सचिन के 'सौ शतक' ने राज का नाम दर्ज कराया 'लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड' में

By: | Last Updated: Saturday, 3 May 2014 2:18 AM

नई दिल्लीः सचिन रमेश तेंदुलकर क्रिकेट जगत का वो सितारा है जिसके लिए हर कोई कुछ न कुछ करना चाहता है. यूं तो तेंदुलकर को चाहने वालों ने कई अनोखे काम किए लेकिन भूवनेश्वर के राज किशोर महनता की कहानी कुछ अलग है.

 

सचिन के प्रति लगाव के कारण राज अब लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करवा चुके हैं. इनका काम ही कुछ ऐसा था कि इनको अपने काम के लिए भारत सरकार और रिजर्व बैंक पर निर्भर होना पड़ा था. लेकिन मेहनत के बाद अब इनका नाम सुनहरे अक्षरों में दर्ज हो चुका है.

 

क्या है ‘राज’

 

बीस साल के राज सचिन के बहुत बड़े फैन्स में से एक हैं. इनके पास सचिन के ‘शतकों का शतक’ है वो भी 10 रु के नोट पर. सचिन ने जब क्रिकेट को अलविदा कहने की बात कही तो हर कोई सचिन के लिए कुछ करना चाहता था और राज भी उनमें से एक थे.

 

राज ने 10 रु के 100 नोट कलेक्ट किए जिस पर सचिन के शतक की तारीख अंकित थी. जब उन्हें इस बात की जानकारी हुई कि ऐसा खास काम किसी ने नहीं किया है तब इन्होंने लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड से कॉन्टैक्ट किया और उनका नाम रिकॉर्ड बुक में दर्ज हो गया.

 

कैसे किया ये काम

 

अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर ये काम हुआ कैसे ? नोट पर तारिख तो नहीं होते? लेकिन नोट के दाहिने तरफ ऊपर में जो नोट का नंबर होता है उसे राज ने तारिख की तरह माना और ये सिलसिला तब तक चलता रहा है जब तक सचिन के शतकों का शतक 10 रु के नोट पर पूरा न हो गया.

 

जैसे – 090890 ये वो नंबर है जब सचिन ने अतंरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना पहला शतक लगाया था. ठीक इसी तरह राज के पास वो सारी तारीख नोट पर मौजूद हैं जब सचिन ने शतक लगाया था.

 

इस अनोखे काम को करने में राज को 8 महीने लगे और इन आठ महीनों में राज ने 45 बैंकों के चक्कर काटे. 

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: सचिन के ‘सौ शतक’ ने राज का नाम दर्ज कराया ‘लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड’ में
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ???? ???? ????????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017