समलैंगिकता संबंधी फैसले पर मंत्रियों की टिप्पणियों से नाराज है सुप्रीम कोर्ट

By: | Last Updated: Saturday, 4 January 2014 3:28 AM

नई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय ने समलैंगिकता पर सुनाये गये फैसले के खिलाफ कानून मंत्री कपिल सिब्बल सहित कुछ केन्द्रीय मंत्रियों की टिप्पणियों पर आज ‘अप्रसन्नता’ व्यक्त करते हुये कहा कि ये ‘अनुचित’ और ‘अच्छे भाव में नहीं’ थीं. न्यायालय ने इसके साथ ही उन्हें भविष्य में ऐसा करने के प्रति आगाह किया है.

 

इन मंत्रियों के खिलाफ कार्रवाई के लिये दायर जनहित याचिका के साथ संलग्न बयानों के अवलोकन के बाद अप्रसन्न नजर आ रही प्रधान न्यायाधीश पी सदाशिवम की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने कहा कि फैसले के खिलाफ की गयी टिप्पणियां ‘सराहनीय नहीं’ हैं.

 

न्यायाधीशों ने कहा, ‘‘हम सहमत हैं कि कुछ बयान तो अच्छे नहीं हैं. वे उच्च पदों पर हैं और उनके पास जिम्मेदारी है. उन्हें बयान देते समय सावधानी बरतनी चाहिए.’’ कानून मंत्री कपिल सिब्बल, वित्त मंत्री पी चिदंबरम, राज्य मंत्री मिलिन्द देवड़ा और जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला की टिप्पणियों के अवलोकन के बाद न्यायाधीशों ने कहा, ‘‘उन्होंने बहुत ही हल्के तरीके से बयान दिये हैं. हम इसे अनुचित टिप्पणियां मानते हैं.’’ न्यायाधीशों ने कहा कि वित्त मंत्री का बयान बहुत अधिक आपत्तिजनक नहीं है लेकिन अन्य लोगों की कुछ टिप्पणियां अच्छे भाव में नहीं थीं.

 

इसके बावजूद न्यायालय ने इन नेताओं के खिलाफ कोई भी आदेश देने से इंकार कर दिया. इन सभी नेताओं को इस मामले में व्यक्तिगत रूप से पक्षकार बनाया गया है.

 

न्यायाधीशों ने कहा, ‘‘अपनी अप्रसन्नता जाहिर करने के अलावा हम कुछ नहीं कर सकते हैं. हालांकि ये बयान सराहनीय नहीं है, हम याचिका पर विचार नहीं कर रहे हैं.

 

यह जनहित याचिका दिल्ली निवासी पुरूषोत्तम मुल्लोली ने दायर की थी. इसमें कथित रूप से अपमानजनक टिप्पणियां करने वाले मंत्रियों को हटाने का अनुरोध किया गया था.

याचिकाकर्ता के वकील एच पी शर्मा ने दलील दी कि इन मंत्रियों के बयान शीर्ष अदालत द्वारा प्रतिपादित व्यवस्था का उल्लंघन हैं और इसके लिये उनके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए. याचिका में कहा गया था कि केन्द्र इसमें पक्षकार था और उसे कानून में संशोधन करने का अधिकार है लेकिन यह विवाद शीर्ष अदालत में आया तो मंत्रियों और मुख्यमंत्री का यह कर्तव्य है कि अपमानजनक तरीके से निर्णय पर हमला बोलने की बजाय उसका सम्मान किया जाये.

 

याचिका में कहा गया था कि मंत्रियों ने संविधान की अनुसूची-तीन के तहत ली गयी शपथ का उल्लंघन किया है. इसलिए उनकी नियुक्ति असंवैधानिक और गैरकानूनी है.

 

शीर्ष अदालत ने समलैंगिक यौनाचार को अपराध के दायरे से बाहर करने संबंधी दिल्ली उच्च न्यायालय का 2 जुलाई, 2009 का निर्णय निरस्त करते हुये 11 दिसंबर को कहा था कि भारतीय दंड संहिता की धारा 377 संवैधानिक है और इसमें किसी प्रकार की त्रुटि नहीं है.

 

न्यायालय के इस निर्णय का देश भर में विरोध हुआ और मं़ित्रयों सहित समाज के विभिन्न वर्गो के लोगों ने इसकी आलोचना की थी.

 

इसके बाद केन्द्र सरकार और समलैंगिक अधिकारों के कार्यकर्ताओं ने इस निर्णय पर पुनर्विचार के लिये शीर्ष अदालत में याचिका दायर कर रखी है.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: समलैंगिकता संबंधी फैसले पर मंत्रियों की टिप्पणियों से नाराज है सुप्रीम कोर्ट
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

'यो-यो' से हारे टीम इंडिया के युवराज
'यो-यो' से हारे टीम इंडिया के युवराज

नई दिल्ली: कैंसर को मात देकर क्रिकेट के मैदान पर वापसी करने वाले टीम इंडिया के सिक्सर किंग...

उमर अकमल ने पाक टीम के कोच मिकी आर्थर पर लगाया बदसलूकी का आरोप
उमर अकमल ने पाक टीम के कोच मिकी आर्थर पर लगाया बदसलूकी का आरोप

कराची: पाकिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाड़ी उमर अकमल ने दावा किया कि टीम के मुख्य कोच मिकी आर्थर ने...

अंडर-19 वर्ल्डकप शेड्यूल का ऐलान, टीम इंडिया की पहली भिड़ंत ऑस्ट्रेलिया से
अंडर-19 वर्ल्डकप शेड्यूल का ऐलान, टीम इंडिया की पहली भिड़ंत ऑस्ट्रेलिया से

Photo: Twitter दुबई: अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने गुरुवार को अंडर-19 विश्व कप क्रिकेट...

पीसीबी को आईसीसी से सुरक्षा मुद्दे पर हरी झंडी मिलने की उम्मीद
पीसीबी को आईसीसी से सुरक्षा मुद्दे पर हरी झंडी मिलने की उम्मीद

कराची: पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को...

अपने पिता को थैंक्स बोलते हुए हार्दिक पांड्या ने दिया 'सरप्राइज़ गिफ्ट'
अपने पिता को थैंक्स बोलते हुए हार्दिक पांड्या ने दिया 'सरप्राइज़ गिफ्ट'

नई दिल्ली: चैम्पियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान के खिलाफ दमदार पारी के बाद श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट...

शमी ने कहा, 'शानदार प्रदर्शन और लय को आगे भी रखेंगे जारी'
शमी ने कहा, 'शानदार प्रदर्शन और लय को आगे भी रखेंगे जारी'

कोलकाता: श्रीलंका के खिलाफ 3-0 के ऐतिहासिक क्लीनस्वीप से उत्साहित तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने...

इंग्लैंड के खिलाफ इंडिया अंडर-19 टीम ने 5-0 से क्लीनस्वीप कर रचा इतिहास
इंग्लैंड के खिलाफ इंडिया अंडर-19 टीम ने 5-0 से क्लीनस्वीप कर रचा इतिहास

नई दिल्ली: भारत की अंडर-19 टीम ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए पांचवें और अंतिम युवा...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017