आईपीएल-7 : सहवाग के तूफान से किंग्स इलेवन फाइनल में

आईपीएल-7 : सहवाग के तूफान से किंग्स इलेवन फाइनल में

By: | Updated: 01 Jan 1970 12:00 AM

मुंबई: वीरेंद्र सहवाग (122) के शानदार शतक की बदौलत किंग्स इलेवन पंजाब ने वानखेड़े स्टेडियम में शुक्रवार को हुए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के सातवें संस्करण के दूसरे क्वालीफायर मैच में चेन्नई सुपर किंग्स को 24 रनों से हरा दिया.

 

इसके साथ ही किंग्स इलेवन ने आईपीएल इतिहास में पहली बार फाइनल में प्रवेश कर लिया. आईपीएल के पिछले सीजन में पंजाब छठे नंबर पर रहा था. अब पंजाब और कोलकाता के बीच 1 जून को बैंगलोर में फाइनल टक्कर होगी.

 

इस तरह धोनी की टीम चेन्नई लगातार पांचवीं बार फाइनल में पहुंचने के रिकॉर्ड से चूक गई है. चेन्नई दो बार आईपीएल जीत चुकी है.

 

किंग्स इलेवन ने एक बार फिर धमाकेदार बल्लेबाजी का नजारा पेश करते हुए 226 रनों का विशाल खड़ा कर लिया, जिसके जवाब में सुपर किंग्स सुरेश रैना (87) की आतिशी पारी के बवाजूद सात विकेट पर 202 रन ही बना सकी.

 

प्लेयर ऑफ द मैच सहवाग ने इस सीजन के साथ-साथ अपने आईपीएल करियर का दूसरा शतक लगाया.

 

विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी सुपर किंग्स का पहला विकेट दूसरी ही गेंद पर गिर गया.

 

फाफ डू प्लेसिस खाता खोले बगैर मिशेल जॉनसन की गेंद पर जॉर्ज बैले को कैच थमा चलते बने.

 

लेकिन सुरेश रैना (87) जैसे पिछली पारी के आगे खेलने उतरे. उन्होंने आते साथ ही चौका लगाकर अपनी पारी का आगाज किया.

 

रैना ने ड्वायन स्मिथ (7) के साथ दूसरे विकेट के लिए 66 रनों की साझेदारी निभाकर सुपर किंग्स को वांछित लक्ष्य की ओर बढ़ाना शुरू किया.

 

28 गेंदों में सात चौके और चार छक्के से सजी इस साझेदारी में रैना का योगदान अकेले 55 रनों का रहा. रैना ने इस बीच आईपीएल का दूसरा सबसे तेज अर्धशतक लगाया.

 

स्मिथ के रूप में संदीप शर्मा ने सुपर किंग्स को दूसरा झटका दिया. स्मिथ पांचवें ओवर की आखिरी गेंद पर क्लीन बोल्ड हुए.

 

स्मिथ के विकेट का हालांकि रैना की बल्लेबाजी पर कोई असर नहीं हुआ और उन्होंने परविंदर अवाना के अगले ही ओवर में पांच चौके और दो छक्के लगाकर 33 रन ठोक डाले.

 

लेकिन करनवीर सिंह द्वारा लाए गए अगले ओवर की पहली ही गेंद पर रैना रन आउट हो गए, और सुपर किंग्स फिर उबर नहीं सका.

 

रैना ने 25 गेंदों की अपनी तूफानी पारी में 12 चौके और छह छक्के लगाए. रैना सातवें ओवर की पहली गेंद पर आउट हुए और इस ओवर में सुपर किंग्स सिर्फ तीन रन बना सके.

 

रैना जब तक क्रीज पर थे तो सुपर किंग्स का स्कोर छह ओवरों में 100 रन पहुंच गया था और उसे जीत के लिए अगले 14 ओवरों में 127 रनों की जरूरत थी.

 

लेकिन रैना के जाने के बाद सुपर किंग्स अगले 10 ओवरों में सिर्फ 67 रन बना सके और इस बीच उनके चार बल्लेबाज पवेलियन लौटे.

 

कप्तान महेंद्र सिंह धौनी (नाबाद 42) ने इसके बाद संभलकर खेलना शुरू किया और अखिरी ओवरों में चिर परिचित अंदाज में लक्ष्य का पीछा भी करना शुरू किया, लेकिन गेंद और रन के बीच के अंतर को वे पाट नहीं सके.

 

धौनी ने 31 गेंदों का सामना कर तीन चौके और तीन छक्के लगाए.

 

किंग्स इलेवन के लिए अक्षर पटेल ने एक बार फिर किफायती गेंदबाजी की. अक्षर ने 5.75 की इकॉनमी से 23 रन देकर एक विकेट भी हासिल किया.

 

परविंदर अवाना सबसे महंगे गेंदबाज रहे, हालांकि दो विकेट भी झटकने में कामयाब रहे.

 

इससे पहले, सहवाग ने किंग्स इलेवन को शानदार शुरूआत दी और मनन वोहरा (34) के साथ 10.4 ओवरों में 110 रन जोड़ डाले.

 

वोहरा ने जमने में जरूर थोड़ा समय लिया. ईश्वर पांडेय द्वारा लाए गए दूसरे ओवर में सिर्फ एक रन जोड़ने के बाद जैसे लगा कि किंग्स इलेवन के खिलाड़ी बड़े मैच के दबाव में आ जाएंगे.

 

लेकिन सहवाग को खुलकर खेलता देख वोहरा भी लय में लौटे. सहवाग और वोहरा ने ईश्वर पांडेय द्वारा ही लाए गए चौथे ओवर में दो चौके और दो छक्के की मदद से 24 रन बना डाले.

 

अगले ही ओवर में नेहरा की शुरूआती तीन गेंदों पर सहवाग ने चौकों की हैट्रिक लगा दी.

 

ईश्वर पांडेय ने 11वें ओवर की चौथी गेंद पर वोहरा को सुरेश रैना के हाथों कैच आउट करवा पवेलियन लौटाया तब तक किंग्स इलेवन बड़े स्कोर की ओर कदम बढ़ा चुके थे.

 

आईपीएल-7 में अपने बल्ले के दम पर किंग्स इलेवन को कई मैच जिता चुके ग्लेन मैक्सवेल (13) बड़ी पारी तो नहीं खेल सके, लेकिन सहवाग के साथ उन्होंने मात्र 14 गेंदों में 38 रनों की ताबड़तोड़ साझेदारी कर डाली.

 

किंग्स इलेवन बड़े स्कोर की ओर बढ़ रहे थे, जिसे डेविड मिलर (38) ने भी उतनी ही गति से आगे बढ़ाया.

 

मिलर ने सहवाग के साथ तीसरे विकेट के लिए 63 रनों की साझेदारी निभाई. मिलर ने 19 गेंदों में पांच चौके और एक छक्का लगाया.

 

इस बीच सहवाग ने 50 गेंदों में 10 चौके और एक छक्के की मदद से अपना शतक पूरा किया. सहवाग ने 58 गेंदों की अपनी नायाब पारी में 12 चौके और आठ छक्के लगाए.

 

ईश्वर पांडेय द्वारा लाए गए 16वें ओवर की नीची रही फुल टॉस चौथी गेंद को सहवाग ने मिड ऑफ की दिशा में खेला और एक रन लेने के साथ ही अपना शतक पूरा कर लिया.

 

19वें ओवर की पहली गेंद पर आशीष नेहरा ने सहवाग को फाफा डू प्लेसिस के हाथों कैच आउट करवाया.

 

अगले 11 गेंदों में किंग्स इलेवन ने मिलर, जॉर्ज बैले (1) और रिद्धिमान साहा (6) के रूप में तीन विकेट गंवाए और 15 रन जोड़े.

 

सुपर किंग्स की तरफ से सिर्फ ईश्वर पांडेय अपना इकॉनमी रेट 10 से नीचे (8.75) रख सके. नेहरा ने दो विकेट चटकाए. ईश्वर, मोहित शर्मा और रविचंद्रन अश्विन को एक-एक विकेट मिला.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ICC वनडे रैंकिंग में नंबर एक गेंदबाज बने बुमराह और राशिद खान