आप भी ग्रीन टी को मानते हैं फायदेमंद, तो पहले ये खबर पढ़ लें

By: | Last Updated: Wednesday, 23 September 2015 6:36 AM
How to Drink Green Tea Without the Side Effects

 

नई दिल्ली : अभी तक आपने ग्रीन टी के फायदों के बारे में ही जाना होगा लेकिन क्या आप जानते हैं ग्रीन टी पीने के नुकसान भी हो सकते हैं. इसके अपने साइड इफेक्ट हैं.

 

 

विकी हाउ वेबसाइट के मुताबिक, ग्रीन टी पीने से नर्वसनेस बढ़ सकती है और पेट भी गड़बड़ हो सकता है. ग्रीन टी में मौजूद कैफीन से भी कई हेल्थ प्रॉब्लम्स होने लगती हैं साथ ही ग्रीन टी में मौजूद कई तत्‍व भी स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक हो सकते हैं. लेकिन आप कुछ आसान टिप्स अपनाकर ग्रीन टी से होने वाले साइड इफेक्ट्स से बच सकते हैं. जानिए, किन लोगों के लिए ग्रीन टी अधिक नुकसानदायक हो सकती है.

 

कैफीन समस्याओं से कैसे बचें

ग्रीन टी के पाउडर में कैफीन की कितनी मात्रा आप ले रहे हैं इसके बारे में आपको पता होना चाहिए. ग्रीन टी की 227 ग्राम चाय में 24 से 45 मिलीग्राम तक कैफीन होती है. वहीं 227 ग्राम कॉफी में 95 से 200 मिलीग्राम तक कैफीन होती है.

 

इसके साथ ही आपको ये भी जानना होगा कि बहुत ज्यादा कैफीन का सेवन करने से क्या नुकसान हो सकते हैं. बहुत ज्यादा कैफीन का सेवन करने से हार्ट बीट अनियमित हो जाती है. नर्वसनेस बढ़ जाती है. बहुत ज्यादा चिड़चिड़ापन होने लगता हैं. हृदय में जलन होने लगती हैं. डायबिटीज के मरीज यदि अधिक कैफीन का सेवन अधिक करते हैं तो उनका ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता हैं. यहां तक की दस्त भी होने लगते हैं.

 

यदि आपको ऑस्टियोपोरोसिस है या फिर हड्डियों की समस्या है तो ग्रीन टी आपके लिए नुकसानदायक हो सकती है.

 

ग्रीन टी आपको एक सीमित मात्रा में पीनी चाहिए. ग्रीन टी से होने वाली समस्या‍ओं से बचने के लिए आपको बहुत ज्यादा कैफीन नहीं लेना चाहिए. किसी भी समस्या से बचने के लिए आपको दिनभर में 4 – 5 कप से ज्यादा ग्रीन टी का सेवन नहीं करना चाहिए. यदि कैफीन के सेवन से आपको दिक्कत हो जाती है तो आप छोटे कप में कम मात्रा में ही ग्रीन टी लें.

 

गर्भवती महिला को 2 या इससे कम ही ग्रीन टी लेनी चाहिए. कैफीन की अधिक मात्रा का सेवन मां और बच्चे दोनों के लिए खतरनाक हो सकता है. अधिक कैफीन के सेवन से गर्भपात तक की नौबत आ सकती है. गर्भावस्था के दौरान कैफीन की कितनी मात्रा लें इसको लेकर कन्फ्यूजन हैं तो अपने डॉक्टर से जरूर कंसल्ट करें.

 

यदि कैल्शियम आप के लिए एक चिंता का विषय है तो भी आपको 2 या 3 कप से ज्यादा ग्रीन टी नहीं लेनी चाहिए. आप चाहे तो कैल्शियम के सप्लीमेंट्स ले सकते हैं.

 

पेट की खराबी से यूं बचें –

ग्रीन टी में मौजूद टैनिन आपके पेट को खराब कर सकता है क्योंकि ग्रीन टी पीने से पेट में एसिड अधिक बनने लगता है. जिन लोगों को पेट की समस्या रहती है खासतौर पर एसिडिटी होती है उन्हें ग्रीन टी पीने से बचना चाहिए.

 

अक्सर छाती में जलन की शिकायत करने वाले लोगों के लिए ग्रीन टी नुकसानदायक हो सकती है. ऐसी स्थिति में ग्रीन टी को किसी फूड के साथ लें. खाने से ठीक पहले ग्रीन टी पीने से आपको अधिक समस्या हो सकती हैं. ऐसे में सिर्फ ग्रीन टी ना पीएं.

 

ग्रीन टी को दूध के साथ भी पी सकते हैं इससे एसिड बनना कम होगा. यदि ग्रीन टी पीने से पेट में गड़बड़ लग रही है तो एंटासिड का सेवन करना चाहिए. इससे पेट को आराम मिलेगा.

 

एनीमिया में ग्रीन टी नुकसानदायक

जिन लोगों को आयरन की समस्या होती है. वे लोग यदि ग्रीन टी का सेवन करते हैं तो उनमें आयरन की कमी होने की आशंका और बढ़ जाती है. ऐसे लोगों को ग्रीन टी के साथ कैचेचिंन्स (catechins) लेना चाहिए इससे आयरन की कमी होने से बच सकती है.

 

जिन लोगों को एनीमिया की समस्या है उन्हें भी ग्रीन टी के सेवन से बचना चाहिए. एनीमिया के कारण ही आयरन की कमी हो जाती है, इसी कारण हिमोग्लोबिन की मात्रा कम हो जाती हैं. यदि आयरन की कमी है तो फूड के साथ ग्रीनटी ना लें. बल्कि खाने के बीच में ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं ताकि बॉडी आयरन ऑब्सर्व कर ले.

 

मोतियाबिंद में ग्रीन टी नुकसानदायक

मोतियाबिंद से पीड़ित लोग यदि ग्रीन टी का सेवन करते हैं तो 30 मिनट के अंदर-अंदर उनकी आंखों पर दबाव पड़ने लगता है. इस बीमारी में ग्रीन टी का सेवन करने से ये और बढ़ सकती है. मोतियाबिंद आंखों से संबंधित ऐसी बीमारी है जो ऑप्टिक तंत्रिका को प्रभावित करता है. इसके बढ़ने पर अंधापन भी हो सकता है.

 

दवाओं के साथ ग्रीन टी का सेवन

बहुत सारी ऐसी दवाएं हैं जिनमें ग्रीन टी का सेवन करने से शरीर में साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं. सांस संबंधी बीमारियों के लिए ली जाने वाली इफेड्रिन के साथ ग्रीन टी ना लें. इससे अनिंद्रा की बीमारी और नर्वसनेस हो सकती है. ग्रीन टी को क्लोजैपाइन और लिथियम जैसी ड्रग्स के साथ भी नहीं लेना चाहिए. इससे दवाओं का असर कम हो जाता है. ग्रीन टी को मोनोमाइन ओक्सीडेस और स्टीरियोआइसोमर जैसी ड्रग्स के साथ भी नहीं लेना चाहिए. इससे ब्लड प्रेशर अचानक बढ़ जाता है.

 

यदि आप एंटीबायोटिक्स ले रहे हैं तो भी ग्रीन का सेवन करने से बचना चाहिए. इसके अलावा गर्भनिरोधक गोलियों, डिसुलफिरम, फ्लुवोक सालमाइन जैसी दवाओं के सेवन के दौरान भी ग्रीन टी पीना नुकसानदायक हो सकता है.

Lifestyle News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: How to Drink Green Tea Without the Side Effects
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

शादी के मौके पर दांतों को यूं बनाएं सफेद, चमकदार!
शादी के मौके पर दांतों को यूं बनाएं सफेद, चमकदार!

नई दिल्ली: शादी के दिन जहां ड्रेसेज़ से लेकर मेहमानों की मेहमाननवाजी का ध्यान रखा जाता है, वहीं...

इनकम से भी प्रभावित होती है फीजिकल एक्टिविटी!
इनकम से भी प्रभावित होती है फीजिकल एक्टिविटी!

न्यूयार्क: हाल ही में आई एक रिसर्च के मुताबिक, इनकम से भी फीजिकल एक्टिविटी प्रभावित होती है....

इंस्टाग्राम झट पता लगा लेगा, आप डिप्रेशन में है या नहीं!
इंस्टाग्राम झट पता लगा लेगा, आप डिप्रेशन में है या नहीं!

नई दिल्ली: अक्सर जब लोग परेशान होते हैं, स्ट्रेस या डिप्रेशन में होते हैं तो उनका स्टेटस बदल...

मोबाइल पर वीडियो देखने के बावजूद टीवी पर ही फिल्में देखना चाहते हैं लोग!
मोबाइल पर वीडियो देखने के बावजूद टीवी पर ही फिल्में देखना चाहते हैं लोग!

इंदौरः डीटीएच सेवा प्रदान करने वाले डिश टीवी के एक अधिकारी ने इस धारणा को गलत करार दिया है कि...

नूडल्स को इस तरह बनाएं और स्वादिष्ट!
नूडल्स को इस तरह बनाएं और स्वादिष्ट!

नई दिल्ली: नूडल्स को बच्चों से लेकर बड़े तक चाव से खाते हैं. आप सिंपल नूडल्स में नट या टमाटर या...

OMG! इंडिया में इस शहर की महिलाएं सबसे ज्यादा ऑर्डर करती हैं सेक्स ट्वॉयज
OMG! इंडिया में इस शहर की महिलाएं सबसे ज्यादा ऑर्डर करती हैं सेक्स ट्वॉयज

नई दिल्लीः सेक्स को लेकर इंडिया में शुरु से ही टैबू रहा है लेकिन अब सेक्स को लेकर लोगों की सोच...

मॉनसून में त्वचा और बालों की यूं करें देखभाल
मॉनसून में त्वचा और बालों की यूं करें देखभाल

नई दिल्ली: मॉनसून के दौरान इम्यून सिस्टम कम हो जाता है, जिससे शरीर में कीटाणुओं के इंफेक्शन की...

ऑनलाइन फ्लर्टिंग करने के लिए ये दिन है आपके लिए परफेक्ट!
ऑनलाइन फ्लर्टिंग करने के लिए ये दिन है आपके लिए परफेक्ट!

नई दिल्लीः क्या आपने कभी सोचा है कि फ्लर्टिंग के लिए भी कोई खास दिन हो सकता है? जी हां, अगर आप भी...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017