फार्म में वापसी के लिये जूझते रहे वीरू और गौती

By: | Last Updated: Wednesday, 30 April 2014 11:47 AM

नई दिल्ली: भारतीय टीम में वापसी की कवायद में लगे वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर के लिये इंडियन प्रीमियर लीग का संयुक्त अरब अमीरात में खेला गया पहला चरण निराशाजनक रहा जहां ये दोनों अधिकतर समय रन बनाने के लिये जूझते रहे.

 

सहवाग ने भारत की तरफ से अपना आखिरी मैच मार्च 2013 में जबकि गंभीर ने जनवरी 2013 में खेला था. इसके बाद इन दोनों को तीनों प्रारूपों में से किसी की टीम में नहीं चुना गया. इन दोनों की नजरें आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करके राष्ट्रीय टीम में वापसी के लिये अपना दावा मजबूत करने पर लगी थी लेकिन पहले चरण की समाप्ति के बाद तो इनकी स्थिति और खराब लगती है.

 

किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ से पारी का आगाज करने वाले वीरेंद्र सहवाग सभी पांच मैचों में खेले जिसमें उन्होंने 24 . 00 की औसत से 120 रन बनाये और उनका उच्चतम स्कोर 37 रन रहा. पहले तीन मैचों में वह शुरू में ही पवेलियन लौट गये. इसके बाद आखिरी तीन मैचों में वह 30 रन तक तो पहुंचे लेकिन बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे. कोलकाता के खिलाफ खेली गयी उनकी 37 रन की पारी हालांकि बाद में निर्णायक साबित हुई थी.

 

गंभीर का प्रदर्शन तो पहले पांच मैचों में बहुत खराब रहा. कोलकाता नाइटराइडर्स के कप्तान ने इन पांच मैचों में 9 . 20 की औसत से 46 रन बनाये. आलम यह था कि पहले तीन मैचों में वह खाता भी नहीं खोल पाये थे जो आईपीएल में नया रिकार्ड है. किंग्स इलेवन के खिलाफ वह एक रन बनाकर आउट हुए जबकि राजस्थान रायल्स के खिलाफ कल उन्हें 45 रन बनाने के लिये काफी संघर्ष करना पड़ा. ये रन उन्होंने 44 गेंद पर बनाये.

 

माना जा रहा था कि गंभीर यूएई में ही यह रिकार्ड अपने नाम कर देंगे लेकिन लगातार असफलता के कारण वह इसकी बराबरी ही कर पाये. उन्होंने राजस्थान रायल्स के खिलाफ कल अपनी पारी में चार चौके लगाकर तेंदुलकर के इस रिकार्ड की बराबरी की. गंभीर ने रणजी ट्राफी में 13 मैचों में 48 . 16 मैचों में 578 रन बनाये थे. इसके बाद लिस्ट ए मैचों में उनका बल्ला नहीं चल पाया था और वह सात मैचों में 120 रन ही बना पाये थे.

 

उन्होंने हालांकि घरेलू टी20 लीग मुश्ताक अली ट्राफी में चार मैच में 162 रन बनाकर आईपीएल के लिये अच्छी तैयारी की थी. जहां तक सहवाग का सवाल है तो आईपीएल में उनका प्रदर्शन उतार चढाव वाला रहा है और पिछले तीन मैचों में 30 या इससे अधिक रन तक पहुंचने से लग रहा है कि वह धीरे धीरे लय हासिल कर रहे हैं.

 

सहवाग भी घरेलू टी20 लीग में चार मैचों में 180 रन बनाकर यूएई गये थे. इससे पहले हालांकि रणजी ट्राफी : 13 मैचों में 234 रन : और लिस्ट ए : दो मैचों में 25 रन : वह अपेक्षित प्रदर्शन नहीं कर पाये थे. इन दोनों बल्लेबाजों को हालांकि भारतीय चरण में वापसी की उम्मीद है. गंभीर ने बाकायदा केकेआर के प्रशंसकों को ट्वीट करके आश्वासन दिया है कि भारतीय चरण में टीम का प्रदर्शन अच्छा रहेगा.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: फार्म में वापसी के लिये जूझते रहे वीरू और गौती
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Cricket IPL 2014
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017