एबीपी न्यूज की पड़ताल: दिल्ली में सिर्फ पैसे से नहीं बनते क्रिकेटर

By: | Last Updated: Thursday, 24 December 2015 7:52 PM
ddca scam

नई दिल्लीः पहले बीजेपी सांसद कीर्ति आजाद ने दिल्ली में क्रिकेट को संभालने वाली संस्था डीडीसीए पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा उसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी आरोप लगाया कि दिल्ली के क्रिकेट में सिर्फ पैसे और सिफारिश का बोलबाला है, इन आरोपों के बीच एबीपी न्यूज ने पड़ताल की है, आपको दिखाते हैं कि डीडीसीए पर लग रहे आरोपों में कितना दम है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली डिसिट्रिक क्रिकेट एसोसिएशन यानी DDCA पर ये आरोप लगाया है कि दिल्ली क्रिकेट में सिफारिश और पैसे के बिना एंट्री नहीं मिलती. दूसरी तरफ बीजेपी के सस्पेंड सांसद कीर्ति आजान ने ये आरोप लगाया कि DDCA में खिलाड़ियों की उम्र को लेकर भी गड़बड़ी होती है.

लेकिन सिक्के का ये सिर्फ एक पहलू है. सिक्के का दूसरा पहलू ये है कि दिल्ली ने पिछले दो दशक में टीम इंडिया को कई स्टार खिलाड़ी दिए और खास बात ये रही कि ज्यादातर खिलाड़ी मिडिल क्लास और गरीब परिवार से आते हैं.

ddca 1
सबसे पहले दिल्ली के उन खिलाड़ियों की बात जो आज टीम इंडिया में खेल रहे हैं और उनकी गिनती दिग्गज खिलाड़ियों में होती है.

दिल्ली के विराट कोहली भारत की टेस्ट टीम के कप्तान हैं. पिछले 7 साल में कोहली ने भारतीय टीम के लिए सबसे ज्यादा रन बनाए हैं. सबसे ज्यादा शतक लगाए हैं. विराट ने टेस्ट और वनडे दोनों में मिलाकर 34 शतक लगाए हैं. दिल्ली से टीम इंडिया में आए विराट के टेस्ट और वनडे में मिलाकर 13289 रन बनाए हैं.

दिल्ली के विराट कोहली – मीडिल क्लास परिवार से टीम में आए थे

शिखर धवन – भारतीय टीम का वो ओपनर जो पिछले पांच साल से टीम इंडिया की ताकत बना हुआ है. 2010 से दिल्ली के शिखर ने भारत के लिए खेलते हुए टेस्ट और वनडे में मिलाकर 12 शतक लगाए हैं. दोनों फॉर्मेट में मिलाकर शिखर के 5273 रन हैं. शिखर धवन के पिता plastic के पानी भरने वाले जग बनाते थे.

ईशांत शर्मा – आज के दिन भारतीय तेज गेंदबाजी के लीडर हैं. दिल्ली से क्रिकेट करियर की शुरुआत करके 2007 में टीम इंडिया में आए. पिछले आठ साल में टेस्ट और वनडे में मिलाकर ईशांत ने 307 विकेट लिए हैं. ईशांत शर्मा ने मीडिल क्लास परिवार से टीम इंडिया तक का सफर तय किया. ईशांत के पिता एसी ठीक करने का काम करते थे.

अब बात उन खिलाड़ियों की जो दिल्ली के खेल रहे हैं और टीम इंडिया में जगह बना सकते हैं

उन्मुक्त चंद – भारत को U-19 विश्व कप दिलाने वाले चंद मीडिल क्लास परिवार से आते हैं.

दिल्ली ने पिछले 15 साल में टीम इंडिया को तीन ऐसे बड़े खिलाड़ी दिए. जिनका योगदान भारत क्रिकेट के लिए यादगार रहा..

वीरेंद्र सहवाग, गौतम गंभीर और आशीष नेहरा. सहवाग ने वनडे और टेस्ट में मिलाकर 38 शतक लगाए. गंभीर के दोनों फॉर्मेट में 20 शतक हैं. नेहरा ने टीम इंडिया के लिए 201 विकेट लिए.

सहवाग के पिता किसान थे जबकि नेहरा के पिता छोटे व्यापारी थे और गंभीर के पिता भी व्यापारी थे

अब बात देश के वित्त मंत्री अरुण जेटली की. जो 1999 से 2013 तक डीडीसीए के अध्यक्ष रहे. उनके अध्यक्ष रहते ही दिल्ली ने टीम इंडिया को कई बड़े खिलाड़ी दिए. इसके अलावा उनके कार्यकाल में दिल्ली क्रिकेट भी काफी ऊपर गई.

दिल्ली ने एक बार रणजी ट्रॉफी का खिताब जीता, एक बार विजय हजारे ट्रॉफी में चैम्पियन बना. इसके अलावा दिल्ली ने दो बार u-19 और दो u-16 का खिताब जीता.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ddca scam
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017