धोनी से कप्तानी के काफी गुर सीखे: डुप्लेसिस

धोनी से कप्तानी के काफी गुर सीखे: डुप्लेसिस

By: | Updated: 04 Apr 2014 06:00 AM

मीरपुर: दक्षिण अफ्रीकी कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने कहा कि चेन्नई सुपरकिंग्स की तरफ से आईपीएल में खेलते हुए उन्होंने हालांकि महेंद्र सिंह धोनी से कप्तानी के काफी गुर सीखे लेकिन आज होने वाले सेमीफाइनल में वह कप्तानी की अपनी शैली पर ही विश्वास करेंगे.

 

डुप्लेसिस ने कहा, ‘‘मैंने चेन्नई और धोनी के साथ बिताये गये समय का वास्तव में मजा लिया. मैं तीन साल से उनके साथ हूं. मैंने उनसे कप्तान के कुछ गुर सीखे. वह बहुत अच्छा और प्रेरणादायी कप्तान है और उन्होंने भारत को बड़ी सफलता दिलायी है. उनका रिकार्ड सब कुछ कहता है. ’’ डुप्लेसिस से जब पूछा गया कि क्या वह उन रणनीतियों को आजमाएंगे जो उन्होंने धोनी से सीखी हैं, उन्होंने कहा, ‘‘कप्तानी की मेरी शैली पूरी तरह से भिन्न है. ’’

 

दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ने भारत को ‘जीत का दावेदार’ और अपनी टीम को ‘अंडरडॉग’ करार दिया. उन्होंने कहा, ‘‘भारत अब भी टूर्नामेंट के प्रबल दावेदारों में से एक है जबकि हमने पूरा टूर्नामेंट अंडरडॉग के रूप में खेला है. ’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम टीम के रूप में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और प्रत्येक मैच में हमारे अलग अलग खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं इसलिए हम किसी एक पर निर्भर नहीं हैं. महत्वपूर्ण क्षणों में अच्छा प्रदर्शन करना अहम है. यह काफी दबाव वाला मैच होगा और यदि आप सही फैसले करते हो तो आप शीर्ष पर रहोगे. ’’    

 

डुप्लेसिस ने स्वीकार किया कि भारत ने अपने सभी मैच शेर ए बांग्ला स्टेडियम में खेले हैं और इसका उसे फायदा मिलेगा. उन्होंने कहा, ‘‘यह बहुत अहम है. चटगांव की तुलना में ढाका का विकेट पूरी तरह से भिन्न है. हमने अपने सभी मैच वहां (चटगांव) खेले थे और भारत ने अपने मैच यहां खेले हैं. ’’

 

डुप्लेसिस ने कहा, ‘‘परिस्थितियों के लिहाज से देखा जाए तो उन्हें यहां का अच्छा अनुभव है और इसलिए हम कड़ी मेहनत कर रहे हैं. गेंद काफी टर्न ले रही है और इसलिए हमने ऐसी गेंदों के सामने काफी अभ्यास किया है. ’’ डुप्लेसिस ने कहा कि शेन वार्न के दक्षिण अफ्रीकी की नेट पर पहुंचने को बहुत अधिक तवज्जो नहीं दी जानी चाहिए. ‘‘यह हमारा फैसला नहीं था. मैं समझता हूं कि यह वार्न का फैसला था. वह कुछ गेंदबाजी करना चाहते थे. निश्चित तौर पर उनका साथ होना अच्छा रहा. हमने वास्तव में उनसे गेंदबाजी करने का आग्रह नहीं किया था. जब वह इमरान ताहिर से बात कर रहे थे तो मैं वहां नहीं था. ’’

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story गेंदबाज के सिर से टकराकर बाउंड्री पार गई गेंद, जानें क्या हुआ गेंदबाज का हाल