टीम इंडिया में धोनी और सहवाग आमने-सामने!

टीम इंडिया में धोनी और सहवाग आमने-सामने!

By: | Updated: 21 Feb 2012 10:04 AM



ब्रिस्बेन: टीम इंडिया
में फूट अब सामने आ गई है. दो
दिन पहले कप्तान धोनी ने टीम
के सीनियर खिलाड़ियों पर
सुस्त होने का आरोप लगाया था
मगर अब वीरेंद्र सहवाग ने
धोनी को जवाब दिया है.




श्रीलंका के खिलाफ मैच में
कप्तानी करने वाले सहवाग ने
मंगलवार को कहा है कि अगर वे
सुस्त होते तो जयवर्धन का कैच
नहीं पकड़ पाते.




इसके साथ ही विवादित रोटेशनल
पॉलिसी पर भी वीरेंद्र सहवाग
ने अपनी नाराज़गी जताई और कहा
कि उन्हें नहीं मालूम कि ऐसा
करने से फील्डिंग क्षमता में
वृद्धि हो रही है.




सहवाग ने कहा कि उन्हें और
दूसरे सीनियर खिलाड़ियों को
कभी नहीं कहा गया कि वे मैदान
पर सुस्त हो गए हैं और यह कभी
कोई मुद्दा नहीं रहा.




सहवाग ने कहा, "मैं नहीं जानता
कि उन्होंने (धोनी) ने क्या
कहा है और मीडिया में क्या
कहा जा रहा है. उन्होंने
मुझसे बताया था कि वह चाहते
हैं कि युवाओं को मौका दिया
जाए, ताकि अगले विश्व कप में
वे खेल सकें. बस यही उन्होंने
मुझसे कहा था."




ग़ौरतलब है कि ऑस्ट्रेलिया
में जारी ट्राई सीरीज़ में
ऑस्ट्रेलिया को हराने के
रविवार को बाद धोनी ने कहा था
कि सीनियर खिलाड़ियों, जैसे
सहवाग, सचिन और गौतम गंभीर को
एक साथ टूर्नामेंट में नहीं
लिया जा रहा है क्योंकि वे
सुस्त पड़ रहे हैं और टीम को
शुरुआती 20 रनों का नुकसान
होता है.




इसके जवाब में मंगलवार को
सहवाग ने कहा,"आपने मेरा कैच
देखा.. इसके बाद वह कहते हैं...
हम इसी अंदाज़ में पिछले 10 साल
से फील्डिंग कर रहे हैं."




धोनी के आरोप के बाद सहवाग का
जवाब यह दर्शाता है कि टीम
इंडिया में सब कुछ सामान्य
नहीं है और फूट पड़ गई है.




संबंधित खबरें:




सचिन
कब तक बने रहेंगे टीम का
हिस्सा!






श्रीलंका
की जीत से भारत की राह
मुश्किल






भारत
ने ऑस्ट्रेलिया को 4 विकेट से
मात दी





फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story SAvsIND: क्लीन स्वीप के बिना मानने को तैयार नहीं फिलेंडर