था.

Aise hota hai pyar by Prachi Gupta

ध्रुव हमेशा ही अपनी बेस्ट फ्रेंड मिष्टी को प्यार करता रहा था, लेकिन वो उसे बस एक दोस्त ही मानती रही. आखिरकार जब उसे ध्रुव को लेकर अपनी सच्ची भावनाओं का पता चला, वो किसी और के साथ डेट कर रहा था. क्या मिष्टी ध्रुव को हासिल कर पाएगी, या काफी देर हो चुकी थी?

ध्रुव और रिया ने क्लास में एक साथ बैठना शुरू किया. इसके बाद वे एक साथ रहने लगे थे, वे एक हो चुके थे और उनके बीच संबंध मिष्टी और समीर की तुलना में काफी मजबूत था. उन दोनों को क्यूपिड अपनी गिरफ्त में ले चुका था और वे प्यार में थे जल्द ही, ध्रुव ने रिया को प्रपोज़ किया और वे ऑफिशियल कपल बन गए. सब कुछ सही चल रहा था.

वह साल की शाम भी आ गई थी. यह दिसंबर था और सैम, ध्रुव के दोस्त ने क्रिसमस पार्टी दी थी. पूरे बैच को उसने इस पार्टी में बुलाया था. ध्रुव और रिया के हाथों में कोक के लाल रंग के कप देते हुए स्वागत किया. ‘धन्यवाद दोस्त. पार्टी शानदार है.’ ध्रुव ने कहा. सैम मुस्कुराया और वह मेहमानों की सेवा करने में लगा रहा. संगीत ज़ोर से चल रहा था. हर कोई नए ईडीएम ट्रैक पर अपनी कमर हिला रहा था, जब तक सैम ने आकर रोका नहीं और प्रेम करने वालों के लिए धीमे गाने नहीं चला दिए.

फ्लोर एकदम से प्रेमियों से भर गया, वे एक दूसरे की बांहों में थे, और धीरे-धीरे धुन पर नाच रहे थे. मिष्टी और समीर सबसे पहले पहुंचे थे, ध्रुव के दोस्तों ने चौंकते हुए ध्रुव को देखा, शायद वे सोच रहे थे कि आखिर वह इस पर क्या प्रतिक्रिया देगा? मिष्टी को समीर से हारे हुए अब छह महीने हो गए थे.

सभी को हैरानी हुई जब ध्रुव ने बिल्कुल प्रतिक्रिया नहीं की. वह रिया से खुश ही लग रहा था. उसने डांस फ्लोर पर उसके साथ कदम रखा और उसे अपने पास खींच लिया. उसने अपने हाथों को उसकी पीठ के छोटे हिस्से पर रखा. नाचते हुए उसकी बांहें उसकी गर्दन के चारों ओर कस गईं. मिष्टी ने उन दोनों को कनखियों से देखा, और सच कहा जाए तो वह उन दोनों को देखकर खुश नहीं थी.

संगीत के बंद होने के बाद सभी कपल खाने के लिए चले गए. समीर भी गया. मिष्टी अकेली खड़े होकर यह सोच रही थी कि उसके साथ आखिर क्या गलत था. वह इतना अजीब क्यों महसूस कर रही थी?

उसने ध्रुव की तरफ देखा और उसे रिया के साथ एक पेड़ के पास खड़ा पाया. उसे उन्हें परेशान करने की हिम्मत नहीं हुई, लेकिन दूरी से देखा – रिया पर ध्रुव की आंखें रुकी हुई हैं. उसने उसकी छाती अपना सिर रखा हुआ था और ध्रुव के हाथ रिया की कमर को घेरे हुए थे. वे उसकी पीठ पर ऊपर नीचे हो रहे थे. जब तक वह वहां पर खड़ी थी, तब तक वे लोग एकदूसरे के गले से लिपटे ही रहे. मिष्टी को रिया से जलन होने लगी. यह अजीब बात थी; उसने ऐसा पहले कभी नहीं महसूस किया था. क्योंकि आखिर वही थी, जिसने यह सब किया था. आखिर उसका मन रोने का क्यों हो रहा था जब उसका बेस्ट फ्रेंड किसी लड़की को गले लगा रहा था?

Aise Hota Hai pyar

उनके रिश्ते की शुरुआत में ही मिष्टी को यह अहसास हो गया कि समीर भावनात्मक रूप से एक अलग व्यक्ति था. उसने रिया के चेहरे पर संतोष की झलक देखी और उसने सोचा कि क्या वह कभी भी ऐसा अनुभव करेगी. मिष्टी को आश्चर्य हुआ कि वह यहां क्यों खड़ी थी, जबकि वह समीर से प्यार करती थी तो उसे जलन क्यों हो रही थी. उसके मन में एक संदेह आया, सच में, क्या उसे वाकई प्यार था?

ध्रुव ने रिया को वापस खींचते हुए उसके बालों को कानों के पीछे कर दिया. रिया मुस्कुराई और ध्रुव ने उसकी नाक को चूम लिया. वह हंसी. ध्रुव ने अपने होंठों पर इशारा करते हुए, उसके होंठों को धीरे से किस कर लिया. यह एक पवित्र चुंबन था, जो उसके लिए उसके प्यार को दिखा रहा था. मिष्टी उन लोगों को ऐसे देखकर परेशान हो गई. उसे लगा जैसे वह बीमार हो जाएगी.

सैम बाहर आया और मिष्टी के पास खड़ा हो गया. जब तक उसने नहीं कहा, तब तक उसने ध्यान भी नहीं दिया था. ‘मैं अभी भी विश्वास नहीं कर सकता कि तुम दोनों एक साथ नहीं हो. वह तुमसे बहुत प्यार करता था. तुम लोगों का अलग होना नामुमकिन था.’ सैम धीरे-धीरे बुदबुदाया.
‘वह मुझे प्यार करता था?’ उसने चौंक कर कहा.
सैम हंसा, ‘अच्छा जैसे तुम नहीं जानती.’

उसे बहुत हैरानी थी कि मिष्टी को वाकई नहीं पता था कि वह उससे प्यार करता था. ‘वह करता था, यह दिखाई देता था. हर कोई जानता था, हैरानी है तुम्हें कैसे नहीं पता चला? कैसे तुमने ध्यान नहीं दिया?’
किसी ने सैम को पुकारा और वह चला गया.

वह मुझे पसंद करता था, हे भगवान! मैंने किया क्या है? मिष्टी को पछतावा हो रहा था. वह उसे खोने के बाद समझ गई कि वह समीर से प्यार नहीं करती है. यह हमेशा ध्रुव था, वही वह था जिसे मिष्टी अपने जीवन में चाहती थी. ओह, उसने सब कुछ बर्बाद कर दिया था. उसने उसे किसी और के साथ प्यार में फंसा दिया. वह यहां होना नहीं चाहती थी. वह समीर के साथ और ज्यादा समय नहीं देना चाहती थी. वह अपना सब कुछ खो चुकी थी, सब कुछ उसकी मुट्ठी से फिसल गया था.

पूरी किताब फ्री में जगरनॉट ऐप पर पढ़ें. ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें.

(प्राची गुप्ता की कहानी ऐसे होता है प्यार का यह अंश प्रकाशक जगरनॉट बुक्स की अनुमति से प्रकाशित)

Juggernaut News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Aise hota hai pyar by Prachi Gupta
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Aise hota hai pyar Prachi Gupta
First Published:

Related Stories

मौत का सफर: इस समय मैं कुछ सोच रहा हूं
मौत का सफर: इस समय मैं कुछ सोच रहा हूं

बहुत ही भयानक दृश्य था. उस चीनी आदमी का किसी ने गला काट दिया था. दाहिने कान की ओर से एक आधी गोल...

वाल्टर का दोस्त: क़द-काठी, रंग और नैन-नक़्श में शायद ही कोई लड़का कॉलेज में होगा जो मेरे मुक़ाबले में आता हो
वाल्टर का दोस्त: क़द-काठी, रंग और नैन-नक़्श में शायद ही कोई लड़का कॉलेज में...

वाल्टर से सब दोस्ती करना चाहते थे. लेकिन उसकी दोस्ती सिर्फ़ हमसे थी. फिर एक दिन ऐसा कुछ हुआ,...

लव इन ए मेट्रो: वह आज यह पता लगाकर रहेगी कि उसे ज्यादा प्यार कौन करता है
लव इन ए मेट्रो: वह आज यह पता लगाकर रहेगी कि उसे ज्यादा प्यार कौन करता है

काजल तय नहीं कर पा रही थी कि राज उसे ज्यादा प्यार करता है या विक्रांत. आखिर उसकी पहेली तब सुलझी...

लॉटरी: जल्‍दी से मालदार हो जाने की हवस किसे नहीं होती?
लॉटरी: जल्‍दी से मालदार हो जाने की हवस किसे नहीं होती?

जल्‍दी से मालदार हो जाने की हवस किसे नहीं होती? उन दिनों जब लॉटरी के टिकट आये, तो मेरे दोस्त,...

महामाया: मैं अब तक तुम्हारी सभी बातों का समर्थन करती आई हूं, इसी से तुम्हारा इतना साहस बढ़ गया
महामाया: मैं अब तक तुम्हारी सभी बातों का समर्थन करती आई हूं, इसी से तुम्हारा...

महामाया और राजीव लोचन दोनों सरिता के तट पर एक प्राचीन शिवालय के खंडहरों में मिले. महामाया ने...

इश्क़ ऑन एयर: एफएम पर उस लड़के की आवाजें सुनकर उस लड़की को उससे मुहब्बत हो गई थी
इश्क़ ऑन एयर: एफएम पर उस लड़के की आवाजें सुनकर उस लड़की को उससे मुहब्बत हो गई...

एफएम पर उस लड़के की आवाजें सुनकर उस लड़की को उससे मुहब्बत हो गई थी. उसके बारे में उसने क्या क्या...

पूस की रात: तकदीर की बखूबी है, मजूरी हम करें, मजा दूसरे लूटें!
पूस की रात: तकदीर की बखूबी है, मजूरी हम करें, मजा दूसरे लूटें!

जबरा जोर से भूँककर खेत की ओर भागा. हल्कू को ऐसा मालूम हुआ कि जानवरों का एक झुण्ड उसके खेत में आया...

तिलिस्मः वह एक कुर्सी पर बैठ जाता है, इस उम्मीद में कि फर्श का यह टुकड़ा खुल जाएगा...
तिलिस्मः वह एक कुर्सी पर बैठ जाता है, इस उम्मीद में कि फर्श का यह टुकड़ा खुल...

भगवान भास्कर अपनी किरणों को समेटकर अस्ताचलगामी हो चुके थे और खूबसूरत चिड़ियाँ गाती हुई दिल पर...

गुड्डू भईया : गुड्डू को चाहने वाली माया क्या शादी के बाद उसे पहचान पाई?
गुड्डू भईया : गुड्डू को चाहने वाली माया क्या शादी के बाद उसे पहचान पाई?

जिस गुड्डू को कभी माया ने चाहा था, उसकी शादी के बाद उसका दिल ही टूट गया था. लेकिन इसके बाद जब...

अक्स: आईने में दिखती डरावनी दुनिया
अक्स: आईने में दिखती डरावनी दुनिया

शेर दिल की आंख किस वजह से खुली थी, उसे फौरी तौर पर अंदाजा नहीं हुआ. कमरे में जीरो वाट की रोशनी थी...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017