कोलकाता ने पंजाब से लिया पिछली हार का बदला

कोलकाता ने पंजाब से लिया पिछली हार का बदला

By: | Updated: 18 Apr 2012 08:54 PM


मोहाली:
शाहरुख खान की टीम ने प्रीति
जिंटा की टीम से पिछली हार का
बदला ले लिया है. मोहाली में
बुधवार को खेले गए मुकाबले
में कोलकाता ने पंजाब को पूरी
तरह से पस्त करते हए आठ विकेट
से बड़ी जीत दर्ज की.

मौजूदा
सीजन में कोलकाता की यह तीसरी
जीत है और इसके साथ कोलकाता
की टीम अब अंकतालिक में तीसरे
नंबर पर पहुंच गई है.

इस
बार शाहरुख के नाइट राइडर्स
प्रीति के किंग्स इलेवन पर
भारी पड़ गए. एकतरफा मुकाबले
में कोलकाता नाइट राइडर्स की
टीम ने किंग्स इलेवन पंजाब को
आठ विकेट से हरा दिया है. इस
जीत के साथ ही कोलकाता की टीम
ने पंजाब से पिछली हार का
बदला भी ले लिया.

पहले
बल्लेबाजी करते हुए पंजाब की
टीम ने सात विकेट पर 124 रनों का
स्कोर बनाया, लेकिन कोलकाता
की टीम ने जीत के लक्ष्य को 21
गेंद पहले ही दो विकेट के
नुकसान पर हासिल कर लिया. छह
मैचों में कोलकाता की यह
तीसरी जीत है, जबकि किंग्स
इलेवन पंजाब की पांच मैचों
में तीसरी हार.

125 रनों के
लक्ष्य का पीछा करने उतरी
कोलकाता की शुरुआत अच्छी
नहीं रही. लेकिन गौतम गंभीर
ने कप्तानी पारी खेलते हुए
अपनी टीम को शानदार जीत दिला
दी.

गौतम गंभीर ने 44 गेंदों
में सबसे ज्यादा नाबाद 66 रन
बनाए. इसके अलावा जैक कैलिस
ने 23 गेंदों में नाबाद 30 रन
बनाए. पंजाब की ओर से पीयूष
चावला ने दोनों विकेट लिए.

इससे
पहले कोलकाता की शानदार
गेंदबाजी के सामने पंजाब के
बल्लेबाजों की एक नहीं चली और
वो ज्यादा बड़ा स्कोर नहीं
बना पाए.

पंजाब की ओर से
कप्तान एडम गिलक्रिस्ट ने
सबसे ज्यादा 30 गेंदों में
नाबाद 40 रन बनाए. वहीं, शॉन
मार्श ने 30 गेंदों में 33 रन
बनाए.

कोलकाता की ओर से
सुनील नारायण ने 24 रन देकर दो
विकेट लिए, जबकि ब्रेट ली ने 26
रन देकर दो बल्लेबाजों को आउट
किया.

पंजाब को हराकर
कोलकाता की टीम अंकतालिका
में तीसरे नंबर पर पहुंच गई
है, जबकि पंजाब की टीम पहले की
तरह सातवें नंबर पर है.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story विश्व कप जीतने के लिए सभी 15 खिलाड़ियों का समर्थन चाहिए: पृथ्वी शॉ