श्रीनिवासन के दामाद मयप्पन से नहीं हो सकी पूछताछ

By: | Last Updated: Thursday, 23 May 2013 12:22 AM
श्रीनिवासन के दामाद मयप्पन से नहीं हो सकी पूछताछ

मुंबई: स्पॉट फिक्सिंग
की आंच क्रिकेट के सबसे बड़े
बॉस के घर तक पहुंचने के बाद
जब मुंबई पुलिस बीसीसीआई के
अध्यक्ष एन श्रीनिवासन के
दामाद गुरुनाथ मयप्पन के
चेन्नई स्थित घर गई तो वे
अपने घर पर नहीं थे.

मुंबई पुलिस विंदु दारा सिंह
और गुरुनाथ मयप्पन के
रिश्तों को लेकर उनसे पूछताछ
करना चाहती थी.

विंदु दारा सिंह की
गिरफ्तारी के बाद मयप्पन का
नाम सामने आया है. जिसके बाद
बड़ा सवाल ये है कि क्या
फिक्सिंग में मालिक भी शामिल
हैं?

मुंबई पुलिस के मुताबिक इसके
अलावा विंदू दारा सिंह ने
फिल्मी सितारों के नाम लिए
है.

फिक्सिंग के फंदे में टीम
मालिक का रिश्तेदार

स्पॉट फिक्सिंग में अब तक
खिलाड़ी और बुकीज का नाम ही
सामने आ रहा था लेकिन इस
मामले में एक आईपीएल टीम के
मालिक के एक रिश्तेदार की ओर
अंगुली उठी है, जो श्रीनिवास
के दामाद निकले हैं. वह
चेन्नई सुपर किंग्स के
प्रिंसिपल सेक्रेट्री हैं.

विंदु के मोबाइल कॉल डिटेल्स
से साफ हुआ है कि विंदु अक्सर
गुरुनाथ मयप्पन से बात करता
था और फोन करने के फौरन बाद
बुकी रमेश व्यास को फोन करता
था.

गुरुनाथ मयप्पन और बुकी को
बारी-बारी से फोन करने का ये
सिलसिला कॉल रिकॉर्ड में कई
बार दर्ज हुआ है.

सूत्रों से मिली जानकारी के
मुताबिक पंद्रह मई को विंदु
दारा सिंह और गुरुनाथ मयप्पन
के बीच फोन पर बात हुई थी. इसी
दिन विंदु की मुलाकात दो
सट्टेबाजों- जुपिटर और  संजय
जयपुर से हुई थी.

पुलिस को शक है कि संजय जयपुर
से दुबई भाग गया है और उसे
भगाने में विंदु ने मदद की है.

विंदू दारा सिंह का नाम आया
कैसे?

आईपीएल मैचों
में चल रही स्पॉट फ़िक्सिंग
के काले धंधे की परतें खुलनी
शुरू हुई थीं राजस्थान
रॉयल्स के तीन खिलाड़ियों की
गिरफ्तारी के बाद. 16 मई को
दिल्ली पुलिस ने आईपीएल खेल
रहे श्रीशांत , अजीत चंदीला
और अंकित चव्हाण को गिरफ्तार
किया था. इन तीनों पर आरोप है
कि इन्होंने पैसे लेकर
फिक्सरों के इशारों पर खेल
खेला.

पुलिस ने जब इनसे पूछताछ की
तो कुछ और नाम सामने आए. 18 मई को
मुंबई पुलिस ने बताया कि उसके
हाथ रमेश व्यास 14 मई को ही लग
चुका था. मुंबई पुलिस का दावा
है कि उसने रमेश व्यास के पास
से 92 मोबाइल फोन, 18 सिमकार्ड
बरामद किए थे. पुलिस का आरोप
है कि रमेश व्यास उन फिक्सरों
में लगातार संपंर्क में था जो
मैच में फ़िक्सिंग का खेल खेल
रहे थे.

यही रमेश व्यास वजह बना
अभिनेता विंदू दारा सिंह की
गिरफ्तारी की. रमेश व्यास से
पूछताछ में पुलिस के सामने
विंदु का नाम आया. मुंबई
पुलिस का दावा है कि विंदु
ग्लैमर सर्कल में अपनी पहचान
का फायदा उठा कर क्रिकेटर्स
के बीच पहुंच जाते थे और उनसे
कुछ मैच से जुड़ी सूचनाएं
निकाल कर बुकीज तक पहुंचाया
करते थे.

वैसे इंटरनेट पर मौजूद कुछ
तस्वीरें उनकी क्रिकेटर्स
से दोस्ती की तरफ इशारा भी
करती हैं. तस्वीरों से साबित
होता है कि बिंदू दारा सिंह
की किस तरह क्रिकेटर्स के बीच
जान पहचान थी.

अब पुलिस ये जानने की कोशिश
कर रही है कि आखिर बिंदु दारा
सिंह ने इस जान पहचान का
फायदा उठा कर आखिर कब –कब
सट्टेबाज़ों को फायदा
पहुंचाया.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: श्रीनिवासन के दामाद मयप्पन से नहीं हो सकी पूछताछ
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017