एशियाई खेलों में मुक्केबाजों से है पदक की उम्मीद

By: | Last Updated: Wednesday, 17 September 2014 5:33 AM

नई दिल्ली: दक्षिण कोरिया के इंचियोन में शुक्रवार से शुरू हो रहे एशियाई खेलों में नए महासंघ के बैनर तले हिस्सा ले रहे भारतीय मुक्केबाजों से भी देश को पदक की उम्मीद है. गौरतलब है कि अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (एआईबीए) ने भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (आईबीएफ) को एक साल से ज्यादा निलंबित रखने के बाद इसी साल मार्च में उसकी मान्यता भी रद्द कर दी.

 

इन तमाम कारणों से पिछले कुछ महीनों में भारतीय मुक्केबाजों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है. भारतीय मुक्केबाजों के देश से बाहर होने वाले दौरों पर भी रोक लगी. यहां तक की एआईबीए का कोपभाजन बनने से बचने के लिए मित्र देश क्यूबा ने भी भारतीय मुक्केबाजों की मेजबानी से कदम पीछे हटा लिए.

 

अब हालांकि, एआईबीए द्वारा मान्यता प्राप्त नई नवनिर्वाचित संस्था बॉक्सिंग इंडिया के वजूद में आने के बाद भारतीय मुक्केबाज एशियाई खेलों से अच्छी शुरुआत की उम्मीद कर सकते हैं.

 

पिछली बार भारतीय मुक्केबाजों ने नौ पदक जीते थे. ऐसे में अगर भारतीय मुक्केबाज इसके आस-पास भी पदक तालिका को पहुंचाते हैं तो इसे अच्छी शुरुआत मानी जाएगी. भारतीय मुक्केबाजों ने जुलाई-अगस्त में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में पांच पदक जीते.

 

शीर्ष भारतीय मुक्केबाजों में शामिल विजेंद्र सिंह हालांकि हाथ में चोट के कारण एशियाई खेलों मे हिस्सा नहीं ले रहे. विजेंद्र ने राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीता था. वहीं, पिछले एशियाई खेलों में उन्होंने स्वर्ण पदक अपने नाम किया था.

 

वैसे, चार साल पहले लगातार कई चोट के कारण रिंग से कई दिनों तक बाहर रहने वाले 33 वर्षीय अखिल कुमार के लिए संभवत: यह आखिरी अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट हो सकता है.

 

विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाले दूसरे भारतीय विकास कृष्णन यादव पर भी भारत की काफी उम्मीदें टिकी होंगी. वैसे दो साल बाद रिंग में वापसी कर रहे 22 वर्षीय विकास इन उम्मीदों पर कितना खड़ा उतरेंगे, यह देखने वाली बात होगी. विकास ने पिछले एशियाई खेलों में स्वर्ण जीता था. राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीतने वाले देवेंद्रो सिंह और मंदीप जांगड़ा से भी भारत को पदक की उम्मीद है.

 

पांच बार की महिला विश्व चैम्पियन मैरी कॉम से भी भारत को पदक की आस है.

 

गौरतलब है कि पिंकी जांगड़ा से हार के बाद मैरी राष्ट्रमंडल खेलों में क्वालीफाइ नहीं कर सकी थीं. एशियाई खेल-2010 में मैरी ने कांस्य पदक अपने नाम किया था. राष्ट्रमंडल खेलों में रजत जीतने वाली महिला मुक्केबाज सरिता देवी भी भारत की झोली में पदक डालने का माद्दा रखती हैं.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Asian Games_Boxing_Medal
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Asian Games boxing Marykom Medal
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017