सचिन के लिए संन्‍यास लेने का का यही सही समय है?

सचिन के लिए संन्‍यास लेने का का यही सही समय है?

By: | Updated: 05 Dec 2012 10:10 PM


कोलकाता:
कोलकाता टेस्ट का आज दूसरा
दिन है. मैच में अब तक की सबसे
अच्छी बात ये है कि 11 महीने
बाद सचिन तेंडुलकर का बल्ला
बोला.

सचिन 76 रन बनाकर आउट
हुए. सवाल ये है कि क्या सचिन
के संन्यास लेने का सही समय
यही है?

खराब फॉर्म से जूझ
रहे सचिन तेंडुलकर ने
आखिरकार 11 महीने बाद टेस्ट
में अर्धशतक लगा ही दिया.
जनवरी के बाद सचिन के पहले
अर्धशतक का जश्न स्टेडियम से
लेकर ड्रेसिंग रूम तक मना.

सचिन
ने 155 गेंद पर 13 चौके की मदद से 76
रन बनाए. ये सचिन के करियर का
66वां अर्धशतक है. छह टेस्ट मैच
और 10 पारियों के बाद सचिन के
बल्ले से हाफ सेंचुरी निकली
है.

सचिन ने ईडन गार्डन्स
की पिच पर 76 रन बनाए. इस पारी के
बाद सचिन ने भी राहत की सांस
ली होगी.

लेकिन जब सचिन
बल्लेबाजी के लिए आए तो साफ
लग रहा था कि वो खुलकर नहीं
खेल पा रहे हैं. पनेसर से लेकर
एंडरसन तक हर गेंदबाज ने सचिन
को परेशान किया.

तो क्या
ये सचिन के लिए सम्मानजनक
तरीके से संन्यास लेने का सही
समय है?

हर खिलाड़ी एक
शानदार पारी खेलकर क्रिकेट
को अलविदा कहना चाहता है. 11
महीने से सचिन के बल्ले से
अर्धशतक भी नहीं बन रहा था,
ऐसे में सचिन के पास हाफ
सेंचुरी जमाकर क्रिकेट को
अलविदा कहने का ये सुनहरा
मौका है.

सचिन की उम्र 39
साल की हो गई है. वो 23 साल से
क्रिकेट खेल रहे हैं. अगले
साल अप्रैल में वो 40 साल के हो
जाएंगे.

पिछली कई पारियों
में उम्र उनपर हावी होती
दिखी, जब सचिन के पैर नहीं चले
और लगातार क्लीन बोल्ड हो गए.
पिछले पांच टेस्ट में सचिन
चार बार क्लीन बोल्ड हुए हैं.

पिछले
एक साल में खराब फॉर्म से जूझ
रहे सचिन विज्ञापन की दुनिया
से भी गायब होते जा रहे हैं.

अंग्रेजी
अखबार इकनॉमिक टाइम्स ने कुछ
दिन पहले बताया था कि सचिन के
साथ जिन 17 ब्रांड का करार है
उनमें से ज्यादातर कंपनियां
अपना करार नहीं बढ़ाना चाहती
हैं.

इकनॉमिक टाइम्स ने
आज जो खबर छापी है उसके
मुताबिक सचिन के कई विज्ञापन
टीवी पर पिछले छह महीने से
नहीं दिख रहे हैं.

इकनॉमिक
टाइम्स के मुताबिक अवीवा
लाइफ इंश्योरेंस के
विज्ञापन में सचिन आखिरी बार
इस साल मार्च में दिखे थे.
एडिडास के विज्ञापन में सचिन
मई के बाद नहीं दिखे हैं.

वहीं
सचिन कोका कोला का विज्ञापन
टीवी पर जून 2012 में आखिरी बार
दिखा था. इसके अलावा कैनन इस
साल करार खत्म होने के बाद
सचिन के साथ आगे करार नहीं
करना चाहता.

ये सारी वजह
बताने के लिए काफी हैं कि
सचिन जैसे महान खिलाड़ी की
विदाई का वक्त आ चुका है
फैसला सचिन को करना है कि वो
कैसी विदाई चाहते हैं.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story विश्व कप जीतने के लिए सभी 15 खिलाड़ियों का समर्थन चाहिए: पृथ्वी शॉ