पठान बंधुओं को IPL से मिलेगा टीम इंडिया में वापसी का रास्ता?

पठान बंधुओं को IPL से मिलेगा टीम इंडिया में वापसी का रास्ता?

By: | Updated: 13 Apr 2014 07:13 AM

नई दिल्ली: लंबे अरसे से टीम इंडिया से बाहर चल रहे पठान बंधु इरफान पठान और यूसुफ पठान आईपीएल के सातवें सीजन में अपने करियर को एक नई दिशा देने के इरादे से उतरेंगे. पठान बंधुओं का करियर पिछले काफी समय से लड़खड़ गया है.

 

इरफान और यूसुफ दोनों को ही घरेलू सत्र में चोटों और खराब फॉर्म की वजह से आईपीएल सात की नीलामी में इन दोनों ऑलराउंडरों को अच्छा खासा नुकसान उठाना पड़ा. पठान बंधुओं को 2011 की नीलामी में जो भारी-भरकम कीमत मिली थी, आईपीएल-7 में वो काफी कम रही.

 

कम कीमत पर हुए नीलाम

यूसुफ को 2011 की नीलामी में कोलकाता नाइटराइडर्स ने 21 लाख डॉलर की कीमत पर खरीदा था, जबकि सातवें संस्करण की नीलामी में उनका बेस प्राइस दो करोड़ रुपए था. नाइटराइडर्स ने 'राइट टू मैच कार्ड' का इस्तेमाल करते हुए यूसुफ को 541000 डॉलर (3.25 करोड़ रुपए) में खरीदा.

 

इरफान को 2011 में दिल्ली डेयरडेविल्स ने 19 लाख डॉलर में खरीदा था. इस बार उनका आधार मूल्य 1.5 करोड़ रुपए था. सनराइजर्स हैदराबाद ने इरफान को चार लाख डॉलर (2.4 करोड़ रुपए) में खरीदा.

 

आईपीएल में संजीवनी की तलाश

पठान बंधुओं की कीमत में गिरावट से अंदाजा लगाया जा सकता है कि कभी स्टार कहे जाने वाले ये दोनों दिग्गज ऑलराउंडर इस समय कितना संघर्ष कर रहे हैं. पठान बंधुओं को आईपीएल के सातवें संस्करण में एक ऐसी संजीवनी की तलाश रहेगी, जो फिर से उनके करियर को परवान चढ़ा सके.

 

यूसुफ ने आईपीएल में 91 मैचों में 1820 रन और इरफान ने 88 मैचों में 1071 रन बनाए हैं जहां तक गेंदबाजी की बात है तो बाएं हाथ के तेज गेंदबाज इरफान ने 76 विकेट और ऑफ स्पिनर यूसुफ ने 37 विकेट लिए हैं.

 

लंबे समय से टीम इंडिया से बाहर

29 वर्षीय इरफान ने भारत के लिए अपना आखिरी वनडे अगस्त 2012 में श्रीलंका के खिलाफ पल्लेकेल में और आखिरी ट्वेंटी 20 अक्टूबर 2012 में कोलंबो में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था.

 

31 वर्षीय यूसुफ ने अपना आखिरी वनडे मार्च 2012 में ढाका में पाकिस्तान के खिलाफ और आखिरी ट्वेंटी 20 मार्च 2012 में जोहानसबर्ग में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था.

 

आईपीएल से आस

दोनों भाई आईपीएल के सातवें संस्करण में शानदार प्रदर्शन कर फिर से चयनकर्ताओं की निगाहों में आना चाहेंगे ताकि वे 2015 में होने वाले विश्वकप में टीम इंडिया में स्थान बनाने के दावेदारों में फिर से शामिल हो सकें.

 

हालांकि पठान बंधुओं के लिए अब राह आसान नहीं रह गई है. लेकिन आईपीएल ऎसा मंच है जो भुला दिए गए खिलाड़ियों को फिर से चमकने का मौका देता है. टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन इन दोनों ऑलराउंडरों के लिए वापसी की राह खोल सकता है क्योंकि टीम इंडिया को विश्वकप के लिए अच्छे ऑलराउंडरों की तलाश है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story T-20 ट्राई सीरीज के लिए रोहित शर्मा को मिल सकती है टीम की कमान