कार्लसन से हिसाब चुकता करने को बेताब हैं आनंद

By: | Last Updated: Thursday, 17 April 2014 2:41 AM

नई दिल्ली: चेन्नई में विश्व चैम्पियनशिप मुकाबला गंवाने वाले विश्वनाथन आनंद कैंडिडेट्स टूर्नामेंट जीतने के बाद आत्मविश्वास से लबरेज हैं और इसी साल मैग्नस कार्लसन के खिलाफ मिली हार का हिसाब चुकता करना चाहते हैं.

 

पिछले साल नवंबर में आनंद को 10 बाजियों में से तीन गंवाने और एक भी बाजी नहीं जीत पाने के बाद निराशाजनक हार का सामना करना पड़ा था. पांच बार के विश्व चैम्पियन आनंद ने हालांकि इसके बाद जोरदार वापसी करते हुए कैंडिडेट्स टूर्नामेंट में 14 में से तीन बाजियां जीती और एक भी बाजी नहीं गंवाते हुए प्रतियोगिता जीतकर कार्लसन से दोबारा भिड़ने का हक पाया.

 

आनंद ने कहा कि अपनी गलतियों को सुधार में देरी के कारण उन्हें विश्व खिताब गंवाना पड़ा और शतरंज से दूर रहना उनका फैसला था जिससे उन्हें भावनात्मक रूप से उबरने और जोरदार वापसी करने में मदद मिली.

 

यहां एक कार्यक्रम में आए आनंद ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि शतरंज खेलने की मेरे रूख में कुछ गलतियां आ गई थी. मैं कंप्यूटरों पर काफी निर्भर हो रहा था और कुछ गलतियां हो रही थी. मैं इनसे बेखबर नहीं था लेकिन सटीक तरह से इसका समाधान नहीं निकाल पा रहा था. मेरे पास कुछ भी सही करने का समय नहीं था.’’

 

आनंद ने कहा, ‘‘मुझे याद है कि काफी समय पहले एक टूर्नामेंट खत्म होने के बाद मैं और अनातोली कापरेव बात कर रहे थे. उसने कहा कि एक ऐसा खिलाड़ी जिसके लिए टूर्नामेंट खराब रहा है उसे खबर नतीजे से उबरने में अधिक समय लगता है क्योंकि उसे खेल से इतना प्यार है कि शतरंज से दिमाग हटाने के लिए उसके पास कुछ नहीं है.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए मैंने फैसला किया भी भावनात्मक रूप से उबरना अधिक अहम है, आखिर इस तरह का नतीजा आपको खोखला कर देता है. इसलिए दिसंबर और जनवरी में मैंने शतरंज से बचने का प्रयास किया. कुछ टूर्नामेंट ऐसे थे जिनसे बचा नहीं जा सकता था लेकिन अधिकांश समय मैंने शतरंज से दूर रहने का प्रयास किया.’’

 

विश्व चैम्पियनशिप खिताब गंवाने के बाद आनंद लंदन रेपिड के ग्रुप चरण से ही बाहर हो गए थे जबकि मार्च में ज्यूरिख में भी उनका प्रदर्शन उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा.

 

आनंद ने कहा, ‘‘शायद मेरे विरोधी मुझ पर उचित ध्यान नहीं दे रहे थे या संभवत: मैं अधिक स्वतंत्र लोकर खेल रहा था. कैंडिडेट्स में मैंने अपने सर्वश्रेष्ठ नतीजों में से एक हासिल किया और मैं नवंबर में विश्व चैम्पियनशिप में खेलूंगा.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: कार्लसन से हिसाब चुकता करने को बेताब हैं आनंद
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ????????? ????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017