बुराइयों से लड़ने के लिये उसका हिस्सा होना जरूरी: राठौड़

By: | Last Updated: Thursday, 12 September 2013 10:37 AM
बुराइयों से लड़ने के लिये उसका हिस्सा होना जरूरी: राठौड़

जयपुर:
पूर्व ओलंपिक रजत पदक विजेता
निशानेबाज और हाल ही में
भारतीय जनता पार्टी में
शामिल हुए राज्यवर्धन सिंह
राठौड़ ने कहा कि व्यवस्था की
बुराइयों से लड़ने के लिये
उसका हिस्सा बनना जरूरी है .

मौजूदा राष्ट्रीय डबलट्रैप
चैम्पियन का मानना है कि
खिलाड़ियों की प्रशासन में
अधिक भूमिका होनी चाहिये .

उन्होंने कहा कि वह भारतीय
राष्ट्रीय राइफल संघ के
खिलाफ सिद्धांतों की लड़ाई
लड़ रहे हैं .

राठौड़ से मिली कानूनी
चुनौती के बाद ही दिल्ली उच्च
न्यायालय ने एनआरएआई चुनाव
को अवैध करार दिया था .

राठौड ने कहा ,‘‘ मेरा मानना
है कि खिलाड़ियों की प्रशासन
में अधिक भूमिका होनी चाहिये
. लोकतांत्रिक ढांचे में
शासितों को भी शासन का हक
होना चाहिये . उन्हें भी
प्रशासन का हिस्सा बनाया
जाना चाहिये .’’

उन्होंने कहा ,‘‘ कोई खेल
संगठन खिलाड़ियों को मजबूत
और एकजुट होते नहीं देखना
चाहता . हमें खेल प्रशासन में
खिलाड़ियों को लाने के जरिये
तलाशने होंगे .’’

उन्होंने कहा ,‘‘ सरकार ने
खिलाड़ियों के आयोग का मेरा
सुझाव स्वीकार कर लिया है .
ऐसे संगठनों से खिलाड़ियों
को प्रशासन में लाने में मदद
मिलेगी .’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: बुराइयों से लड़ने के लिये उसका हिस्सा होना जरूरी: राठौड़
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017