पिच पर सवाल उठाने वालों को अश्विन ने दिया करारा जवाब

By: | Last Updated: Thursday, 26 November 2015 1:26 PM

नागपुर: भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने आज भारत की टर्निंग पिचों की आलोचना करने लोगों से सवाल किया कि उन्होंने तब कोई सवाल क्यों नहीं उठाया जब ट्रेंटब्रिज में एशेज टेस्ट लगभग दो दिन में समाप्त हो गया था. यह ऑफ स्पिनर साउथ अफ्रीकी पिचों पर सवालिया निशान उठाने से नहीं चूका जैसे कि जोहानिसबर्ग जहां दिसंबर 2013 में पांचवें दिन भी उन्हें विकेट से कोई मदद नहीं मिली थी.

 

अश्विन से पूछा गया कि साउथ अफ्रीकी बल्लेबाजों का स्वागत टर्निंग विकेट से हो रहा है, उन्होंने कहा, ‘‘मैंने जोहानिसबर्ग (टेस्ट) के बाद शिकायत नहीं की थी. मुझे उसके बाद एक साल के लिये बाहर कर दिया गया था. और मैं यहां खेलने को लेकर भी शिकायत दर्ज करने नहीं जा रहा हूं. इसका कोई कारण नजर नहीं आता. मैं आखिर शिकायत क्यों करूं. ट्रेंट ब्रिज में (एशेज टेस्ट) में दो दिन तक स्विंग, सीम और उछाल रही और मैच समाप्त हो गया. ’’

 

तमिलनाडु के इस स्पिनर ने कहा कि स्पिन को खेलने के लिये भी कौशल की जरूरत पड़ती है. उन्होंने भारत और साउथ अफ्रीका के बीच तीसरे टेस्ट क्रिकेट मैच के दूसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘स्पिन और उछाल को लेकर समस्या क्या है. यह अच्छा है कि विकेट में स्पिन और उछाल है. बल्लेबाजों में इससे निबटने के लिये कौशल होना चाहिए. ’’

 

सीरीज में दूसरी बार पांच विकेट लेने वाले अश्विन ने कहा, ‘‘सौभाग्य कहो या दुर्भाग्य, मुझे मैदानकर्मियों को यह कहने का अधिकार नहीं है कि किस तरह की पिच तैयार करने की जरूरत है. एक बार जब वे पिच तैयार कर लेते हैं तो उस पर खेलना मेरा काम होता है. ’’

 

सीरीज के शुरू से ही साउथ अफ्रीकी बल्लेबाजों की नाक में दम करने वाले अश्विन ने कहा कि आज सुबह उन्होंने जो दो विकेट हासिल किये उसने मैच का रूख भारत के पक्ष में मोड़ा. अश्विन ने डीन एल्गर और कप्तान हाशिल अमला को आउट करके स्कोर चार विकेट पर 12 रन कर दिया. उन्होंने कहा, ‘‘आज सुबह मैंने जो पहली चार गेंद की उससे मैच हमारे पक्ष में आया. इसके बाद वे वापसी करने के लिये जूझते रहे.’’

 

अश्विन ने कहा कि दिन आगे बढ़ने के साथ्घ पिच धीमी होती गयी और बल्लेबाज को आउट करने के लिये गेंदबाज को धैर्य बनाये रखने की जरूरत थी. उन्होंने कहा, ‘‘इस तरह की पिच में जो गेंदबाजी सीधी गेंद करता है उसकी गेंद बल्ले का किनारा लेकर जा सकती है. पहली पारी में यह मेरी रणनीति थी. दूसरी पारी में मैंने इसमें थोड़ा बदलाव किया. दूसरी पारी में हमें थोड़ा संयम बरतना होगा. ’’

 

अश्विन ने कहा, ‘‘आज सुबह हमने काफी अनुशासन दिखाया और कल भी हम ऐसा करेंगे. विकेट दिन के आगे बढ़ने के साथ शुष्क और धीमा पड़ता गया. इस विकेट पर बल्लेबाजों को रणनीति के साथ खेलने की जरूरत है. रन बनाने की संभावनाएं सीमित हैं. ’’ अश्विन ने कहा कि साउथ अफ्रीकी मानसिक रूप से मैच हार चुके हैं. उन्होंने स्टियान वान जिल के संदर्भ में कहा, ‘‘हां, मुझे लगता है कि यह मानसिक है. यदि आपको कोई एक गेंदबाज आउट कर देता है तो आपको हर समय लगता है कि किसी भी समय गेंद बल्ले का किनारा लेकर चली जाएगी. ’’ अश्विन ने अब पांचों पारियों में वान जिल को आउट किया है.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ashwin react on nagpur pitch
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

वेस्टइंडीज के खिलाफ इंग्लैंड टीम ने किया सिर्फ एक बदलाव
वेस्टइंडीज के खिलाफ इंग्लैंड टीम ने किया सिर्फ एक बदलाव

बर्मिंघम: वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू हो रहे...

...तो इस वजह से वनडे टीम में युवराज को नहीं मिली जगह!
...तो इस वजह से वनडे टीम में युवराज को नहीं मिली जगह!

नई दिल्ली: श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017