भारत सोमवार से करेगा हॉकी अभियान की शुरुआत

भारत सोमवार से करेगा हॉकी अभियान की शुरुआत

By: | Updated: 01 Jan 1970 12:00 AM


लंदन: लंदन
ओलम्पिक में भारतीय पुरुष
हॉकी टीम सोमवार को
नीदरलैंड्स के खिलाफ अपना
पहला मुकाबला खेलेगी. भारत को
ग्रुप-ए में रखा गया है.

बीजिंग
ओलम्पिक में क्वालीफाई नहीं
कर पाई भारतीय हॉकी टीम इस
बार अपने नौवें ओलम्पिक
स्वर्ण पदक हासिल करने की
उम्मीदों के साथ लंदन पहुंची
है.

भारत को सेमीफाइनल
में पहुंचने के लिए डच टीम के
अलावा पूर्व चैम्पियन
जर्मनी, कोरिया, न्यूजीलैंड
और बेल्जियम की टीमों से
भिड़ना है. 

भारत ने
नीदरलैंड्स को आखिरी बार
ओलम्पिक में वर्ष 1984 में
हराया था और जर्मनी के खिलाफ
उसे आखिरी ओलम्पिक जीत 1968 में
हासिल हुई थी. 

किवी टीम
भारत के लिए हमेशा से कठिन
प्रतिद्वंद्धी रही है.
कोरिया के साथ मुकाबले में
जहां भारत की जीत और हार के
बराबर अवसर हैं, वहीं
बेल्जियम के खिलाफ उसे अपनी
तेज-तरार हॉकी का प्रदर्शन
करना होगा.

इस बार हॉकी से
भारत को खासी उम्मीदें हैं.
इस वर्ष की शुरुआत में कमजोर
प्रतिद्वंद्धियों के खिलाफ
नई दिल्ली में मिली लगातार
जीत के बूते भारत ने इस बार
ओलम्पिक के लिए क्वालीफाई
किया है.

भारतीय टीम ने
मलेशिया के इपोह में हुए
सुल्तान अलजान शाह कप
टूर्नामेंट में कांस्य पदक
हासिल किया था, जबकि किवी टीम
ने स्वर्ण पदक जीता था.

लेकिन
बाद में लंदन में हुई एक
प्रतियोगिता में
ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी और
ग्रेट ब्रिटेन जैसी बड़ी
टीमों के खिलाफ मिली हार ने
मिली भारत को अपनी तैयार का
सही आंकलन करने के लिए मजबूर
किया था.

वर्ष 2004 में आखिरी
बार ओलम्पिक में खेलने वाले
भारत ने तब से अभी तक केवल तीन
विश्वस्तरीय प्रतियोगिताओं
में हिस्सा लिया है.

वर्ष
2005 में उसने चेन्नई में खेली
गई चैम्यिन्स ट्रॉफी में छठा
स्थान प्राप्त किया था. इसके
बाद उसने वर्ष 2006 और 2010 में हुए
विश्व कप में क्रमश: 11 वां और
आठवां स्थान प्राप्त किया था.





फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story टीम मैनेंजमेंट पर बरसे हरभजन, कहा- श्रीलंका से खेलकर कुछ हासिल नहीं हुआ