'ईशांत शर्मा सबसे ‘कम प्रतिभाशाली’ गेंदबाज'

By: | Last Updated: Saturday, 8 August 2015 12:04 PM
ashish nehra on ishant sharma

नई दिल्ली: भारत के पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने ईशांत शर्मा को देश के मौजूदा तेज गेंदबाजों में सबसे ‘कम प्रतिभाशाली’ करार दिया. लेकिन कहा कि अपनी प्रतिबद्धता और कड़ी मेहनत के दम पर उसने 60 से अधिक टेस्ट खेले हैं.

 

नेहरा ने कहा ,‘‘मैं उमेश यादव का बड़ा प्रशंसक हूं. वह काफी प्रतिभाशाली है हालांकि अपनी प्रतिभा के साथ अभी तक न्याय नहीं कर सका है. वह मेरी तरह है लेकिन मेरा कैरियर चोटों से बाधित रहा. वरूण एरोन और भुवनेश्वर कुमार समान रूप से प्रतिभाशाली हैं.’’ उन्होंने कहा ,‘‘ ईशांत शर्मा 62 टेस्ट खेल चुका है जो इन सभी में सबसे कम प्रतिभाशाली है लेकिन सबसे ज्यादा मेहनती है .’’

 

उन्होंने कहा ,‘‘ यदि ईशांत इतने लंबे समय तक और इतने मैच खेल सकता है तो यह इस बात का सबूत है कि सफल होने के लिये सिर्फ प्रतिभाशाली होना काफी नहीं है. प्रतिभा आपको एक स्तर तक ले जा सकती है लेकिन कड़ी मेहनत के बिना कुछ नहीं मिलता .’’

 

यह पूछने पर कि ईशांत का स्ट्राइक रेट (हर 11 ओवर में विकेट) ज्यादा है, नेहरा ने कहा ,‘‘ ईशांत के बारे में एक धारणा है. मैं मानता हूं कि स्ट्राइक रेट ज्यादा है लेकिन पिछले एक साल में उसने न्यूजीलैंड और इंग्लैंड में बेहतर प्रदर्शन किया है.

 

हमें यह नहीं भूलना चाहिये कि वह सिर्फ 27 साल का है और 62 टेस्ट खेल चुका है क्योंकि उसने 18 साल की उम्र में खेलना शुरू कर दिया था.’’ नेहरा ने कहा ,‘‘हमें यह कहकर उस पर दबाव नहीं बनाना चाहिये कि ईशांत को बाहर करके किसी और को शामिल करो. उसे बाहर करने पर क्या होगा. कुछ नहीं होगा. बीसीसीआई को यह सुनिश्चित करना चाहिये कि एक तेज गेंदबाज को पूरा समय और आत्मविश्वास दिया जाये. एक खराब सीरीज के बाद किसी को बाहर करना कोई हल नहीं है. एक नये तेज गेंदबाज को जमने में कम से कम दो सीरीज लगेंगी .’’

 

ईशांत के बारे में नेहरा ने मखाया एनटिनी का उदाहरण दिया. उन्होंने कहा ,‘‘ मैं हमेशा युवाओं को एनटिनी का उदाहरण देता हूं. वह कभी बहुत प्रतिभावान नहीं रहा लेकिन कड़ी मेहनत और फिटनेस से वह 400 विकेट के करीब पहुंच सका.’’

 

नेहरा ने कप्तान के साथ गेंदबाज के संबंधों के बारे में भी बात की. उन्होंने कहा ,‘‘यदि आप अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं तो किसी की मदद की जरूरत नहीं होगी. लेकिन ऐसा भी समय आयेगा जब डीप प्वाइंट रखने पर भी बल्लेबाज आपको परेशान कर सकता है. इसके बाद आपके पास कप्तान की सुनने के अलावा कोई चारा नहीं रहता और उसकी जमाई फील्ड के अनुसार गेंदबाजी करनी होती है. माइकल क्लार्क एशेज से पहले तक महान कप्तान था लेकिन आज एलेस्टेयर कुक अचानक महान कप्तान बन गया.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ashish nehra on ishant sharma
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017