बार-बार जम्हाई आने के ये कारण जान आप भी रह जाएंगे दंग!

ज्यादा जम्हाई आना किसी बड़ी बीमारी का लक्षण भी हो सकता है. चलिए जानते हैं आखिर क्यों आती है आपको जम्हाई.

By: | Last Updated: Saturday, 9 September 2017 7:02 PM
Are you a serial yawner at work? You might be just making everyone lazy

नई दिल्लीः वैसे तो जम्हाई लेना एक सामान्य सी क्रिया है. लेकिन ऑफिस में जम्हाई लेना आपके लिए मुसीबत बन सकता है. दरअसल, ऑफिस में यॉनिंग करने से नींद और आलस तो आता ही है साथ में आपके बॉस को भी पता चल सकता है कि आपका मन काम में नहीं लग रहा है. क्यान आप जानते हैं कुछ तरीके अपनाकर आप जम्हाई को कंट्रोल कर सकते हैं. अगर तब भी आपकी जम्हाई कंट्रोल नहीं होती है, तो आपको डॉक्टर के पास जरूर जाना चाहिए. ज्यादा जम्हाई आना किसी बड़ी बीमारी का लक्षण भी हो सकता है. चलिए जानते हैं आखिर क्यों आती है आपको जम्हाई.

आमतौर पर जम्हाई नींद पूरी न होने पर आती है. लेकिन इन कारणों से आती है जम्हाई-

  • जम्हाई आने के पीछे कई बार बड़ी बीमारी भी देखने को मिलती है. जम्हाई लिवर में खराबी होने का कारण भी हो सकता है.
  • हाई ब्लड प्रेशर और थॉयरॉइड की समस्या भी ज्यादा जम्हाई लेने वाले लोगों में देखी गई है.
  • ऑफिस में काम का प्रेशर ज्यादा होने के कारण भी आपको जम्हाई आती है. आप काम के बारे में अधिक सोचते हैं और पूरे समय जम्हाई लेते रहते हैं.
  • अक्सर ऑफिस में हमारे आसपास हमारे साथियों में से कोई न कोई जम्हाई लेता है. उनको देखकर भी आपको जम्हाई आ सकती है. जो लोग ज्यादा जम्हाई लेते है तो कोशिश करे कि उन से दूर बैठे.

ऐसे करें जम्हाई कंट्रोल-

पानी को बनाएं साथी-
वैसे तो सभी को कम से कम 8 गिलास पानी पीना चाहिए. लेकिन अगर आप को जम्हाई लेने की आदत है तो आपको ज्यादा पानी पीना चाहिए. पानी ज्यादा पीना से जम्हाई कम आती है.

खुले इलाके में घूमें-
जम्हाई ज्यादा आ रही है तो खुले इलाको में आप घूमकर आ सकते हैं. इससे आप फ्रेश महसूस करेंगे. साथ ही शरीर में जो ऑक्सीजन की कमी हो रही थी वो भी खत्म हो जाएंगी.

ठंडे इलाके में बैठे-
अगर आपको किसी मीटिंग में जाना है तो कोशिश करें अपने दिमाग को ठंडा रखने की. दिमाग में गर्मी बढ़ने के साथ जम्हाई भी बढ़ जाती है.

फलों को करें डाईट में शामिल-
जम्हाई बढ़ने का कारण आपकी गलत डाइट भी होती है. ज्यादा तेल और मसाले-दार खाना न खाएं. ऐसे में आप फलों को डाईट में शामिल करें. जिसमें खीरा और तरबूज आपके लिए बेहतर विकल्प होंगे.
 
नोट: ये रिसर्च के दावे पर हैं. ABP न्यूज़ इसकी पुष्टि नहीं करता. आप किसी भी सुझाव पर अमल या इलाज शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें.

Lifestyle News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Are you a serial yawner at work? You might be just making everyone lazy
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017