आईपीएल: बीते सीज़न के इन 5 धुरंधरों पर प्रदर्शन दोहराने का होगा दबाव

आईपीएल: बीते सीज़न के इन 5 धुरंधरों पर प्रदर्शन दोहराने का होगा दबाव

By: | Updated: 13 Apr 2014 09:44 AM

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल के बीते संस्करण में रनों का अंबार लगाने वाले पांच धुरंधरों पर 16 अप्रैल से संयुक्त अरब अमीरात में शुरू हो रहे लीग के सातवें संस्करण में अपना प्रदर्शन दोहराने का दबाव होगा.

 

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के क्रिस गेल ने 2012 सत्र में 15 मैचों में सबसे अधिक 733 रन बनाए थे. इसके अलावा कोलकाता नाइट राइर्ड्स टीम के कप्तान गौतम गम्भीर ने 17 मैचों में 590 रन बटोरे थे जबकि सनराइजर्स हैदराबाद के शिखर धवन ने 15 मैचों में 569 रन जुटाए थे. इसी तरह राजस्थान रॉयल्स के अजिंक्य रहाणे ने 16 मैचों में 560 रन और दिल्ली डेयरडेविल्स के वीरेंद्र सहवाग ने 16 मैचों में 495 रन बनाए थे.

 

सहवाग की इस साल टीम बदल चुकी है. वह किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेलते दिखेंगे जबकि बाकी चार बीते सत्र की तरह इस सत्र में भी अपनी पुरानी टीमों को सेवाएं देंगे. गम्भीर और सहवाग अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से लम्बे समय से बाहर हैं जबकि गेल, रहाणे और धवन खराब दौर से गुजर रहे हैं.

 

धवन को तो हाल ही में बांग्लादेश में समाप्त ट्वेंटी-20 विश्व कप के दौरान तीन मैचों के बाद अपना स्थान गंवाना पड़ा था. वह 1, 0 और 30 रनों की पारियां खेल सके थे. धवन अपनी टीम के कप्तान और सलामी बल्लेबाज हैं. इससे उनकी जिम्मेदारी बढ़ जाती है. जाहिर तौर पर वह खराब दौर से निकलते हुए अपनी टीम को अपेक्षित शुरुआत दिलाने का प्रयास करेंगे.

 

यही हाल रहाणे का रहा. रहाणे ने बीती पांच ट्वेंटी-20 पारियों (इसमें दो अभ्यास मैच भी शामिल हैं) में 32 रनों का सर्वोच्च स्कोर खड़ा कर सके. उनका स्कोर 3, 32, 19 और 0 रहा. रहाणे पर राजस्थान रॉयल्स को फिर से अपेक्षित सफलता दिलाने का दबाव होगा. 2008 की चैम्पियन राजस्थान रॉयल्स टीम बीते सत्र में तीसरे स्थान पर रही थी.

 

राहुल द्रविड़ के आईपीएल से हटने के बाद रहाणे के सलामी बल्लेबाज साथी के नाम का खुलासा नहीं हो सका है लेकिन सीनियर होने के नाते उन पर टीम को अच्छी शुरुआत दिलाने का दबाव होगा, जो उन्हें खुलकर शॉट्स खेलने से रोक सकता है.

 

गेल ने ट्वेंटी-20 विश्व कप की पांच पारियों में 34, 48, 53, 5 व तीन रन बनाए लेकिन आस्ट्रेलिया के खिलाफ 53 रनों की पारी को छोड़ दिया जाए तो वह अपनी छवि के साथ न्याय नहीं कर सके. बांग्लादेश के खिलाफ उन्होंने 48 गेंदों पर 48 और भारत के खिलाफ 33 गेंदों पर 34 रन बनाए.

 

जाहिर है, गेल की जो छवि रही है, उसकी तुलना में ये स्कोर न्याय नहीं करते. गेल से न सिर्फ रॉयल चैलेंजर्स के कप्तान और प्रशंसकों को अपेक्षाएं हैं बल्कि उन तमाम क्रिकेट प्रेमियों की अपेक्षाएं उनसे जुड़ी हैं, जो बड़े शॉट्स और तूफानी बल्लेबाजी देखने के लिए मैदान में पहुंचते हैं और टेलीविजन से सटे रहते हैं.

 

बीते सत्र में डेयरडेविल्स के कप्तान रहे सहवाग ने इस साल पंजाब का रुख किया है. उन्होंने अक्टूबर 2012 से कोई अंतर्राष्ट्रीय ट्वेंटी-20 मैच नही खेला है. वह बीते एक साल से भी अधिक समय से टीम से बाहर हैं. अच्छी बात यह है कि आईपीएल-7 से ठीक पहले सहवाग लय में आते दिख रहे हैं.

 

सहवाग ने सैयद मुश्ताद ट्वेंटी-20 घरेलू लीग की चार पारियों में 42, 22, 67 और 49 रन बनाए हैं. किंग्स इलेवन के प्रसंशकों को ये आंकड़े रास आ रहे होंगे क्योंकि सहवाग बहुत बड़े कद के खिलाड़ी हैं और मैच का रुख सिर्फ अपने बूते पलटने का माद्दा रखते हैं.

 

सहवाग के लिए कोई दिन अच्छा या खराब नहीं होता. उनका बल्ला अगर चल गया तो फिर विपक्षी टीम की खैरियत नहीं लेकिन खराब दौर से गुजर रहे होने के कारण उन पर अच्छा खेलने का दबाव होगा. खासतौर पर अगर वह आईपीएल-7 को राष्ट्रीय टीम में वापसी का प्लेटफार्म मानकर चल रहे हों तो फिर यह दबाव और बढ़ जाता है.

 

अपनी कप्तानी में 2012 में नाइट राइर्ड्स को आईपीएल खिताब दिला चुके गम्भीर के पास बतौर कप्तान और बल्लेबाज कुछ साबित करने के लिए नहीं बचा लेकिन लम्बे समय से राष्ट्रीय टीम से बाहर चल रहे होने के कारण उनके अंदर आत्मविश्वास की कमी रहेगी, जो उनके प्रदर्शन को प्रभावित कर सकती है.

 

गम्भीर लय में हैं. हाल ही में उन्होंने घरेलू टी-20 मैच में हरियाणा के खिलाफ नाबाद 75 रन बनाए थे और उससे पहले मोहाली में पंजाब के खिलाफ 40 रनों की पारी खेली थी. नाइट राइर्डस की सफलता काफी हद तक गम्भीर की सफलता पर आश्रित है और गम्भीर खुद टीम में स्थान बनाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. ऐसे में उनका कप्तानी, बल्लेबाजी और खुद से तालमेल बनाने का जंग काफी रोचक होगा.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story घरेलू क्रिकेट का रन मशीन, सीनियर टीम में जलवा दिखाने की तैयारी में!