Here's The Cost Story of mushrooms|ये खबर पढ़ेंगे तो जान पाएंगे दुनियाभर में बिकने वाले मशरूम की असल कीमत

ये खबर पढ़ेंगे तो जान पाएंगे दुनियाभर में बिकने वाले मशरूम की असल कीमत

दुनिया के सबसे महंगे मशरूम की कीमतों पर एक शोध से पता चलता है कि कांग्रेस के नेता के दावे को सिद्ध नहीं किया जा सकता है.

By: | Updated: 13 Dec 2017 01:25 PM
Here’s The Cost Story of mushrooms

नई दिल्लीः कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकुर ने मंगलवार को कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गोरी त्वचा का राज मशरूम में छिपा है. उनके मुताबिक, प्रधानमंत्री मोदी रोजाना 5 मशरूम खाते हैं और एक मशरूम की कीमत 80 हजार रूपए हैं. ये स्पेशल मशरूम ताइवान से मंगवाया जाता है यानि मोदी जी गोरा दि‍खने के लिए प्रतिदिन 4 लाख के मशरूम खाते हैं.


ठाकुर ने दावा किया कि प्रधानमंत्री मोदी पहले इतने गोरे नहीं थे लेकिन मशरूम खाने के बाद ऐसे हो गए हैं.


क्या कहते हैं शोध-
दुनिया के सबसे महंगे मशरूम की कीमतों पर एक शोध से पता चलता है कि कांग्रेस के नेता के दावे को सिद्ध नहीं किया जा सकता है. बीबीसी ट्रैवल की एक रिपोर्ट 2012 में प्रकाशित हुई जिसमें दावा किया गया कि सफेद यूरोपीय ट्रफल को
दुनिया का सबसे बेहतरीन मशरूम माना जाता है और वर्तमान में इसकी कीमत 6000 यूरो यानि 4,50,000 रूपये प्रति किलोग्राम है.


ट्रफल की प्रकृति उसे अधिक मात्रा में उपभोग करने की अनुमति नहीं देती है. इसलिए ट्रफ़ल को विभिन्न खाद्य पदार्थों के साथ गार्निश करके इस्तेमाल किया जाता है.


एक अन्य रिसर्च बताती है कि हिमालय का वाइल्ड गुच्ची मशरूम की कीमत 10,000 रुपये से 30,000 रुपये प्रति किलोग्राम है. वैज्ञानिक रूप से मोर्चेला एस्कुलेन्टा (Morchella Esculenta) के रूप में जाना जाता है. ये अद्भूत सब्जी बर्फ की मोटी परतों के नीचे पाई जाती है.


इसी तरह से जापानी मशरूम मत्सुटेक (Matsutake) की कीमत 600 डॉलर प्रति किलोग्राम थी. लेकिन ये मशरूम पिछले कुछ सालों में बाजारों से विलुप्त हो गया.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Here’s The Cost Story of mushrooms
Read all latest Health News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story युवाओं के लिए डेटिंग ऐप्स बन रही है अपना ‘वैलेंटाइन’ ढूंढने का सहारा: एसोचैम