'तीखे बोल' पर बुरे फंसे शाह, राहुल और लालू, EC ने थमाया नोटिस

By: | Last Updated: Monday, 2 November 2015 2:47 AM
Bihar polls: EC sends notice to Amit Shah, Lalu Prasad and Rahul Gandhi

नई दिल्ली: चुनाव आयोग ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और राजद प्रमुख लालू प्रसाद को कारण बताओ नोटिस जारी किए हैं. इन तीनों नेताओं को नोटिस जारी करते हुए आयोग ने कहा कि इन्होंने बिहार विधानसभा चुनाव के लिए वहां लागू आदर्श आचार संहिता का ‘प्रथम दृष्टया’ उल्लंघन किया है.

पढ़ें : बिहार चुनाव हारे या जीते अमित शाह अध्यक्ष बने रहेंगे- रिपोर्ट

 

चुनाव आयोग द्वारा जारी नोटिस में कहा गया है ‘प्रथम दृष्टया आयोग का विचार है कि इस तरह का बयान, जो सौहार्द बिगाड़ सकता है और सामाजिक एवं धार्मिक समुदायों के बीच वर्तमान में मौजूद मतभेदों को गहरा कर सकता है, देकर आपने आदर्श आचार संहिता के प्रावधानों का उल्लंघन किया है.’ आयोग ने कहा कि शाह ने यह टिप्पणी करके आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है कि अगर उनकी पार्टी बिहार विधानसभा चुनाव में हारती है तो पाकिस्तान में पटाखे फूटेंगे.

 

पढ़ें : रेखाएं देखने के लिए दारूवाला ने खुद खींचा था पीएम मोदी का हाथ

 

आयोग ने कहा कि आदर्श आचार संहिता के एक प्रावधान में कहा गया है कि किसी भी पार्टी या उम्मीदवार को ऐसी किसी गतिविधि में लिप्त नहीं होना चाहिए जिससे विभिन्न जातियों, समुदायों या धार्मिक एवं भाषायी समुदायों के बीच तनाव हो या परस्पर नफरत हो या वर्तमान मतभेद और गहरे हों. आयोग ने ‘भाजपा हिंदू मुसलमान को एक दूसरे से लड़वाती है’ टिप्पणी के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी को ‘कारण बताओ’ नोटिस जारी किया है.

 

पढ़ें : बिहार चुनाव : कौन बनेगा शिवहर का तारणहार?

 

आयोग ने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष ने बिहार विधानसभा चुनावों के लिए लागू आदर्श आचार संहिता का प्रथम दृष्टया उल्लंघन किया. साथ ही आयोग ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद को उनकी उस टिप्पणी के लिए ‘कारण बताओ’ नोटिस जारी किया जिसमें उन्होंने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को ‘नरभक्षी’ और ‘पागल आदमी’ कहा था.

 

पढ़ें : पाकिस्तानी अखबार में ‘विज्ञापन’ पर नीतीश ने मोदी सरकार को दिया करारा जवाब

 

आयोग ने लालू की उस कथित टिप्पणी का भी उल्लेख किया जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘पिशाच’ कहा था. चुनाव आयोग ने तीनों नेताओं को जवाब देने के लिए चार नवंबर दोपहर तीन बजे तक का समय दिया है और ऐसा न करने पर चुनाव आयोग उनके किसी जवाब के बिना फैसला करेगा. आयोग ने जदयू प्रमुख शरद यादव को ईश्वरीय प्रसन्नता के नाम पर मतदाताओं को प्रभावित करने वाली उनकी कथित टिप्पणी के लिए आगाह किया और कहा कि उन्हें आदर्श आचार संहिता का पालन करना चाहिए क्योंकि वह एक वरिष्ठ नेता हैं.

 

पढ़ें : मोदी जी अपने नेताओं को डिजीटल दुनिया से अवगत तो कराएं: नीतीश

 

अपने आदेश में आयोग ने यादव की यह दलील खारिज कर दी कि बयान एक ‘भावनात्मक अपील’ के तहत दिया गया था. यादव ने सात अक्तूबर को नालंदा में एक चुनावी रैली में कथित तौर पर कहा था ‘जो अपने वादे पूरे नहीं करते… तब हिंदुओं को स्वर्ग में जगह नहीं मिल पाएगी और मुस्लिम भी जन्नत में अल्लाह से नहीं मिल पाएंगे.’ इसके बाद आयोग ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया था.

 

पढ़ें : मोदी जान की बाजी न लगाएं, भागवत के बयान का करें खंडन: मायावती

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Bihar polls: EC sends notice to Amit Shah, Lalu Prasad and Rahul Gandhi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017