पुजारा के शतक की बदौलत पहले दिन भारत के 307 रन

पुजारा के शतक की बदौलत पहले दिन भारत के 307 रन

By: | Updated: 23 Aug 2012 06:20 AM


हैदराबाद: गुजरात के
कलात्मक युवा बल्लेबाज
चेतेश्वर पुजारा (नाबाद 119) के
करियर के पहले शतक और विराट
कोहली (58) के शानदार अर्धशतक
की बदौलत भारतीय क्रिकेट टीम
ने न्यूजीलैंड के साथ राजीव
गांधी अंतर्राष्ट्रीय
स्टेडियम में जारी पहले
टेस्ट मैच के पहले दिन
गुरुवार का खेल खत्म होने तक
अपनी पहली पारी में पांच
विकेट के नुकसान पर 307 रन बना
लिए.




खराब रोशनी के कारण दिन का
खेल तीन ओवर पहले ही समाप्त
कर दिया गया. 10वें ओवर में
गौतम गम्भीर का विकेट गिरने
के बाद विकेट पर आए पुजारा ने
अपनी कलात्मक शैली और संयम का
जोरदार परिचय देते हुए पूरे
दिन बल्लेबाजी की 226 गेंदों पर
15 चौके और एक छक्का लगाकर
नाबाद लौटे.




कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने
खेल खत्म होने पर मैदान से
बाहर जाते वक्त पुजारा की पीठ
थपथपाई. धौनी 29 रन पर नाबाद
रहे. धौनी ने अपनी 37 गेंदों की
पारी में दो चौके और एक छक्का
जड़ा. धौनी और पुजारा ने छठे
विकेट के लिए 47 रन जोड़कर भारत
के कुल योग पर 300 के पार
पहुंचाया.




इससे पहले, भारत ने टॉस जीतकर
बल्लेबाजी करने का फैसला
किया. भारत की ओर से पारी की
शुरुआत गौतम गम्भीर और
वीरेंद्र सहवाग ने की. दोनों
बल्लेबाजों ने सम्भलकर
खेलते हुए पहले विकेट के लिए 49
रन जोड़े.




भारत का पहला विकेट गम्भीर के
रूप में गिरा, जिन्हें ट्रेंट
बोउल्ट ने विकेटकीपर क्रूगर
वान वैक के हाथों कैच कराया.
गम्भीर ने 36 गेंदों पर चार
चौकों की मदद से 22 रन बनाए.




इसके बाद 77 रन के कुल योग पर
सहवाग भी अपना संयम खो बैठे
और 47 रन बनाकर आउट हुए. सहवाग
ने अपनी छोटी किंतु आकर्षक
पारी में 41 गेंदों का सामना
करते हुए नौ चौके लगाए और
भारत के रन रेट को बेहतर बनाए
रखा.




सहवाग के आउट होने के बाद
पुजारा ने सचिन तेंदुलकर (19)
के साथ स्कोर को 125 तक
पहुंचाया लेकिन इस दौरान
भारतीय टीम का रन रेट काफी
नीचे चला गया. भारत भोजनकाल
तक दो विकेट पर 97 रन ही बना सका
था.




मास्टर ब्लास्टर सचिन को 19 रन
के निजी योग पर बोउल्ट ने
बोल्ड किया. तेंदुलकर ने 62
गेंदों पर दो चौके लगाए.
उन्होंने पुजारा के साथ
मिलकर तीसरे विकेट के लिए 48 रन
जोड़े.




सचिन के पवेलियन लौटने के बाद
कोहली ने दूसरे छोर पर पुजारा
का अच्छा साथ दिया और 107
गेंदों पर आठ चौकों की मदद से
58 रन जोड़े. कोहली और पुजारा
ने चौथे विकेट के लिए 3.75 के औसत
से 125 रन जोड़े. यह साझेदारी
भारत के लिए काफी उपयोगी रही.




कोहली ने पुजारा का काफी देर
तक साथ दिया लेकिन वह उनके
करियर के पहले शतक की बधाई और
शाबासी देने के लिए विकेट पर
उनके साथ न रह सके. कोहली का
विकेट 250 रन के कुल योग पर गिरा.




इसी बीच, पुजारा ने अपने
करियर का पहला शतक पूरा किया.
राहुल द्रविड़ के स्थान पर
विकेट पर आए पुजारा ने इस
मौके को दोनोंे हाथों से लपका
और 169 गेंदों पर 14 चौकों और एक
छक्के की मदद से सैकड़ा जड़ा.




पुजारा के साथ दूसरे छोर पर
खड़े सुरेश रैना (3) ने उन्हें
बधाई दी और उनकी हौसलाअफजाई
भी की. पेवेलियन में भारतीय
खिलाड़ियों ने खड़े होकर
तालियां बजाई और अपने इस युवा
साथी का अभिवादन स्वीकार
किया.




न्यूजीलैंड की ओर से बोउल्ट
ने दो जबकि ब्रैसवेल, क्रिस
मार्टिन तथा जीतन पटेल ने
एक-एक विकेट झटका है.
उल्लेखनीय है कि भारतीय टीम
लम्बे समय बाद राहुल द्रविड़
और वी.वी.एस.लक्ष्मण के बगैर
टेस्ट मैच खेल रही है.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story विश्व कप जीतने के लिए सभी 15 खिलाड़ियों का समर्थन चाहिए: पृथ्वी शॉ