लिंग परिवर्तन के चलते बर्खास्त नाविक जाएगी अदालत , प्रधानमंत्री को लिखा

लिंग परिवर्तन के चलते बर्खास्त नाविक जाएगी अदालत , प्रधानमंत्री को लिखा

लिंग परिवर्तन की सर्जरी कराने पर सेवा से बर्खास्त भारतीय नौसेना की एक नाविक ने कहा कि वह इस फैसले के खिलाफ उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाएगी.

By: | Updated: 11 Oct 2017 10:38 AM

विशाखापत्तनम: लिंग परिवर्तन की सर्जरी कराने पर सेवा से बर्खास्त भारतीय नौसेना की एक नाविक ने कहा कि वह इस फैसले के खिलाफ उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाएगी.


लिंग परिवर्तन के बाद मनीष कुमार गिरि से साबी बनी बर्खास्त नाविक ने कहा कि वह इंसाफ के लिए लड़ेगी और इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी पत्र लिखेगी.


ये भी पढ़े- OMG! लिंग परिवर्तन सर्जरी कराने वाले एक नाविक की गई नौकरी


साबी ने सवाल किया, ‘‘मैं उसी क्षमता वाली वही शख्स हूं. कैसे वे बर्खास्त कर सकते हैं. बस इस कारण कि मैंने लिंग परिवर्तन सर्जरी कराई है?’’ उसने कहा, ‘‘अगर जरूरत पड़ी तो मैं अपने अधिकारों के लिए उच्चतम न्यायालय जाऊंगी.’’
भारतीय नौसेना ने एक बयान में कहा था कि बल की नियमावली के अनुच्छेद ‘‘सेवा की आवश्यकता नहीं है’’ के तहत गिरि को बर्खास्त कर दिया गया है.


साबी ने छुट्टी के दौरान मुंबई के एक अस्पताल में पिछले साल अगस्त में लिंग परिवर्तन सर्जरी करवा ली थी.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Lifestyle News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story सर्दियों में रैशेज की समस्या अब होगी चुटकियों में दूर