पाकिस्तान और तालिबान ने एक दूसरे से बातचीत की इकलौती शर्त रखी, बातचीत तक रुकी रहे दोतरफा हिंसा

By: | Last Updated: Thursday, 27 March 2014 7:19 AM

इस्लामाबादपेशावर: प्रतिबंधित पाकिस्तानी तालिबान आज उत्तरी वजीरिस्तान के कबायली क्षेत्र में अज्ञात स्थान पर सरकारी वार्ताकारों के साथ पहली सीधी वार्ता करने के बाद संघर्ष विराम जारी रखने पर सहमत हो गया.

 

संघर्ष विराम जारी रखना सरकार की प्राथमिक मांगों में से एक था. तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान द्वारा घोषित एक महीने का संघर्ष विराम 30 मार्च को खत्म होने जा रहा था.

 

यह पहली सीधी वार्ता हिंसा के घातक चक्र का हल ढूंढ़ने के लिए हुई. इस हिंसा ने 40 हजार लोगों की जान ले ली है. बातचीत के तुरंत बाद स्थानीय मीडिया ने खबर दी कि तालिबान ने कहा है कि बातचीत प्रक्रिया के दौरान संघषर्विराम लागू रहेगा.

 

बातचीत के दौरान दोनों पक्षों ने एक दूसरे से गारंटी की मांग की. सरकारी दल के साथ तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के चुने हुए वार्ताकार भी थे.

 

सरकारी समिति के सदस्यों ने पहले पेशावर के लिए उड़ान भरी वहीं, तालिबान के प्रतिनिधि एक हेलीकाप्टर में सवार हुए जिसकी व्यवस्था गृह मंत्रालय ने की थी. गृह मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि समिति के सदस्यों ने वार्ता स्थल पर पहुंचने के बाद गृहमंत्री चौधरी निसार अली खान को फोन किया.

 

बहु प्रतीक्षित सीधी वार्ता में सरकार की पुनर्गठित वार्ताकार समिति के सभी चार सदस्य, टीटीपी मध्यस्थ और तालिबान ‘शूरा’ के सदस्यों ने हिस्सा लिया.

 

सरकार की नयी समिति में पूर्व राजदूत रूस्तम शाह मोहम्मद, अतिरिक्त मुख्य सचिव फाटा अरबाब आरिफ, पोत और जहाजरानी सचिव हबीबुल्ला खटक और प्रधानमंत्री के अतिरिक्त सचिव फवाद हसन फवाद शामिल हैं.

 

तालिबान के मध्यस्थों में जमीयत उलेमा इस्लाम (सामी गुट) मौलाना सैमुल हक, जमात ए इस्लामी के इब्राहम खान और जेयूआई प्रवक्ता मौलाना युसूफ शाह शामिल हैं. यह बैठक कल होनी थी लेकिन खराब मौसम के कारण स्थागित कर दी गयी.

 

गौरतलब है कि 24 मार्च को सरकार ने इस संबंध में रणनीति को अंतिम रूप दिया था जिसमें वार्ताकारों, गृहमंत्री चौधरी निसार अली खान और आईएसआई के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल जहीरूल इस्लाम ने हिस्सा लिया था.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: पाकिस्तान और तालिबान ने एक दूसरे से बातचीत की इकलौती शर्त रखी, बातचीत तक रुकी रहे दोतरफा हिंसा
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ??????? ?????????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017