ब्यास हादसा: नदी के जलस्तर में गिरावट, तलाश जारी

By: | Last Updated: Saturday, 14 June 2014 9:20 AM

मंडी (हिमाचल प्रदेश): हिमाचल प्रदेश के मंडी शहर के करीब ब्यास नदी की जलधारा में इंजीनियरिंग छात्रों के बह जाने की घटना के बाद शनिवार को पहली बार जलस्तर में गिरावट देखी गई है. इस हादसे का शिकार हुए 24 में से 16 छात्र व एक टुअर गाइड अब भी लापता हैं. अब तक आठ शव बरामद किए जा चुके हैं. राहत कार्य से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि शनिवार को हैदराबाद के 15 अतिरिक्त गोताखोर तलाशी अभियान में शामिल हुए.

 

हादसे के छह दिन बाद भी 550 से अधिक बचावकर्ता व्यापक तलाशी अभियान में जुटे हुए हैं.

 

अभियान के पहले चार दिन आठ शवों को बरामद किया गया, जिनमें से अधिकांश दुर्घटनास्थल थालौट से तीन किलोमीटर के दायरे में पत्थरों के अंदर तथा बालू में धंसे हुए थे.

 

उपायुक्त देवेश कुमार ने बताया, “दुर्घटनास्थल से तीन किलोमीटर के नदी के दायरे में जलधारा पर नियंत्रण लगाए जाने से एक घंटे के दौरान जलस्तर कम हुआ है.”

 

राष्ट्रीय आपदा प्रतिुक्रिया बल (एनडीआरएफ) के कमांडिंग अधिकारी जयदीप सिंह ने बताया कि बचावकर्मियों का मुख्य ध्यान शिलाखंडों के नीचे दबे हुए शवों का पता लगाने पर है.

 

उन्होंने कहा, “हमारे जवान हरेक शिलाखंडों तक पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं.”

 

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एम.शशिधर रेड्डी ने आईएएनएस को बताया, “हमारे गोताखोर मुख्य रूप से न्यून दृश्यता का सामना कर रहे हैं. नदी का तल कीचड़ और बालू से भरा हुआ है. इसमें बड़े शिलाखंड और पत्थर भी हैं.”

 

एनडीआरएफ, भारतीय सेना, भारतीय नौसेना और आईटीबीपी के 50 से अधिक गोताखोर तलाशी अभियान में लगे हुए हैं.

 

हादसा रविवार शाम उस वक्त हुआ जब मनाली दौरे पर आया एक विद्यार्थी दल करीबी जल विद्युत परियोजना प्रबंधन द्वारा नदी में बिना किसी चेतावनी के छोड़े गए पानी में बह गया.

 

पुलिस ने लापरवाही बरतने और दूसरों की जिंदगी खतरे में डालने के लिए 126 मेगावाट वाले लारजी पनबिजली परियोजना के अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

 

यह मामला नदी के लिए पानी छोड़े जाने से पूर्व परियोजना अधिकारियों द्वारा चेतावनी के लिए भोंपू न बजाए जाने के आधार पर दर्ज किया गया है.

 

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने सभी पनबिजली परियोजना अधिकारियों को पानी छोड़ने से पहले सभी जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं. इसमें पानी छोड़ने से पहले भोंपू बजाना और इलाके में वाहन से घूम-घूम कर लाउडस्पीकर से घोषणा करना शामिल है.

Photo Gallery News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ब्यास हादसा: नदी के जलस्तर में गिरावट, तलाश जारी
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017