क्या राजनाथ के बयान से मुसलमानों के साथ दूरियां कम होंगी!

By: | Last Updated: Sunday, 2 March 2014 7:24 AM

नई दिल्ली: राजनाथ सिंह की ओर से पिछले दिनों मुसलमानों के समक्ष माफी की पेशकश किए जाने की पृष्ठभूमि में भाजपा के अल्पसंख्यक मोर्चा ने कहा है कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने ‘दिल से एक बात’ कही है जिससे मुस्लिम समुदाय के साथ दूरियों में कम करने में मदद मिलेगी.

 

अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष अब्दुल रशीद अंसारी ने समाचार एजेंसी ‘भाषा’ के साथ बातचीत में कहा, ‘‘राजनाथ सिंह हमारी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं. ऐसे में उन्होंने जो बात कही है, वो पार्टी की तरफ से है. सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं की ओर से कही गई बात है. उन्होंने दिल से बात की है और हमें उम्मीद है कि इससे दूरियों :मुस्लिम समुदाय के साथ: को कम करने में मदद मिलेगी.’’

 

बीते मंगलवार को भाजपा की ओर से यहां मुसलमानों को लेकर ‘‘नरेन्द्र मोदी मिशन 272 प्लस–मुस्लिमों की भूमिका’’ विषय पर आयोजित सम्मेलन में राजनाथ सिंह ने कहा, ‘‘कलेजों पर हाथ रख कर जो भी सवाल हो आप खुद पूछ लेना. बराय मेहरबानी इसे जान लीजिए कि अगर कभी भी, कहीं भी हमारी ओर से कोई गलती या चूक हुई होगी तो, मैं आपको आश्वासन देता हूं कि हम शीश झुका कर माफी मांगेंगे.’’

 

सिंह के बयान को भले ही चुनाव से पहले मुसलमानों को लुभाने के प्रयास के तौर पर देखा जा रहा हो, लेकिन अंसारी का कहना है कि इसे चुनावी रणनीति से नहीं, बल्कि मुसलमानों के साथ गलतफहमी को दूर करने की कोशिश के तौर पर देखा जाना चाहिए.

 

अंसारी ने कहा, ‘‘अगर कोई यह कहता है कि यह बयान चुनावी फायदे के लिए अथवा सियासी रणनीति के तहत दिया गया है तो मैं इससे सहमत नहीं हूं. उन्होंने :सिंह: ने दिल से एक बात कही है और इसको सियासी बयान के तौर पर पेश नहीं किया जाना चाहिए. मुस्लिम समुदाय के साथ गलतफहमियां पैदा की गई हैं और इस बयान को गलतफहमी को दूर करने के प्रयास के तौर पर ही देखा जाना चाहिए.’’

 

यह पूछे जाने पर कि 2002 के दंगों के लिए नरेंद्र मोदी को चुनाव से पहले माफी मांगनी चाहिए तो उन्होंने कहा, ‘‘एक ही देश और एक ही व्यवस्था में दो लोगों के लिए अलग अलग कानून क्यों होंगे? मोदी जी से माफी की मांग करने वाले कांग्रेस से माफी की मांग क्यों नहीं करते?’’

 

भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष ने कहा, ‘‘पिछले 60-70 वर्ष में देश में बहुत सारे दंगे हुए. ऐसे में माफी का सिलसिला शुरू करना है तो कांग्रेस के कई प्रधानमंत्रियों और मुख्यमंत्रियों से माफी की मांग करनी होगी. कांग्रेस ने भाजपा के बारे में सिर्फ दुष्प्रचार फैलाया है और अब वह लोगों के सामने पूरी तरह से बेनकाब हो चुकी है.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: क्या राजनाथ के बयान से मुसलमानों के साथ दूरियां कम होंगी!
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017