वापसी के बाद खोया विश्वास फिर हासिल करना प्राथमिकता: अशरफुल

By: | Last Updated: Friday, 4 March 2016 1:27 PM

मीरपुर: बांग्लादेशी टीम एशिया कप फाइनल में जब रविवार को भारत से खेलेगी तो मैच फिक्सिंग मामले में प्रतिबंध झेल रहे प्रतिभाशाली क्रिकेटर मोहम्मद अशरफुल को मलाल रहेगा कि अगर उनका ईमान नहीं डोला होता तो वह भी मैदान पर होते.

बांग्लादेश प्रीमियर लीग में फिक्सिंग के दोषी पाये गए अशरफुल इस साल 13 अगस्त को घरेलू क्रिकेट में लौट सकते हैं.

उन्होंने प्रेस ट्रस्ट से बातचीत में कहा ,‘‘ मेरे लिये यह बहुत आसान नहीं होगा. 13 अगस्त को मेरा प्रतिबंध खत्म होगा जिसके बाद नयी जंग शुरू होगी. मुझे लोगों का विश्वास फिर जीतना है. मैं खुश हूं कि कम से कम क्लब क्रिकेट खेल सकूंगा. उम्मीद है कि ढाका मेट्रोपोलिटन के लिये प्रथम श्रेणी क्रिकेट फिर खेल सकूंगा.’’ उन्होंने स्वीकार किया कि टीम में वापसी करने पर विश्वास फिर हासिल करना बड़ा मसला होगा.

उन्होंने कहा ,‘‘ मुझे कोई शक नहीं है कि वापसी के बाद मुझ पर इतनी आसानी से भरोसा नहीं होगा. ड्रेसिंग रूम मेरा खुलकर स्वागत नहीं करेगा. मैने गलती की है और मुझे वह भरोसा फिर जीतना होगा.’’ अशरफुल ने कहा ,‘‘ मुझे सब्र से काम लेना होगा. मैने गलतियां की है. यदि वे मुझे पर भरोसा नहीं करते तो गलत नहीं हैं.’’ यह पूछने पर कि क्या टी20 अकेला प्रारूप है जिसमें वह वापसी कर सकते हैं, 32 बरस के इस क्रिकेटर ने कहा ,‘‘ मुझे लगता है कि मैं तीनों प्रारूप में खेल सकता हूं. उम्र मेरे साथ नहीं है लेकिन घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करने से मदद मिलेगी. मोहम्मद आमिर की सफल वापसी से मेरी उम्मीदें जगी है.’’

अशरफुल ने कहा ,‘‘ जब आपने कोई गलती की होती है तो आपके जेहन में हमेशा वह रहता है. यदि मैं आरोपों को खारिज भी कर देता तो कभी ना नहीं पकड़ा जाता.’’ उन्होंने कहा ,‘‘ मुझे डर लगता था कि लोग मुझसे इतना प्यार करते हैं , वे मेरी गलतियों का पता दूसरों से चलने पर कहीं नफरत नहीं करने लगे. इसमें काफी हिम्मत चाहिये लेकिन मैं चाहता था कि मैं खुद उन्हें इसके बारे में बताउं. मुझे पता था कि इसके क्या परिणाम होंगे लेकिन यह तो होना ही था.’’ यह पूछने पर कि ये ढाई साल उनके लिये कैसे रहे, अशरफुल ने कहा ,‘‘ मेरे अपने दोस्त हैं जो हमेशा मेरे साथ थे. इस कठिन दौर में भी उन्होंने मेरा साथ नहीं छोड़ा. मेरी अभी शादी हुई है और पत्नी ने भी मेरा साथ दिया. जहां तक आजीविका का सवाल है तो मेरा एक रेस्त्रां है. मैने कभी नौकरी नहीं की लेकिन जो भी कमाई रेस्त्रां से होती है, मैं उससे खुश हूं.’’

 

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: वापसी के बाद खोया विश्वास फिर हासिल करना प्राथमिकता: अशरफुल
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017