बुराइयों से लड़ने के लिये उसका हिस्सा होना जरूरी: राठौड़

बुराइयों से लड़ने के लिये उसका हिस्सा होना जरूरी: राठौड़

By: | Updated: 12 Sep 2013 10:37 AM


जयपुर:
पूर्व ओलंपिक रजत पदक विजेता
निशानेबाज और हाल ही में
भारतीय जनता पार्टी में
शामिल हुए राज्यवर्धन सिंह
राठौड़ ने कहा कि व्यवस्था की
बुराइयों से लड़ने के लिये
उसका हिस्सा बनना जरूरी है .





मौजूदा राष्ट्रीय डबलट्रैप
चैम्पियन का मानना है कि
खिलाड़ियों की प्रशासन में
अधिक भूमिका होनी चाहिये .





उन्होंने कहा कि वह भारतीय
राष्ट्रीय राइफल संघ के
खिलाफ सिद्धांतों की लड़ाई
लड़ रहे हैं .





राठौड़ से मिली कानूनी
चुनौती के बाद ही दिल्ली उच्च
न्यायालय ने एनआरएआई चुनाव
को अवैध करार दिया था .





राठौड ने कहा ,‘‘ मेरा मानना
है कि खिलाड़ियों की प्रशासन
में अधिक भूमिका होनी चाहिये
. लोकतांत्रिक ढांचे में
शासितों को भी शासन का हक
होना चाहिये . उन्हें भी
प्रशासन का हिस्सा बनाया
जाना चाहिये .’’




उन्होंने कहा ,‘‘ कोई खेल
संगठन खिलाड़ियों को मजबूत
और एकजुट होते नहीं देखना
चाहता . हमें खेल प्रशासन में
खिलाड़ियों को लाने के जरिये
तलाशने होंगे .’’




उन्होंने कहा ,‘‘ सरकार ने
खिलाड़ियों के आयोग का मेरा
सुझाव स्वीकार कर लिया है .
ऐसे संगठनों से खिलाड़ियों
को प्रशासन में लाने में मदद
मिलेगी .’’





फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story SA vs IND T20: रैना ने बहाया पसीना,कुलदीप के खेलने पर संशय के बादल