ASHES: ब्रॉड के कहर के बाद रूट का शतक, विशाल बढ़त की ओर इंग्लैंड

By: | Last Updated: Friday, 7 August 2015 2:27 AM
ashes 4th test

नॉटिंघमः स्टुअर्ट ब्रॉड करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी (15 रन देकर आठ विकेट) के बाद जोए रूट के शानदार शतक के दम पर इंग्लैंड ने पहली पारी के आधार पर अब 214 रन की बढ़त बना ली है. दिन का खेल खत्म होने तक इंग्लैंड ने 4 विकेट खोकर 274 रन बना लिए.

रूट 124 रन बनाकर नाबाद हैं और उनका साथ देने आए नाइटवॉचमैन मार्क वुड 2 रन बनाकर नाबाद लौटे. ऑस्ट्रेलिया के सस्ते में समेटने के बाद इंग्लैंड की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही. एडम लिथ (14) और इयान बेल (1) 34 के कुल योग पर पवेलियन लौट चुके थे. कप्तान एलिस्टर कुक (43) ने इसके बाद रूट के साथ तीसरे विकेट के लिए 62 रनों की साझेदारी निभाई.

 

हालांकि कुक के रूप में इंग्लैंड ने 100 रनों के भीतर तीसरा विकेट गंवा दिया. शुरुआती तीनों विकेट मिशेल स्टार्क ने लिए.

 

जॉनी बेयरस्टो (74) ने इसके बाद रूट के साथ चौथे विकेट के लिए 173 रनों की साझेदारी कर टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया. रूट और बेयरस्टो ने यह साझेदारी पांच से अधिक के बेहतरीन औसत से निभाई.

 

दिन का खेल खत्म होने से कुछ ही ओवर पहले बेयरस्टो जोस हाजलेवुड की गेंद क्रिस रोजर्स को थमा बैठे. बेयरस्टो ने 105 गेंदों का सामना कर 12 चौके लगाए.

इससे पहले इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को चौथे एशेज टेस्ट क्रिकेट मैच के शुरूआती दिन लंच से पहले ही 60 रन पर ढेर कर दी.

 

आक्रमण की कमान संभाल रहे ब्राड ने इस बीच टेस्ट क्रिकेट में 300 विकेट भी पूरे किये और ऑस्ट्रेलिया की पारी को केवल 18.3 ओवर में समेटने में अहम भूमिका निभायी. उसकी पारी केवल 94 मिनट चली. इंग्लैंड ने टी तक तीन विकेट पर 99 रन बनाये हैं और उसकी बढ़त 39 रन की हो गयी है. ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क ने इंग्लैंड को शुरू में तीन झटके देकर अपनी टीम की उम्मीदें बनाये रखी.

9.3 ओवर

5 मेडन

15 रन

8 विकेट

 

टी के समय जो रूट 33 और जानी बेयरस्टा दो रन पर खेल रहे थे. इंग्लैंड यदि इस मैच में जीत दर्ज कर लेता है तो वह पांच मैचों की सीरीज में 3-1 की अजेय बढ़त हासिल कर लेगा. बादल छाये रहने और पिच में नमी होने के कारण इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टेयर कुक ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया और इसके बाद ब्राड ने पहले ओवर से ही कहर बरपाना शुरू कर दिया. पिच इतनी खराब भी नहीं थी लेकिन ब्रॉड ने बेहतरीन लाइन व लेंथ से गेंदबाजी करके ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को दिन में तारे दिखा दिये. ब्रॉड को हालांकि कई विकेट बल्लेबाजों के खराब शॉट खेलने के कारण मिले.

 

गेंद मूव कर रही थी और अमूमन सपाट पिचों पर खेलने के आदी बन चुके ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों की इस पर पोल खुल गयी. ऑस्ट्रेलिया की तरफ से सबसे बड़ा स्कोर अतिरिक्त रनों (14) का था. एशेज सीरीज में यह पहला अवसर है जबकि ऑस्ट्रेलिया के स्कोर में अतिरिक्त रन सर्वाधिक थे.

सबसे तेज 5 विकेट के साथ 300 क्लब में शामिल हुए ब्रॉड

 

ब्रॉड ने इस करिश्माई प्रदर्शन के बाद स्काई स्पोर्ट्स से कहा, ‘‘यह अविश्वसनीय है. मुझे अब भी विश्वास नहीं हो रहा है. हम जानते थे कि ट्रेंटब्रिज से हमें कुछ मदद मिलेगी लेकिन हमने अच्छी गेंदबाजी की और कैच लेने में गलती नहीं की. ’’ ब्रॉड ने पारी की तीसरी गेंद पर सलामी बल्लेबाज क्रिस रोजर्स को पहली स्लिप में कुक के हाथों कैच आउट कराकर अपना 300वां विकेट लिया. यह रोजर्स की 46वीं टेस्ट पारी में पहला अवसर था जबकि वह खाता भी नहीं खोल पाये. ब्रॉड इंग्लैंड की तरफ से 300 विकेट लेने वाले पांचवें गेंदबाज हैं. उनसे पहले फ्रेड ट्रूमैन, बाब विलिस, इयान बाथम और एंडरसन ने यह मुकाम हासिल किया था.

स्टीवन स्मिथ (छह) ने ब्रॉड पर पहले दो रन और फिर चौका जड़ा लेकिन इसके बाद उन्होंने इसी ओवर के छठी गेंद पर तीसरे स्लिप में जो रूट को कैच थमा दिया. एंडरसन की जगह टीम में लिये गये तेज गेंदबाज मार्क वुड ने जल्द ही ऑस्ट्रेलिया का स्कोर तीन विकेट पर दस रन कर दिया. उनकी दूसरी गेंद डेविड वार्नर के बल्ले का चूमती हुई विकेटकीपर जोस बटलर के दस्तानों में समा गयी. वार्नर भी खाता नहीं खोल पाये. एशेज में यह पिछले 65 वर्षों में पहला अवसर है जबकि ऑस्ट्रेलिया के दोनों सलामी बल्लेबाज शून्य पर आउट हुए. इससे पहले ब्रिस्बेन में 1950 में आर्थर मौरिस और जैक मोरोनी खाता नहीं खोल पाये थे.

 

 

ब्रॉड का कहर यहीं पर नहीं थमा. उन्होंने खराब फॉर्म में चल रहे ऑस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क (10) को आउट करके अपना पांचवां विकेट लिया. क्लार्क ने पहली स्लिप में कुक को कैच थमाया. क्लार्क इस श्रृंखला में अभी तक सात पारियों में केवल 104 रन बना पाये हैं. क्लार्क के आउट होने से ऑस्ट्रेलिया का स्कोर छह विकेट पर 29 रन हो गया और उस पर अपने न्यूनतम स्कोर पर आउट होने का खतरा मंडराने लगा जो 36 रन है. उसने इंग्लैंड के खिलाफ बर्मिंघम में 1902 में यह स्कोर बनाया था. इंग्लैंड की पिछले टेस्ट मैच में जीत के नायक स्टीवन फिन ने विकेटकीपर बल्लेबाज नेविल (दो) को बोल्ड करके विकेट लेने वालों में अपना नाम लिखवाया जबकि ब्रॉड ने इसके बाद स्टार्क (एक) जॉनसन और नाथन लियोन (नौ) को आउट करके लंच से पहले ही ऑस्ट्रेलियाई पारी का अंत किया.

 

 

 

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ashes 4th test
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

वेस्टइंडीज के खिलाफ इंग्लैंड टीम ने किया सिर्फ एक बदलाव
वेस्टइंडीज के खिलाफ इंग्लैंड टीम ने किया सिर्फ एक बदलाव

      बर्मिंघम: वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू हो...

...तो इस वजह से वनडे टीम में युवराज को नहीं मिली जगह!
...तो इस वजह से वनडे टीम में युवराज को नहीं मिली जगह!

नई दिल्ली: श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बाद 20 अगस्त से शुरु हो रहे वनडे सीरीज के लिए टीम...

वनडे सीरीज के लिए श्रीलंका टीम में थिसारा परेरा और सिरिवर्दना की हुई वापसी
वनडे सीरीज के लिए श्रीलंका टीम में थिसारा परेरा और सिरिवर्दना की हुई वापसी

कोलंबो: भारत के खिलाफ पांच वनडे मैचों की सीरीज के लिए श्रीलंका टीम में थिसारा परेरा और मिलिंदा...

4 साल बाद एस. श्रीसंत ने क्रिकेट के मैदान पर की वापसी
4 साल बाद एस. श्रीसंत ने क्रिकेट के मैदान पर की वापसी

कोच्चि: जहां एक ओर पूरा देश 71वें स्वतंत्रता...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017