वेस्टइंडीज के साथ क्रिकेट संबंध को निलंबित कर सकता है बीसीसीआई

By: | Last Updated: Saturday, 18 October 2014 2:45 PM

मुंबई: वेस्टइंडीज टीम के भारत दौरे से बीच में हटने से खफा बीसीसीआई उसके साथ द्विपक्षीय क्रिकेट पर अगले पांच साल तक रोक लगाने और भारी मुआवजे की मांग करने की सोच रहा है.

 

भावी कार्रवाई के बारे में फैसला और मुआवजे की रकम का निर्धारण 21 अक्तूबर को हैदराबाद में बीसीसीआई की कार्यसमिति की बैठक में होगा.

 

कैरेबियाई खिलाड़ी काफी मनौव्वल के बाद कल धर्मशाला में चौथा वनडे खेलने उतरे थे. उन्होंने बीसीसीआई को दौरे का बाकी हिस्सा रद्द करने के अपने फैसले से अवगत करा दिया और अब बोर्ड उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की सोच रहा है.

 

बोर्ड के कुछ सदस्यों का मानना है कि वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड को दौरा बीच में रद्द करके बीसीसीआई के सामने बड़ी परेशानी खड़ी करने के लिये तल्ख संदेश दिया जाना चाहिये.

 

उनका मानना है कि भविष्य में वेस्टइंडीज के साथ कोई श्रृंखला नहीं खेली जानी चाहिये और आईपीएल में कैरेबियाई खिलाड़ियों के खेलने पर भी रोक होनी चाहिये .

 

अधिकांश सदस्यों का हालांकि मानना है कि खिलाड़ियों का कसूर नहीं है और उन्हें सजा नहीं मिलनी चाहिये .

 

बीसीसीआई सचिव संजय पटेल ने कहा ,‘‘ हमें वेस्टइंडीज के इस फैसले के कारण काफी नुकसान हुआ है. हम मुआवजे की मांग करेंगे और आईसीसी के सामने यह मसला उठायेंगे. हमने कार्यसमिति की आपात बैठक बुलाई है जिसमें इस मसले के अलावा श्रीलंका टीम के दौरे पर भी बात होगी.’पटेल ने कहा ,‘‘ कार्यसमिति के सदस्य इस पर बात करेंगे और इसके बाद हम वेस्टइंडीज के साथ फ्यूचर टूर कार्यक्रम (एफटीपी) को जारी नहीं रखने पर सोच सकते हैं.’’

 

उन्होंने कहा कि वह वेस्टइंडीज के इस अप्रत्याशित कदम के बाद कल सुबह से देर रात तक व्यस्त रहे. उन्होंने कहा ,‘‘ मैं इस अप्रत्याशित फैसले के बाद काफी व्यस्त रहा. हम कार्यसमिति में इन सब पर बात करेंगे. विश्व कप बैठक से पहले आईपीएल संचालन परिषद की भी बैठक होनी है.’’ बीसीसीआई के संयुक्त सचिव अनुराग ठाकुर ने कहा कि बोर्ड को कैरेबियाइ टीम के साथ सारे संबंध तोड़ लेने चाहिये .

 

उन्होंने कहा ,‘‘ बीसीसीआई ने उन्हें मनाने की पूरी कोशिश की लेकिन बोर्ड के साथ अपने आंतरिक भुगतान विवाद को लेकर वे खेलने के लिये तैयार ही नहीं थे .’’ ठाकुर ने वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों के प्रति हमदर्दी जताते हुए कहा कि भुगतान विवाद के चलते विरोध का यह तरीका सही नहीं था .

 

उन्होंने कहा ,‘‘ उन्हें जिम्मेदारी से पेश आना चाहिये था . खिलाड़ियों और वेस्टइंडीज बोर्ड का बर्ताव सही नहीं है . बोर्ड को भविष्य में वेस्टइंडीज के साथ खेलना नहीं चाहिये . उन्हें बोर्ड को हुए नुकसान की भरपाई करनी होगी .’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: bcci
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017