टीम धोनी के साथ, ड्रेसिंग रूम का माहौल पहले जैसा: अश्विन

By: | Last Updated: Tuesday, 23 June 2015 1:46 PM
ashwin statement on team postion

मीरपुर: टीम इंडिया के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि टीम आलोचनाओं के घिरे कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ है तथा बांग्लादेश के हाथों पहली वनडे सीरीज गंवाने के बावजूद ड्रेसिंग रूम के माहौल में कोई बदलाव नहीं आया है. भारत तीन मैचों की वर्तमान सीरीज के पहले दो मैच हार गया जिससे बांग्लादेश ने 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली.

 

इसके बाद कप्तान धोनी को आलोचना का सामना करना पड़ा. अश्विन ने सीरीज के तीसरे और अन्तिम मैच से पहले कहा, ‘‘यदि आप इस समय अपने कप्तान का साथ नहीं दोगे तो फिर कब दोगे. इसलिए जहां तक मेरा मानना है तो यह सेना जैसा है. यदि आप अपने सेनापति के पीछे खड़े नहीं होते तो निश्चित रूप से आपको मार दिया जाएगा. यदि मेरा कप्तान मुझसे कहेगा कि मैदान पर जान देनी है तो मैं ऐसा करूंगा. ’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘यह केवल अभी का मामला नहीं है. आपका कप्तान कोई भी हो आपको उसका साथ देना होता है. यदि वह आपसे मैदान पर जान देने के लिये कहता है तो आपको उसके लिये तैयार रहना चाहिए.’’ धोनी को भारतीय क्रिकेट का लीजेंड करार देते हुए अश्विन ने कहा, ‘‘वह एक स्टार क्रिकेटर है. उन्होंने देश के लिये बहुत कुछ किया है. उन्होंने जो कुछ किया है हम वास्तव में उसे नहीं भुला सकते. ’’ उन्होंने कहा, ‘‘हां परिणाम अच्छे नहीं रहे और कई तरह से आंकड़ेबाजी की जा रही है. आंकड़ों के सहारे आप जो साबित करना चाहते हो करिये. आपको उस व्यक्ति को श्रेय देना होगा क्योंकि उन्होंने कई अच्छी चीजें की है. ’’

 

अश्विन ने हालांकि स्वीकार किया कि भारत ने अच्छी क्रिकेट नहीं खेली लेकिन ड्रेसिंग रूम का माहौल पहले जैसा ही है. उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि हमें सचाई स्वीकार करने में ईमानदार होना चाहिए कि हमने अपनी जानदार क्रिकेट का प्रदर्शन नहीं किया. लेकिन ड्रेसिंग रूम का माहौल पहले की तरह अच्छा है. हमें यह सचाई स्वीकार कर ली है हमने कम मैच गंवाये है लेकिन अधिक मैचों में जीत दर्ज की है. इससे हमारा मनोबल बना रहता है. ’’ अश्विन ने कहा, ‘‘लेकिन इस मैच (तीसरे वनडे) में हम स्वच्छंद होकर खेलेंगे और पूरी तरह से सकारात्मक होकर खेलेंगे. ’’ अश्विन से पूछा गया कि क्या दूसरे मैच में हार के बाद भारतीय टीम ने बैठक की थी, उन्होंने कहा, ‘‘जरूर पड़ने पर बैठक होती है. हम विशेष प्रारूप में खेल रहे हैं और हमने मैच से पहले बैठक की. ऐसा आगे भी होगा. हमने कोई आपात बैठक नहीं की थी. ’’ उन्होंने कहा कि वह पूरी टीम की असफलता के लिये केवल एक विभाग बल्लेबाजी या गेंदबाजी को दोष नहीं दे सकते.

 

उन्होंने कहा, ‘‘यह कहना बहुत आसान है कि इस विभाग ने अच्छा काम नहीं किया. गेंदबाजों को केवल दस विकेट लेने होते हैं लेकिन रन देने और मीडिया जो कहता है उसका खामियाजा भुगतने के लिये दस ओवर होते हैं. गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों समान रूप से मुश्किल है. गेंदबाज के पास बल्लेबाज की तरह नंबर नहीं होते. आप अमूमन दो या तीन विकेट ले सकते हो. भूमिकाएं बहुत महत्वपूर्ण होती हैं. ’’ अश्विन ने कहा, ‘‘कोई दस ओवर में 25 रन देकर कोई विकेट नहीं लेता लेकिन यह मैच का पासा पलटने वाला स्पैल हो सकता है. लेकिन मीडिया इस बारे में बात नहीं करेगा. गेंदबाज जब अपनी अच्छी भूमिका निभाते हैं तभी हम 75 प्रतिशत मैचों में जीत दर्ज करते हैं. इसे स्वीकार करना महत्वपूर्ण है. ’’

 

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ashwin statement on team postion
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017