सचिन के विदाई जश्न से अछूता रहा शिवाजी पार्क, आजाद मैदान

By: | Last Updated: Thursday, 14 November 2013 10:08 AM
सचिन के विदाई जश्न से अछूता रहा शिवाजी पार्क, आजाद मैदान

<p style=”text-align: justify;”>
<b>मुंबई:</b>
महान बल्लेबाज सचिन
तेंदुलकर ने मुंबई के जिस
शिवाजी पार्क में क्रिकेट का
ककहरा सीखा वहां गुरुवार को
सचिन की विदाई टेस्ट का कोई
असर नहीं दिखा, और रोजाना
जैसी हलचल ही रही. कुछ ऐसा ही
हाल आजाद मैदान का भी रहा.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
गुरुवार को शिया मुस्लिमों
के पर्व मोहर्रम के कारण भी
मुंबई के इन दोनों
स्टेडियमों में सामान्य से
भी कम हलचल रही.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
चारों तरफ जहां सचिन की विदाई
टेस्ट की चर्चा है, वहीं आजाद
मैदान पर क्रिकेट की बातें
सुनने को मिलीं.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
दादर स्थित शिवाजी पार्क में
ही तेंदुलकर क्रिकेट की
बारीकियां सीखते हुए बड़े
हुए, लेकिन गुरुवार को यहां
सचिन का कोई प्रभाव नहीं दिखा
और वहां सामान्य गतिविधि के
तहत चार मैच चलते रहे, जबकि
उसी समय शहर के दूसरे हिस्से
में वानखेड़े स्टेडियम में
सचिन को उनके विदाई टेस्ट मैच
से पहले सम्मानित किया जा रहा
था.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
दो दिन पहले तक कल्पना मुरकर
शिवाजी पार्क में उसी तरह
बच्चों को क्रिकेट के गुर
सिखा रही थीं, जैसे उनके पिता
रमाकांत अचरेकर कभी सचिन को
सिखाया करते थे. अचरेकर ने
दशकों तक यहां बच्चों को
क्रिकेट का प्रशिक्षण दिया
है.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
नौकरीपेशा क्रिकेटर छुट्टी
के दिन प्रतिस्पर्धी मैच
खेलने में व्यस्त थे. एक मैच
में बीएमसी और नानावती की
टीमें आमने-सामने थीं, तो
दूसरे मैच में निर्लान की
टीम, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
का मुकाबला कर रही थी. वहीं
कुछ खिलाड़ी ईयरप्लग लगाए
अपने मैच की बारी का इंतजार
कर रहे थे.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
बीएमसी के लिए खेल रहे विशाल
पाठक ने बताया, “शिवाजी पार्क
पर क्रिकेट कभी बंद नहीं
होता. यहां क्रिकेट हमेशा
चलता रहता है और इससे भी कोई
फर्क नहीं पड़ता कि कौन
संन्यास ले रहा है. यहां तक कि
तेंदुलकर भी नहीं चाहेंगे कि
इस मैदान पर क्रिकेट एक दिन
के लिए भी न खेली जाए.”
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
यूबीआई के लिए खेल रहे 41
वर्षीय राकेश शाह के लिए
शिवाजी पार्क इस शहर की धड़कन
के समान है.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
शाह ने कहा, “जीवन चलते रहने का
नाम है. शिवाजी पार्क पर
प्रतिदिन आने वाले
खिलाड़ियों को उम्मीद है कि
इसी मैदान से देश को अगला
तेंदुलकर भी मिलेगा.”<br />
</p>

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: सचिन के विदाई जश्न से अछूता रहा शिवाजी पार्क, आजाद मैदान
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ???? ???????? ??????? putappa pati
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017