युवाओं ने सीरीज जीत में अपनी भूमिका साबित की: रैना

By: | Last Updated: Friday, 20 June 2014 10:11 AM
युवाओं ने सीरीज जीत में अपनी भूमिका साबित की: रैना

नई दिल्ली: बांग्लादेश के दौरे के लिए भारतीय टीम के कप्तान सुरेश रैना ने कहा कि इस पड़ोसी देश के खिलाफ श्रृंखला में मिली जीत में स्टुअर्ट बिन्नी और मोहित शर्मा जैसे युवा खिलाड़ियों का प्रभावशाली प्रदर्शन 2015 विश्वकप से पहले टीम इंडिया के लिए शुभ संकेत हैं.

 

भारत की दूसरे दर्जे की टीम ने कल बांग्लादेश के खिलाफ तीन मैचों की श्रृंखला 2-0 से जीत ली. तीसरा मैच कल यहां बारिश के कारण रद्द कर दिया गया.

 

भारत ने तीसरे मैच में एक बार फिर खराब बल्लेबाजी की लेकिन रैना टीम के कुल प्रदर्शन से संतुष्ट दिखे.

 

रैना ने मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह में कहा, ‘‘मैं टीम खासकर स्टुअर्ट बिन्नी को लेकर बहुत खुश हूं जिन्होंने मोहित शर्मा और उमेश यादव के साथ मिलकर बहुत अच्छी गेंदबाजी की. हम अच्छा क्रिकेट खेले, खासकर ऐसे समय जब आपको पता है कि विश्वकप आने वाला है, कई युवा खिलाड़ियों ने अपनी भूमिका साबित की.’’ रैना ने बांग्लादेश के युवा तेज गेंदबाज तसकिन अहमद की भी प्रशंसा की जिन्होंने इसी श्रृंखला में वनडे में पदार्पण किया है.

 

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘जब हम एशिया कप के लिए यहां आए थे तो तसकिन नेट अभ्यास के दौरान हमें गेंदबाजी करते थे, इसलिए उन्हें अच्छा प्रदर्शन करते हुए देखकर बहुत खुशी हुई.’’

 

मैन आफ द सीरीज बिन्नी ने उनकी क्षमताओं में विश्वास करने के लिए कप्तान रैना को धन्यवाद दिया. बिन्नी ने दूसरे वनडे मैच में भारत की ओर से सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन करके अनिल कुंबले का 21 साल पुराना रिकार्ड तोड़ा था. बिन्नी ने कहा, ‘‘मैं यह अवसर देने के लिए अपनी टीम और सुरेश (रैना) को धन्यवाद देना चाहता हूं, और मैंने इसका (अवसर) फायदा उठाया. विकेट बल्लेबाजी के लिए अच्छी नहीं थी, हम यहां युवा टीम के तौर पर आए थे और हमने खुद को साबित किया.’’

 

उन्होंने आज भारत की खराब बल्लेबाजी के बारे में कहा, ‘‘मैं चाहता था कि हम करीब 140 रन का स्कोर बनाएं ताकि हम उन्हें चुनौती देने की स्थिति में हों.’’ भारत ने आज बारिश के कारण 40-40 ओवर का कर दिये गये मैच में 34.2 ओवर में जब नौ विकेट के नुकसान पर 119 रन बनाये थे तब तीसरी बार व्यवधान के कारण खेलना रोकना पड़ा था. इसके बाद आगे खेल नहीं हो पाया था.

 

बांग्लादेश के कप्तान मुशफिकर रहीम ने स्वीकार किया कि लगातार दो हार के बाद खुद को प्रेरित करना मुश्किल काम था.

 

उन्होंने कहा, ‘‘जब जीत हासिल नहीं होती है तो अन्य को प्रेरित करना मुश्किल होता है लेकिन कुछ सकारात्मक पहलू भी हैं और हमारा नया कोचिंग स्टाफ है. हम मिलकर काम करेंगे और सुधार करने का प्रयास करेंगे.’’ रहीम ने कहा, ‘‘विकेट मदद कर रही थी लेकिन फिर भी आपको अच्छी जगहों पर गेंदबाजी करनी होती है इसलिए श्रेय हमारे गेंदबाजों को जाता है खासकर तसकिन और अल अमीन को.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: युवाओं ने सीरीज जीत में अपनी भूमिका साबित की: रैना
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017