'सचिन को भारत रत्न देने का फैसला 2 दिन में हो गया लेकिन मेजर ध्यानचंद के नाम पर बरसों कोई फैसला नहीं'

By: | Last Updated: Tuesday, 11 March 2014 1:39 PM

जालंधर: अर्जुन पुरस्कार ठुकराने वाले देश के मशहूर एथलीट मिल्खा सिंह ने देश की खेल नीति पर गंभीर सवाल उठाए हैं. मिल्खा सिंह ने कहा कि सचिन तेंदुलकर को भारत रत्न देने का फैसला दो दिन में हो गया, लेकिन मेजर ध्यानचंद के नाम पर बरसों भी कोई फैसला नहीं हो पाता.

 

फौजा सिंह का उदाहरण देते हुए मिल्खा सिंह ने कहा कि 100 साल से अधिक उम्र में सामान्य आदमी चल नहीं पाता और वो शख्स मैराथन में दौड़ता है. मिल्खा ने कहा कि यदि वह प्रधानमंत्री होते तो फौजा सिंह को सबसे पहले भारत रत्न से सम्मानित करते.

 

फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह ने अर्जुन पुरस्कारों को देने के तौर-तरीकों पर भी सवाल उठाए. उन्होंने कहा, “अर्जुन पुरस्कार  प्रसाद की तरह बांटे जा रहे हैं. जो मंत्रालय के चक्कर लगाता है, वही पुरस्कार पाता है.”

 

पद्मश्री मिल्खा सिंह ने कहा कि वो राष्ट्रीय खेल नीति खासकर, पुरस्कारों के चयन पर पहले भी सवाल उठाते रहे हैं और आगे भी वो गलत नीतियों की आलोचना करते रहेंगे.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ‘सचिन को भारत रत्न देने का फैसला 2 दिन में हो गया लेकिन मेजर ध्यानचंद के नाम पर बरसों कोई फैसला नहीं’
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

टेनिस: सिनसिनाटी ओपन के क्वार्टर फाइनल में कोंटा
टेनिस: सिनसिनाटी ओपन के क्वार्टर फाइनल में कोंटा

बासिल: ब्रिटेन की स्टार महिला टेनिस खिलाड़ी योहाना कोंटा ने सिनसिनाटी ओपन टेनिस टूर्नामेंट के...

ENGvsWI: कुक और रूट के शतकों से पहले दिन इंग्लैंड मजूबत
ENGvsWI: कुक और रूट के शतकों से पहले दिन इंग्लैंड मजूबत

बर्मिंघम: पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक और मौजूदा कप्तान जो रूट की शानदार शतकों की मदद से...

श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले धोनी ने नेट्स में दिखाया दम
श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले धोनी ने नेट्स में दिखाया दम

दाम्बुला: 20 अगस्त को श्रीलंका के खिलाफ शुरु...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017