मुंबई ने हैदराबाद को सात विकेट से हराया

मुंबई ने हैदराबाद को सात विकेट से हराया

By: | Updated: 01 Jan 1970 12:00 AM

हैदराबाद: मुंबई इंडियंस ने सनराइजर्स हैदराबाद को सात विकेट से हराकर प्ले ऑफ में पहुंचने की अपनी उम्मीद बनाए रखी. मुंबई की जीत में लेंडल सिमन्स और अंबाती रायुडु की अर्धशतकीय पारियों का महत्वपूर्ण योगदान रहा.

 

सनराइजर्स हैदराबाद ने पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाजों की जोड़ी एरोन फिंच (62 गेंद पर 68 रन) और डेविड वार्नर (31 गेंद पर नाबाद 55 रन की पारी) की बदौलत तीन विकेट पर 157 रन बनाये. मुंबई के लिये लेसिथ मालिंगा ने 35 रन देकर दो विकेट लिये.

 

लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई ने 18.4 ओवर में तीन विकेट पर 160 रन बनाकर आसान जीत दर्ज कर ली. उसकी तरफ से सिमन्स ने 50 गेंद पर पांच चौकों और चार छक्कों की मदद से 68 रन बनाये जबकि रायुडु ने 46 गेंद पर 68 रन की पारी खेली जिसमें सात चौके और दो छक्के शामिल थे. इन दोनों ने दूसरे विकेट के लिये 130 रन जोड़े जो मुंबई की तरफ से पिछली 25 पारियों में पहली शतकीय साझेदारी है. मुंबई की यह नौ मैचों में तीसरी जीत है और उसके अब छह अंक हो गये है.

 

सनराइजर्स को पांचवीं हार झेलनी पड़ी हालांकि अब भी वह पांचवें स्थान पर बना हुआ है. डेल स्टेन और भुवनेश्वर कुमार (21 रन देकर दो विकेट) ने शुरूआती चार ओवरों में बेहद कसी हुई गेंदबाजी की लेकिन बाकी गेंदबाज विशेषकर इरफान पठान और अमित मिश्रा फिर से नहीं चल पाये. भुवनेश्वर ने अपने पहले ओवर में इनस्विंगर का खूबसूरत नमूना पेश किया और इस बीच सीएम गौतम (1) को पवेलियन भेजा.

 

पठान पांचवां ओवर करने के लिये आये तो मुंबई के बल्लेबाजों को राहत मिली. सिमन्स ने उन पर मिडविकेट और लांग आन पर छक्के जड़कर हिसाब बराबर किया. पठान के इस ओवर में 16 रन गये.

 

पठान की जगह मिश्रा को गेंद सौंपी गयी तो रायुडु ने छक्का जड़कर उनका स्वागत किया. सिमन्स ने भी खराब फॉर्म में चल रहे इस लेग स्पिनर के अगले ओवर में लांग आन पर छक्का लगाया. कैरेबियाई बल्लेबाज ने इसके बाद दूसरे लेग ब्रेक गेंदबाज कर्ण शर्मा पर चौका और छक्का जमाकर शिखर धवन की परेशानी बढ़ा दी.

 

सिमन्स ने पहले अर्धशतक पूरा किया जिसके लिये उन्होंने 39 गेंद खेली. अगले ओवर में रायुडु 34 गेंद पर 50 रन पर पहुंचे. धवन को फिर से भुवनेश्वर को गेंद सौंपनी पड़ी जिन्होंने सिमन्स को बोल्ड किया. मोएजेस हेनरिक्स ने रायुडु को अपनी ही गेंद पर कैच किया लेकिन तब बहुत देर हो चुकी थी. कप्तान रोहित शर्मा (नाबाद 14) ने स्टेन पर लगातार दो चौके और कर्ण शर्मा पर विजयी चौका जड़ा.

 

इससे पहले मुंबई के गेंदबाजों ने बीच के ओवरों में बल्लेबाजों को खुलकर नहीं खेलने दिया. वार्नर ने आखिरी दो ओवरों में अपने तेवर दिखाये जिनमें सनराइजर्स ने 33 रन जुटाये. वार्नर ने अपनी पारी में छह चौके और दो छक्के लगाये जबकि फिंच की पारी में सात चौके और दो छक्के शामिल हैं.

 

सनराइजर्स 15वें ओवर में 100 रन के पार पहुंचा और इसके बाद अगले तीन ओवरों में भी तेजी से रन नहीं बने. आलम यह था कि इस बीच 19 गेंद तक तक कोई चौका या छक्का नहीं पड़ा जिसकी खीझ बल्लेबाजों के चेहरे पर साफ दिख रही थी. वार्नर ने आखिर में 19वें ओवर में मालिंगा पर दो छक्के जड़कर दर्शकों में उत्साह भरा लेकिन इस बीच फिंच का इस तरह का अधूरा प्रयास कीरोन पोलार्ड ने कैच में तब्दील कर दिया. फिंच और वार्नर ने तीसरे विकेट के लिये 54 गेंदों पर 63 रन की साझेदारी की. वार्नर और नमन ओझा (नाबाद सात) ने पोलार्ड के आखिरी ओवर में 18 रन बटोरे. इनमें ओझा का छक्का और वार्नर के दो चौके शामिल हैं.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story SAvsIND 2nd T20: सलामी जोड़ी के बाद कप्तान कोहली भी लौटे पवेलियन