बीसीसीआई में भी खिलेगा कमल?

By: | Last Updated: Saturday, 24 January 2015 11:08 AM

नई दिल्लीः क्रिकेट की दुनिया में इतने बवाल के बाद भी अगर श्रीनिवासन ताल ठोंक कर खड़े रहे तो ये साफ है कि बीसीसीआई में आज भी उनका सिक्का चलता है. लेकिन कोर्ट के आदेश के बाद 30 सदस्यों वाले एजीएम में नए समीकरण उभरने के आसार हैं.

 

श्रीनिवासन की क्या कोशिश होगी?

अगर खुद नहीं तो कोई अपना विश्वासपात्र. राजनीति का यही गुर बीसीसीआई पर भी लागू होता रहा है. श्रीनिवासन जरूर चाहेंगे कि किसी अपने को वो बीसीसीआई अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठाएं.

 

ईस्ट जोन का अहम रोल

नियमों के मुताबिक इस बार ईस्ट जोन की पसंद का अध्यक्ष चुना जाएगा. ईस्ट जोन में जगमोहन डालमिया हैं जो श्रीनिवासन के बुरे वक्त में मदद के लिए हमेशा तैयार थे. ऐसे में खुद डालमिया भी दावेदार हो सकते हैं. वहीं राजीव शुक्ला भी श्रीनिवासन खेमे में कहे जाते हैं. ऐसे में श्रीनिवासन की गैर मौजूदगी में ये दौड़ में रहेंगे.

 

पवार खेमा भी सक्रिय

बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष शरद पवार भी मौजूदा उठापठक के दौरान सक्रिय हो गए हैं. श्रीनिवासन विरोधी खेमा पवार के झंडे के नीचे भी इकट्ठा हो सकता है.

 

बीजेपी का अहम रोल

मौजूदा वित्त मंत्री अरुण जेटली अब दिल्ली क्रिकेट बोर्ड में नहीं हैं लेकिन उनका रसूख किसी से छिपा नहीं हैं. अमित शाह पिछले साल ही गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष के रास्ते बीसीसीआई में दाखिल हुए हैं. लेकिन अमित शाह के अलावा 7 और नाम हैं जो बीजेपी की रणनीति का समर्थन कर सकते हैं यानी 30 में से 8 वोट. तीन वोट सरकार के पास होते हैं यानी कुल 11 वोट. ऐसे में 30 में से ये 11 वोट अहम भूमिका निभा सकते हैं.

 

 

Connect with Manish sharma

https://www.facebook.com/manishkumars1976

twitter.com/@manishkumars

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: bcci
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: BCCI BJP srinivasan
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017