फीफा: वारेला के गोल से पुर्तगाल ने अमेरिका को बराबरी पर रोका

By: | Last Updated: Monday, 23 June 2014 4:17 AM

नई दिल्ली: सिल्वेस्टर वारेला के इंजरी टाइम में हेडर से दागे गोल की बदौलत पुर्तगाल ने अमेरिका को विश्व कप मुकाबले में 2-2 से बराबरी पर रोककर नाक आउट में जगह बनाने की अपनी उम्मीदों को जीवंत रखा है.

 

अमेरिका ने 0-1 से पिछड़ने के बाद दूसरे हाफ में जर्मेन जोन्स और क्लिंट डेम्प्से के गोल की मदद से बढ़त बनाई और एक समय ऐसा लग रहा था कि टीम अंतिम 16 में अपनी जगह सुनिश्चित कर लेगी लेकिन वारेला ने पुर्तगाल को बराबरी दिला दी. इससे पहले मैच का पहला गोल पुर्तगाल की ओर से नैनी ने किया था.

 

वारेला ने मैच समाप्त होने से कुछ सेकेंड पूर्व गोल किया. फीफा के साल के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी कप्तान क्रिस्टियानो रोनाल्डो के क्रास पर वारेला ने अमेरिका के गोलकीपर टिम हावर्ड को छकाते हुए गोल किया. जर्मनी के हाथों 0-4 की शिकस्त झेलने वाले पुर्तगाल की नाकआउट में जगह बनाने की उम्मीद इससे बची हुई हैं.

 

वर्ष 2010 में अंतिम 16 में जगह बनाने वाले अमेरिका और जर्मनी के चार-चार अंक हैं. ये दोनों टीमें गुरूवार को अपने अंतिम मुकाबलों में आमने सामने होंगी. ग्रुप की दो अन्य टीमों घाना और पुर्तगाल का एक एक अंक हैं और ये दोनों टीमों भी अपने अंतिम मुकाबले में गुरूवार को एक दूसरे के खिलाफ खेलेंगी.

 

पुर्तगाल ने मैच में अच्छी शुरूआत की. स्टोक सिटी के ज्योफ कैमरून की गलती से गेंद नैनी के पास पहुंची और मैनचेस्टर यूनाईटेड के इस विंगर ने आसानी से हावर्ड को छकाते हुए अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी. रोनाल्डो ने अमेरिका के तीन खिलाड़ियों को छकाते हुए शानदार मूव बनाया लेकिन फिनिशिंग में चूक गए.

 

पुर्तगाल की चोटों की समस्या इस मैच में भी जारी रही. पहले मैच में चोटिल हुए ह्यूगो अल्मेइडा की जगह मैदान पर उतरे अनुभवी स्ट्राइकर हेल्डर पोस्टीगा सिर्फ 16 मिनट खेलने के बाद चोटिल हो गए. टीम ने पोस्टीगा की जगह एडेर को मैदान पर उतारा.

 

अमेरिका को गोल करने का अच्छा मौका मिला लेकिन टीम के पूर्व कोच बाब ब्रेडली के बेटे माइकल का शानदार शाट क्रास बार के उपर से बाहर निकल गया.

 

मध्यांतर में जब सिर्फ पांच मिनट बचे थे तब जर्मेन जोन्स को मैदान पर ही उपचार कराना पड़ा जिसके बाद उमस और गर्मी को देखते हुए रैफरी ने दोनों टीमों को ड्रिंक्स ब्रेक की इजाजत दे दी.

 

अमेरिका की ओर से 102वां मैच खेल रहे अनुभवी हावर्ड ने अपनी टीम को मैच में बनाए रखा. मध्यांतर से ठीक पहले उन्होंने बेहद करीब से लगाए एडेर के शाट को क्रासबार के उपर से बाहर निकाल दिया.

 

मध्यांतर के बाद अमेरिकी टीम ने हमले तेज किए. दूसरे हाफ के 10वें मिनट में ही ब्रेडली ने शानदार प्रयास किया लेकिन उनका शाट डिफेंडर रिकाडरे कोस्टा के घुटने से टकराकर बाहर चला गया. जोन्स ने इसके बाद 64वें मिनट में बाक्स के ठीक बाहर से दनदनाता हुए शाट लगाते हुए अमेरिका को बराबरी दिला दी जबकि पुर्तगाल के गोलकीपर बेटो देखते रह गए.

 

रोनाल्डो और पुर्तगाल की टीम इस गोल से सकते में आ गई. इसका फायदा उठाते हुए अमेरिका ने कुछ अच्छे मूव बनाए.

 

ब्रेडली का शाट पुर्तगाल के डिफेंडर से टकराकर ग्राहम जुसी के पास पहुंचा जिन्होंने इसे डेम्प्से की ओर सरका दिया. डेम्प्से ने इसके बाद विश्व कप फाइनल्स में अपना चौथा गोल दागते हुए अमेरिका को 2-1 की बढ़त दिलार्ई.

 

अमेरिका की जीत इसके बाद निश्चित लग रही थी लेकिन शनिवार को जिस तरह लियोनल मेस्सी ने आखिरी लम्हों में गोल दागकर ईरान को वंचित किया उसी तरह रोनाल्डो ने भी वारेला को सटीक क्रास दिया जिसे उन्होंने गोल में बदलकर विरोधी टीम का दिल तोड़ दिया.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: फीफा: वारेला के गोल से पुर्तगाल ने अमेरिका को बराबरी पर रोका
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017