वॉटसन और वार्नर के तूफान में उड़ी टीम इंडिया

वॉटसन और वार्नर के तूफान में उड़ी टीम इंडिया

By: | Updated: 28 Sep 2012 08:28 PM


कोलम्बो:
टी-20 विश्वकप के सुपर-8 में
ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया
को रौंद डाला. ऑस्ट्रेलिय़ा ने
जीत के लिए मिले 141 रन का
लक्ष्य सिर्फ एक विकेट खोकर
पा लिया.




टीम इंडिया के बल्लेबाज और
गेंदबाजों दोनों ने
बेड़ागर्क कराया. सेमीफाइनल
में पहुंचने के लिए अब भारत
को अफ्रीका और पाकिस्तान को
हर हाल में हराना होगा.




आईसीसी की ट्वेंटी-20 रैंकिंग
में आस्ट्रेलियाई टीम भले ही
आयरलैंड से भी नीचे नौवें
स्थान पर खिसक गई हो लेकिन
इससे उसके दमखम, जोश और
इरादों पर कोई फर्क नहीं पड़ा
है.




कंगारुओं ने इसका सबसे बड़ा
उदाहरण शुक्रवार को
प्रेमदासा स्टेडियम में
खेले गए ट्वेंटी-20 विश्व कप के
सुपर-8 मुकाबले में रैंकिंग
में तीसरे स्थान पर काबिज
भारत को नौ विकेट से हराकर
दिया.

आस्ट्रेलियाई टीम
की जीत के हीरो रहे हरफनमौला
खिलाड़ी शेन वॉटसन (72) और
डेविड वार्नर (नाबाद 63),
जिन्होंने पहले विकेट के लिए
133 रन जोड़कर भारत को बड़ी हार
के लिए मजबूर किया. इस दौर में
भारत की यह पहली हार है जबकि
आस्ट्रेलियाई टीम अब तक अजेय
बनी हुई है.

भारत ने
आस्ट्रेलिया के सामने 141 रनों
का लक्ष्य रखा था, जिसे उसने
एक विकेट गंवाकर 14.5 ओवरों में
ही हासिल कर लिया. वॉटसन ने
अपनी 42 गेंदों की पारी में दो
चौके और सात छक्के लगाए.
वॉटसन का विकेट 133 रन के कुल
योग पर गिरा. वार्नर ने अपनी
अविजित अर्धशतकीय पारी में 41
गेंदों का सामना करते हुए सात
चौके और तीन छक्के जड़े. 

ग्लेन
मैक्सवेल चार रन बनाकर नाबाद
लौटे. मैन ऑफ द मैच चुने गए
वॉटसन का इस विश्व कप में यह
दूसरा अर्धशतक है. वह इससे
पहले आयरलैंड के खिलाप 51 और
वेस्टइंडीज के खिलाफ नाबाद 41
रन बना चुके हैं. दोनों ही
मैचों में वॉटसन ने अपनी टीम
की जीत में अहम भूमिका अदा की
थी.

यही नहीं, वह गेंद के
साथ कमाल करते हुए अब तक तीन
मैचों में आठ विकेट झटक चुके
हैं. वह इस विश्व कप में अब तक
सबसे अधिक रन, सबसे अधिक
अर्धशतक, सबसे अधिक छक्के तथा
सबसे अधिक मैन ऑफ द मैच पाने
वाले खिलाड़ी हैं.

वॉटसन
और वार्नर की जोड़ी को तोड़ने
के लिए भारतीय कप्तान
महेंद्र सिंह धोनी ने अपने आठ
गेंदबाज आजमाए लेकिन उन्हें
हार सुनिश्चित होने तक सफलता
नहीं मिली क्योंकि वॉटसन और
वार्नर आस्ट्रेलियाई पारी
की पहली ही गेंद के साथ अपनी
टीम को बड़ी जीत दिलाने के
लिए आतुर दिख रहे थे.

धोनी
की रणनीति नाकाम


धोनी की
रणनीति बुरी तरह नाकाम रही
क्योंकि उन्होंने वीरेंद्र
सहवाग को बाहर रखते हुए पांच
गेंदबाजों के साथ मैदान में
उतरने का फैसला किया लेकिन
उनकी टीम न तो बड़ा स्कोर
खड़ा कर सकी और न ही 141 रन जैसी
अपेक्षाकृत औसत स्कोर की
रक्षा कर सकी.

इस तरह पांच
गेंदबाजों को लेकर चलने वाले
धोनी को आठ गेंदबाज आजमाने के
बावजूद जीत नहीं मिली.

इससे
पहले, भारत ने टॉस जीतकर पहले
बल्लेबाजी करते हुए
निर्धारित 20 ओवरों में सात
विकेट पर 140 रन बनाए. भारत की
तरफ से इरफान पठान ने 31 एवं
सुरेश रैना ने 26 रनों का
योगदान दिया.

फुस्स हुए
बल्लेबाज


भारत का कोई
बल्लेबाज टिक कर खेल नहीं
सका. विस्फोटक सलामी
बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग की
अनुपस्थिति में भारतीय
पारी की शुरुआत गौतम गम्भीर
एवं इरफान पठान ने की. गम्भीर
17 के निजी योग पर पैट कुमिंस
के थ्रो पर दुर्भाग्यपूर्ण
ढंग से रन आउट हो गए.

प्रतियोगिता
में शानदार फार्म में चल रहे
विराट कोहली भी 15 रन के निजी
योग कुमिंस की गेंद पर डेनियल
क्रिस्टियन को कैच थमा बैठे.




युवराज सिंह ने आठ रन बनाए.
उन्हें शेन वॉटसन की गेंद पर
ग्लेन मैक्सवेल ने कैच आउट
किया.

इरफान पठान को 31 के
निजी योग पर वॉटसन ने कैमरन
व्हाइट के हाथों आउट कराया.
इसके तुरंत बाद रोहित शर्मा
एक रन के निजी योग पर मिशेल
स्टार्क की गेंद पर बोल्ड हो
गए.

कप्तान महेंद्र सिंह
धौनी 15 के निजी योग पर कुमिंस
की गेंद पर जॉर्ज बेली के
हाथों लपके गए.




इसके बाद रैना ने रन गति तेज
करने की कोशिश में आखिरी ओवर
में शेन वॉटसन की गेंद पर
मैक्सवेल को कैच थमा बैठे.

रविचंद्रन
अश्विन 16 एवं हरभजन सिंह एक रन
पर नाबाद लौटे. आस्ट्रेलिया
की तरफ सबसे सफल गेंदबाज
वॉटसन रहे. उन्होंने तीन
विकेट झटके. कुमिंस को दो एवं
स्टार्क को एक विकेट मिला.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story SAvsIND: लगातार 9 टेस्ट सीरीज जीतने के बाद कप्तान कोहली का उड़ने लगा है मजाक