पैंतीस के पार सबसे अधिक चला सचिन का बल्ला

By: | Last Updated: Sunday, 13 October 2013 2:01 AM
पैंतीस के पार सबसे अधिक चला सचिन का बल्ला

<p style=”text-align: justify;”>
<b>नई
दिल्ली: </b>किसी भी क्रिकेटर
का 35 साल की उम्र पार करने के
बाद अवसान का दौर शुरू हो
जाता है लेकिन सचिन तेंदुलकर
इस मामले भी अपवाद हैं
क्योंकि इस स्टार बल्लेबाज
ने अपने टेस्ट करियर में
सर्वाधिक रन पिछले पांच
सालों में बनाये जबकि इस बीच
उनके संन्यास को लेकर भी
चर्चाएं होती रही. <br /><br />सोलह
साल की उम्र में टेस्ट
क्रिकेट में पदार्पण करने
वाले तेंदुलकर के करियर को
यदि उनकी उम्र के आधार पर
प्रत्येक पांच साल के पड़ाव
में बांट दिया जाए तो फिर पता
चलता है कि 35 साल पूरे करने के
बाद उन्होंने सर्वाधिक
टेस्ट खेले और तब भी ढेरों रन
बनाये. <br /><br />तेंदुलकर ने 35 बसंत
पूरे करने के बाद 51 टेस्ट मैच
खेले जिनमें उन्होंने 50.06 की
औसत से 4055 रन बनाये. इसमें 12 शतक
और 18 अर्धशतक भी दर्ज हैं.
आंकड़ों की इस कहानी से पता
चलता है कि तेंदुलकर दुनिया
के उन चंद खिलाड़ियों में
शामिल रहे हैं जिन पर उम्र का
ज्यादा असर नहीं दिखा. <br /><br />सबसे
अहम बात यह रही कि इस दौरान
तेंदुलकर कभी शून्य पर आउट
नहीं हुए. वेस्टइंडीज के
खिलाफ नवंबर में होने वाले दो
टेस्ट मैचों के बाद टेस्ट
क्रिकेट को अलविदा कहने वाले
तेंदुलकर की उम्र को आधार पर
मानकर उनके करियर पर गौर किया
जाए तो उनके लिये 31 से 35 साल के
बीच का दौर सबसे कठिन रहा. यह
वही दौर था जब वह टेनिस एल्बो
से जूझ रहे थे. इस बीच दो साल
तक ग्रेग चैपल भी भारतीय टीम
के कोच रहे.<br /><br />इस दौरान
तेंदुलकर ने 24 टेस्ट मैच
विदेशी सरजमीं पर खेले और
उनमें सात शतकों की मदद से 2109
रन बनाये. यह कहा जा सकता है
बांग्लादेश के खिलाफ चार
टेस्ट मैचों में 179.33 की औसत से
538 रन बनाने के कारण इन पांच
सालों में विदेशी दौरों में
तेंदुलकर का आंकड़ा आकषर्क
बना. <br /><br />यही वह दौर था जबकि
तेंदुलकर ने चिर
प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के
खिलाफ 11 टेस्ट मैच खेल और
उनमें 50.92 की औसत से 662 रन बनाये.
तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट
में अपना सर्वश्रेष्ठ औसत 21
से 25 साल और 26 से 30 साल की उम्र
के बीच में निकाला. <br /><br />रिकॉर्डों
के बादशाह को 26 साल की उम्र के
बाद ही पहली बार टेस्ट खेलने
वाले सभी नौ देशों के खिलाफ
मैच खेलने का मौका मिला. इस
बीच उन्होंने 44 टेस्ट मैचों
में 60.84 की औसत और 15 शतक की मदद
से 4259 रन बनाये. यह वही दौर था
जबकि उन्होंने घरेलू सरजमीं
पर खूब रन बटोरे. तें<br /><br />दुलकर
ने इन पांच सालों में 21 टेस्ट
मैच भारत में खेले और 69.51 की
औसत से 2294 रन बनाये. यह अलग बात
है कि इस दौरान उन्होंने
जिम्बाब्वे और न्यूजीलैंड
जैसी टीमों के खिलाफ अपना
सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया
लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ 70.80
औसत शानदार कहा जा सकता है.<br />
</p>

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: पैंतीस के पार सबसे अधिक चला सचिन का बल्ला
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017