घरेलू क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज मजूमदार ने क्रिकेट को अलविदा कहा

By: | Last Updated: Thursday, 25 September 2014 12:27 PM
amol majumdar

मुंबई: घरेलू क्रिकेट में भारत के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज अमोल मजूमदार ने आज सभी तरह की क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की जिससे उनका दो दशक तक चला करियर समाप्त हो गया. दायें हाथ के 39 वर्षीय बल्लेबाज ने अपने घरेलू करियर की शुरूआत 1993-94 में मुंबई की तरफ से की. उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 171 मैचों में 48.13 की औसत से 11,167 रन बनाये जिसमें 30 शतक शामिल हैं.

 

उसे टीम इंडिया के लिए मौका नहीं मिला या टीम इंडिया को वो नहीं मिला..!

 

बीसीसीआई की विज्ञप्ति के अनुसार रणजी क्रिकेट में 9000 रन बनाने वाले मजूमदार ने कई सत्र तक मुंबई की तरफ से खेलते रहे. उनकी अगुवाई में मुंबई की टीम ने 2006-07 में रणजी खिताब जीता था. बाद में वह आंध्र और असम की तरफ से भी रणजी मैचों में खेले. उन्होंने मुंबई की तरफ से प्रथम श्रेणी में पदार्पण में भी प्रभाव छोड़ा. उन्होंने हरियाणा के खिलाफ रणजी प्री क्वार्टर फाइनल में 260 रन बनाये और उन्हें मुंबई की स्कूली क्रिकेट से उभरा एक और क्रिकेट सितारा कहा जाने लगा.

 

बहुत कम लोगों को पता होगा कि जब सचिन तेंदुलकर और विनोद कांबली ने शारदाश्रम स्कूल की तरफ से 664 रन की विश्व रिकार्ड साझेदारी निभायी थी तब मजूमदार पैड पहनकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे. उन्हें 1994 में भारत अंडर.19 टीम का उप कप्तान बनाया गया और वह भारत ए की तरफ से सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ के साथ भी खेले थे. लेकिन घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद उन्हें कभी राष्ट्रीय टीम में खेलने का मौका नहीं मिला. बीसीसीआई के मानद सचिव संजय पटेल ने मजूमदार को भविष्य के लिये शुभकामनाएं दी हैं.

 

भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने भी मजूमदार की जमकर तारीफ करते हुए फेसबुक पर लिखा –

 

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: amol majumdar
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017