नाटकीयता से भरे 3000 मीटर स्टीपलचेस में भारत को दो पदक

By: | Last Updated: Saturday, 27 September 2014 3:14 PM

इंचियोन: ललिता बाबर और सुधा सिंह ने नाटकीय परिस्थितियों में एशियाई खेलों की 3000 मीटर स्टीपलचेस में भारत को सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल दिलाये जब बहरीन की धाविका को अयोग्य करार दिया गया. इन पदकों के साथ एथलेटिक्स में भारत ने आज खाता खोला.

 

बाबर ने ब्रॉन्ज जीता था जबकि गत चैम्पियन सुधा चौथे स्थान पर रही थी लेकिन गोल्ड मेडल विजेता बहरीन की रूथ जेबेट को अयोग्य करार दिये जाने के बाद बाबर को सिल्वर और सुधा को ब्रॉन्ज मिला.

 

पिछले साल कीनिया से बहरीन जाने वाली रूथ आखिर से दूसरी लैप में ट्रैक के भीतर कदम रखने के कारण अयोग्य करार दी गई. उस समय वह दूसरी धाविकाओं से काफी आगे थी और उस पर कोई दबाव नहीं था. ऐसा समझा जाता है कि भारत के विरोध दर्ज कराने के बाद उसे अयोग्य करार दिया गया.

 

यह घोषणा इंचियोन एशियाड मुख्य स्टेडियम में सार्वजनिक तौर पर की गई. उस समय 17 साल की रूथ अपना स्वर्ण लेने पोडियम पर जाने ही वाली थी.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: asian game
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: asian game Asian Games
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017