सेमीफाइनल से पहले मिश्रा और अश्विन के खिलाफ रणनीति बनाने में लगा दक्षिण अफ्रीका

सेमीफाइनल से पहले मिश्रा और अश्विन के खिलाफ रणनीति बनाने में लगा दक्षिण अफ्रीका

By: | Updated: 02 Apr 2014 04:37 AM

मीरपुर: टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल में भारत से भिड़ने से पहले दक्षिण अफ्रीकी टीम फिरकी गेंदबाजों को लेकर चिंतित हैं और अमित मिश्रा-आर अश्विन की स्पिन जोड़ी से निबटने के लिये अच्छी रणनीति तैयार करने में लग गई है.

 

दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज जे पी डुमिनी ने कहा कि भारतीय स्पिनरों के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करना बड़ी चुनौती होगी. डुमिनी ने बीसीबी अकादमी नेट्स पर टीम के अभ्यास सत्र के बाद कहा, ‘‘उनके स्पिनर बहुत अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं. हम उनके स्पिनरों के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करना चाहते हैं. यह विश्व कप का सेमीफाइनल है और यह बहुत बड़ा मैच है. ’’

 

श्रीलंका के खिलाफ 39 और न्यूजीलैंड के खिलाफ 86 रन बनाने वाले डुमिनी को आईपीएल टीम सनराइजर्स हैदराबाद की तरफ से मिश्रा के साथ खेलने का अनुभव है. बायें हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा कि मिश्रा को खेलने के अनुभव से निश्चित रूप से मदद मिलेगी लेकिन तब भी काम आसान नहीं है. उन्होंने कहा, ‘‘केवल मैं ही उसके (मिश्रा) खिलाफ नहीं खेला हूं बल्कि कुछ अन्य खिलाड़ी भी हैं जो उसके खिलाफ खेल चुके हैं.

 

आप जानते हो कि मिश्रा क्या कर सकता है. वह अभी बहुत अच्छी फार्म में है और निश्चित तौर पर हम उसे हल्के से नहीं लेंगे. हम अपना होमवर्क करेंगे और देखेंगे कि क्या हमारी रणनीति सही थी. ’’ दक्षिण अफ्रीका के कार्यवाहक कप्तान एबी डिविलियर्स भी अच्छी फार्म में हैं लेकिन डुमिनी का मानना है कि सेमीफाइनल एक नया दिन होगा.

 

उन्होंने कहा, ‘‘हम पिछले कुछ मैचों में सफल रहे हैं लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम फिर से सफल रहेंगे. हम जानते हैं कि उनके स्पिनरों की भूमिका अहम होगी. ’’ डुमिनी ने इसके साथ ही स्वीकार किया कि भारत ने अपने लीग मैच मीरपुर खेले हैं और वहां की परिस्थितियों से वाकिफ होने का उसे फायदा मिलेगा लेकिन इसका परिणाम पर बहुत अधिक असर पड़ेगा वह ऐसा नहीं मानते. उन्होंने कहा, ‘‘परिस्थितियों से वाकिफ होने का उन्हें थोड़ा फायदा मिलेगा लेकिन यह नया मैच होगा. यह मायने नहीं रखता कि इस टूर्नामेंट में आप किन परिस्थितियों से होकर गुजरे हैं.

 

निश्चित तौर पर लगातार जीत दर्ज करने से आपका आत्मविश्वास बढ़ता है लेकिन जो भी टीम बेहतर खेलेगी वह जीत दर्ज करेगी.’’ दक्षिण अफ्रीका ने लीग चरण में अपने आखिरी तीन मैच 1, 6, और 3 रन के अंतर से जीते है लेकिन डुमिनी का मानना है कि हार की परिस्थिति में होने पर जीत दर्ज करना भी कला है. उन्होंने कहा, ‘‘इन मैचों से हमारा काफी मनोबल बढ़ा है. इनमें से दो मैचों में हम जीत की स्थिति में नहीं थे. ऐसे मैचों में जीत दर्ज करने से काफी आत्मविश्वास बढ़ता है. ’’

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story BLOG: विराट कोहली के लिए क्या है टी-20 सीरीज में जीत का फॉर्मूला