पूर्व कप्तान बेदी के सवाल - पाकिस्तान के साथ क्रिकेट नहीं खेलने पर खत्म हो गया आतंकवाद

पूर्व कप्तान बेदी के सवाल - पाकिस्तान के साथ क्रिकेट नहीं खेलने पर खत्म हो गया आतंकवाद

भारत के पूर्व कप्तान बिशन सिंह बेदी का मानना है कि पाकिस्तान के साथ क्रिकेट संबंधों का राजनीतिकरण करके किसी को ‘देशभक्ति की परिभाषा संकुचित नहीं ’ करनी चाहिए.

By: | Updated: 30 Nov 2017 03:28 PM
bishan-singh-bedi-india-pakistan-cricket-ind-vs-pak-cricket-match-between-india-and-pakistan

नई दिल्ली: भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट सीरीज काफी सालों से नहीं खेला गया है. भारत की तरफ से साफ शब्दों में कह दिया गया है आतंकवाद और क्रिकेट एक साथ नहीं हो सकते. लेकिन भारत के पूर्व कप्तान बिशन सिंह बेदी का मानना है कि पाकिस्तान के साथ क्रिकेट संबंधों का राजनीतिकरण करके किसी को ‘देशभक्ति की परिभाषा संकुचित नहीं ’ करनी चाहिए.


भारत सरकार ने 2012 में भारत में हुई छोटी सीरीज के बाद से भारत-पाक क्रिकेट को मंजूरी नहीं दी है. इसके बाद से दोनों देशों का सामना सिर्फ आईसीसी टूर्नामेंटों में हुआ है.


बेदी ने यहां डीडीसीए के सालाना सम्मेलन से इतर बातचीत के दौरान कहा ,‘‘क्रिकेट का राजनीतिकरण क्यों. क्या क्रिकेट नहीं खेलकर आतंकवाद का सफाया हो गया. क्रिकेट एक दूसरे के करीब आने का जरिया है.’’


यह पूछने पर कि क्या मौजूदा परिदृश्य में देशभक्ति के मायने पाकिस्तान विरोधी होना ही हो गया है, बेदी ने कहा ,‘‘यह सही नहीं है. यदि मैं पाकिस्तान के साथ क्रिकेट सीरीज की मांग कर रहा हूं तो मैं कोई भारत विरोधी बात नहीं कर रहा. देशभक्ति की परिभाषा इतनी संकुचित नहीं की जानी चाहिए.’’


बीसीसीआई के धुर विरोधी रहे बेदी ने कहा कि भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड से नियंत्रण शब्द हटा देना चाहिये क्योंकि यह तानाशाही का सूचक है.


बेदी ने कहा ,‘‘भारतीय टीम जर्सी पर भारत का लोगो (तिरंगा) पहनती है, बीसीसीआई का लोगो नहीं. मेरी सोच एकदम स्पष्ट है. खिलाड़ी बीसीसीआई के लिए नहीं बल्कि भारत के लिए खेल रहे हैं. न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्रीय प्रतीक चिन्ह है. इंग्लैंड का अपना है. पाकिस्तान और बांग्लादेश भी अपना राष्ट्रीय प्रतीक चिन्ह पहनते हैं.’’


उन्होंने कहा ,‘‘ इसलिए नाम भारतीय क्रिकेट बोर्ड या क्रिकेट बोर्ड होना चाहिए.’’ बेदी ने श्रीलंका के खिलाफ मौजूदा सीरीज जैसी सीरीज के औचित्य पर भी सवाल उठाया. उन्होंने कहा ,‘‘इस सीरीज से हमें क्या हासिल हो रहा है. हम बार बार बस उनके खिलाफ खेल रहे हैं. उन्हें उनकी धरती पर हराने के बाद फिर यहां खेल रहे हैं. इसमें कोई मुकाबला ही नहीं है. कोई मायने नहीं है.’’


उन्होंने कहा ,‘‘यह सीरीज नहीं होती तो खिलाड़ी रणजी ट्रॉफी खेलते. साउथ अफ्रीका दौरे के लिये अभ्यास शिविर भी लग सकता था जिसके बारे में विराट कोहली बात कर रहा था.’’

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: bishan-singh-bedi-india-pakistan-cricket-ind-vs-pak-cricket-match-between-india-and-pakistan
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मेरे करियर का सबसे बेहतरीन साल है 2017: रोहित शर्मा